Chaibasa : कई दशक बाद जिला में विश्वस्तरीय मॉल बनने का सपना होने लगा सकार, चार करोड़ रुपये की लागत से होगा दो मंजिला मॉल का निर्माण

Advertisement
Advertisement

चाईबासा : सिंहभूम काल से चल रहे पश्चिमी सिंहभूम जिला में विश्व स्तरीय दो मंजिला मॉल बनाने का सपना आखिरकार अब पूरी होने जा रहा है. यह अब शहरवासियों के लिए सपना नहीं, बल्कि इसे धरातल पर उतारने के लिए जिले के ब्रिटिश काल में बने जिला परिषद कार्यालय चाईबासा में विश्वस्तरीय दो मंजिला मॉल बनाने का कार्य शुरू हो गया है.

Advertisement
Advertisement

पश्चिमी सिंहभूम जिला मुख्यालय चाईबासा में कई सालों से एक विश्वस्तरीय मॉल बनाने का सपना साकार होने लगा है. जिला परिषद कार्यालय के परिसर में ही खाली पड़ी जमीन पर 4 करोड़ रुपये की लागत से सभी तरह की सुविधाओं से लैस दो मंजिला मॉल बनाने का कार्य शुरू कर दिया गया है. इस मॉल में मार्केट के आलावा एक सिनेमा हॉल भी होगा. साथ ही बच्चों के खेलने के लिए पार्क और लोगों के बैठने की भी व्यवस्था होगी.

Advertisement
Advertisement

जिला परिषद मार्केट का पुराना भवन भी काफी जर्जर हो गया है, जो कभी भी गिर सकता है. इस भवन को भी गिरा कर नये सिरे से बनाया जायेगा, जो एनएच 75 से किनारे है. खाली पड़ी जमीन पर कार्य आरंभ हो चुका है, जिसे मार्च 2021 तक पूरा कर लेने का लक्ष्य है. उसके बाद एनएच 75 के किनारे वाले भवन को गिरा कर मॉल बनेगा.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement