Chakradhrpur : चक्रधरपुर में ओबीसी रेलवे कर्मचारी संघ ने मनायी भारतरत्न डॉ बीआर आंबेडकर की पुण्यतिथि

राशिफल

रामगोपाल जेना / चक्रधरपुर : भारतरत्न डॉ बीआर आंबेडकर ने अपने जीवन के अंतिम क्षणों में बौद्ध धर्म ग्रहण करके भारत के मूल वासियों को वैज्ञानिक एवं मानवतावादी धर्म ग्रहण करने को प्रेरित किया। उक्त बातें ओबीसी रेलवे कर्मचारी संघ दक्षिण पूर्व रेलवे के महासचिव कृष्ण मोहन प्रसाद ने मंगलवार को बाबा साहब के महापरिनिर्वाण दिवस के अवसर पर उपस्थित सदस्यों को संबोधित करते हुए कही। ओबीसी रेलवे कर्मचारी संघ दक्षिण पूर्व रेलवे चक्रधरपुर मंडल के तत्वाधान में ओबीसी मंडल कार्यालय में भारतरत्न डॉ बीआर आंबेडकर की पुण्यतिथि को महापरिनिर्वाण दिवस के रूप में मनाया गया। (नीचे भी पढ़ें)

इस अवसर पर संगठन के सदस्यों को संबोधित करते हुए कृष्ण मोहन प्रसाद ने कहा कि भारतीय संविधान के शिल्पकार एवं रचयिता भारतरत्न डॉक्टर बीआर अंबेडकर के बताए रास्ते पर चलकर ही विश्व कल्याण एवं मानव कल्याण का मार्ग प्रशस्त हो सकता है और हम भारतवासी धम्म को अपनाकर ही भारत को पुनः अध्यात्मिक विश्व गुरु बना सकते हैं। आज विश्व, धर्म युद्ध के कगार पर खड़ा है इस धर्म युद्ध को रोकने का एकमात्र रास्ता गौतम बुद्ध एवं बाबा साहब के द्वारा आत्मसात किया गया प्रकृति धम्म ही हो सकता है, जो जनकल्याण एवं विश्व कल्याण का मार्ग प्रशस्त कर सकता है। कार्यक्रम में मंडल सचिव बिहारी सिंह कार्यकारी अध्यक्ष भी के ठाकुर, निर्मल कुमार एवं मनोज कुमार , बानेश्वर महतो, राजेश कुमार महतो, नीलसन प्रधान, निर्मल महतो, महेंद्र एवं दीप्ति कुमारी ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

Must Read

Related Articles