Adityapur : उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में नाव हादसे में डूबे लोगों का अबतक पता नहीं, शवों की तलाश में दूसरे दिन भी जुटी रही एनडीआरएफ की टीम व गोताखोर

राशिफल

आदित्यपुर : उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में हुए नाव हादसे में बाबाकुटी आश्रम निवासी दीपक मिश्रा उर्फ भोला के परिजनों का दूसरे दिन भी पता नही चल पाया है. एनडीआरएफ और स्थानीय गोताखोर रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटे हैं. वैसे दूसरे दिन गुरूवार को गाेताखोरों द्वारा दीपक मिश्रा के रिश्तेदार विकास कुमार के ढाई वर्षीय पुत्र का ही शव नदी से निकाला गया है. बताया जाता है, कि गंगा नदी में उफान और तेज बहाव के कारण रेस्क्यू ऑपरेशन में एनडीआरएफ को काफी दिक्कतें आ रही है. विदित रहे कि आरआइटी थाना क्षेत्र स्थित बाबाकुटी आश्रम निवासी भाजपा नेता दीपक मिश्रा उर्फ भोला अपनी पत्नी निशा व दो माह की पुत्री अपनी बहन खुशबू तिवारी, बहनोई राजेश तिवारी, एवं बहनोई की बहन बहनोई एवं उनके बच्चों संग कुल 12 सदस्यों के साथ विंध्याचाल गए थे. बीते बुधवार को नहाने के बाद नदी के दूसरे छोड़ पर आने के क्रम में नाव पलट गया. जिसमें दीपक मिश्रा की पत्नी निशा, दो माह की बच्ची, बहनोई राजेश तिवारी की पत्नी खुशबु समेंत 6 लोग नदी में डुब गए थे. स्थानीय जिला प्रशासन के प्रयास से लापता सारे लोगो की तलाश जारी है. सूचना मिलते ही परिजन गुरुवार को ही मिर्जापुर के लिए रवाना हो चुके हैं. (नीचे भी पढ़ें)

इधर सामाजिक संस्था जन कल्याण मोर्चा एवं आदित्यपुर अधिवक्ता संघ की ओर से विज्ञप्ति जारी कर नाव दुर्घटना के शिकार लोगों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट किया गया है. सरायकेला जिला बार एसोसिएशन के उपाध्यक्ष सह जनकल्याण मोर्चा के अध्यक्ष अधिवक्ता ओमप्रकाश एवं आदित्यपुर अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष नरेंद्र प्रसाद ने बताया कि इस घटना से  समूचा समाज शोकाकुल है. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे.

Must Read

Related Articles