बहरागोड़ा : 150 फीट पीसीसी सड़क का शिलान्यास कर विधायक ने की विश्वास यात्रा की शुरुआत

Advertisement
Advertisement
  • कुणाल षाड़ंगी ने ने किया बेंद गांव का दौरा, ग्रामीणों के साथ बैठक कर समस्याओं को जाना
  • खैरबनी में महिला फुटबॉल टीम को फुटबॉल भेंट किया

चाकुलिया : बहरागोड़ा के विधायक कुणाल षडंगी ने बेंद पंचायत के बेंद गांव का दौरा किया. इस क्रम में ग्रामीणों के साथ बैठक कर उनकी समस्याओं से रू-ब-रू हुए और 150 फीट पीसीसी सड़क निर्माण कार्य का शिलान्यास कर विश्वास यात्रा की शुरुआत की. इस यात्रा के क्रम में विधायक कुणाल षाड़गी ने बताया कि वे हर दिन बहरागोड़ा विधानसभा क्षेत्र की एक पंचायत में जायेंगे, जहां वे नई योजनाओं का शिलान्यास तथा पूर्ण हो चुकी योजनाओं का लोकार्पण करेंगे. साथ ही पिछले साढ़े चार सालों के दौरान हुए विकास कार्यों पर चर्चा करेंगे. इसके अलावा विधायक इस क्रम में हर गांव में ग्रामीणों के साथ मिलकर स्थानीय मुद्दों पर चर्चा करेंगे तथा उनको हो रही परेशानियों को दूर करने का प्रयास करेंगे.  विधायक ने बताया कि जनता के लिए हमलोग हमेशा काम करते आये हैं और आगे भी करते रहेंगे. इस यात्रा के दौरान मैं अपने द्वारा किये गये विकास कार्यों का लेखा-जोखा लेकर जनता के बीच जाने की कोशिश कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि बेंद पंचायत में अपने कार्यकाल में अब तक 32 योजनाएं दी है. इस विश्वास यात्रा के क्रम में बेंद पंचायत के बेंद गांव में 150 फीट पीसीसी, जमुनाभुला गांव में 150 फीट पीसीसी, कानिमहुली गांव के नुतनडीह टोला में महिला फुटबॉल टीम को फुटबॉल दिया, वहीं पूरनाडीह टोला में ग्रामीणों ने पीसीसी सड़क निर्माण करने की मांग की. मौके पर श्री षाड़ंगी ने दूरभाष पर बात कर 14 वी फंड से सड़क निर्माण कराने की बात कही. जगन्नाथपुर गांव में ग्रामीणों ने क्लब भवन निर्माण की मांग की. खैरबनी गांव में डीप बोरिंग करने की मांग की. विधायक ने कहा कि योजना दी गयी है, जल्द ही निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा. खैरबनी में फुटबॉल टीम को उन्होंने एक फुटबॉल दिया. इसके पश्चात विधायक ने टुगदा गांव में डीप बोरिंग निर्माण कार्य का शिलान्यास नारियल फोड़ कर किया. इस अवसर पर जिप सदस्य शिव चरण हांसदा, सुबेंदु महतो, साहेबराम मांडी, मनोरंजन महतो, मोहन मिश्रा, बबलू गिरि, मोहन सोरेन, संजय सिंह, बलराम महतो, गोपन परिहारी,अमले्ंदु साव, स्नेहांशु साव, पारसनाथ साव, पवित्र साव, गुरुचरण मांडी समेत अन्य उपस्थित थे.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement