spot_img

budhha-purnima-बुद्ध पूर्णिमा पर सारा देश आज याद कर रहा है भगवान गौतम बुद्ध को, राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने कैसे किया याद, जानिए जमशेदपुर में इसका क्या हुआ आयोजन

राशिफल

जमशेदपुर : आज बुद्ध पूर्णिमा है. इस मौके पर बोधि सोसाइटी जमशेदपुर द्वारा साकची स्थित बौद्ध मंदिर में विशेष प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया. इसके माध्यम से सभी को शांति का संदेश दिया गया. बता दें कि हर वर्ष इस खास दिन पर बोधि सोसाइटी द्वारा कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते है. इस दौरान प्रभात फेरी, रक्तदान शिविर और सम्मान समारोह का आयोजन होता है. आज भी सोसायटी की ओर से मानव कल्याण हेतु विशेष प्रार्थना के बाद रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया जिसमें बौद्ध धर्म अनुयायियों की ओर से रक्तदान किया जा रहा है. वही दूसरी ओर मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर सभी को बधाई और शुभकामनाएं दी है. (नीचे भी पढ़ें)

उन्होंने कहा कि महात्मा बुद्ध ने विश्व को सत्य, अहिंसा, शांति, दया, प्रेम और सहिष्णुता का संदेश दिया. हम सभी अपनी जिंदगी में इन संदेशों को अपनाएं. इसी में विश्व कल्याण सन्निहित है.गौरतलब है कि बौद्ध धर्म के अनुयायियों के लिए सबसे बड़ा उत्सव माना जाता है. इसके अलावा हिन्दू धर्म के लोगों के लिए भी ये पर्व काफी महत्वपूर्ण माना जाता है. बौद्ध धर्म के संस्थापक गौतम बुद्ध महानतम आध्यात्मिक गुरुओं में से एख थे. भगवान बुद्ध ने पूरी दुनिया को करुणा और सहिष्णुता के मार्ग के लिए प्रेरित किया था. उनके द्वारा दिए गए उपदेश, संदेश और विचार मनुष्यों को नैतिक मूल्यों के अलावा संतोष पर आधारिक जीवन जीने की दिशा में प्रयास करने के लिए प्रेरित करते है. (नीचे पढ़ें उपदेश)

भगवान बुद्ध के कुछ खास उपदेश-
भगवान बुद्ध के उपदेशों में सबसे पहले उन्होंने कहा कि मोक्ष के लिए खुद ही प्रयत्न करें, दूसरों पर निर्भर ना रहें. क्रोध में हजारों शब्दों को गलत बोलने से अच्छा, मौन वह एक शब्द है जो जीवन में शांति लाता है. आपके पास जो कुछ भी है उसे बढ़ा-चढ़ा कर मत बताइए और ना ही दूसरों से ईर्ष्या कीजिए. क्रोध को पाले रखना गर्म कोयले को किसी और पर फेंकने की नीयत से पकड़े रहने के सामान है, इसमें आप ही जलते है. जैसे मोमबत्ती बिना आग के नहीं जल सकती, मनुष्य भी आध्यात्मिक जीवन के बिना नहीं जी सकता. बुराई से बुराई कभई खत्म नहीं होती. घृणा को तो केवल प्रेम द्वारा ही समाप्त किया जा सकता है, यहा एक अटूट सत्या है. (नीचे पढ़ें राज्यपाल का ट्वीट)

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!