चाकुलिया : दुकान को कब्जा मुक्त नहीं करा पाने से आहत ग्रामीण ने की आत्महत्या, परिजनों ने शव को दुकान के पास रखकर किया प्रदर्शन, दुकानदार दुकान बंद कर भागा

Advertisement
Advertisement

चाकुलिया : चाकुलिया थाना क्षेत्र के नामोपाड़ा निवासी पुर्णेन्दु शेखर बेरा (57) ने बीती रात मानसिक प्रताड़ना से त्रस्त होकर कीट नाशक पीकर आत्महत्या करने की कोशिश की. परिजनों ने उसे उपचार के लिए सीएचसी पहुंचाया. डॉ ने हालत बिगड़ता देख बेहतर इलाज के लिए उसे एमजीएम रेफर कर दिया. रात को ही एमजीएम ले जाने के क्रम में पूर्णेन्दु बेरा की मौत हो गई. मंगलवार की शाम परिजनों ने पुराना बाजार स्थित रेलवे फाटक के पास स्थित अपनी दुकान के सामने पुर्णेन्दु बेरा के शव को रखकर प्रदर्शन किया.

Advertisement
Advertisement

मृतक के पुत्र समीर बेरा ने कहा कि मो इस्लाम खान को 21 फरवरी 2020 तक दुकान लीज पर दी गयी थी. लीज की अवधि समाप्त होने पर दुकान खाली करने की बात कही, तो दुकानदार समय मांगा. दुकानदार को समय दिया गया. उसके बाद दुकान खाली करने की दोबारा बात कही गई, तो दुकानदार द्वारा अक्सर उसके पिता पूर्णेन्दु बेरा से झगड़ा होता था. दुकान खाली नहीं करा पाने से पिता अक्सर मानसिक रूप से त्रस्त थे और सोमवार की रात तनाव में आकर कीट नाशक दवा पीकर आत्महत्या कर ली है.

Advertisement
Advertisement

परिजनों ने थाना प्रभारी के नाम पत्र लिखा है. पत्र में लिखा गया है की घटना की जांच कर उचित कार्रवाई की जाए. दुकान को कब्जा मुक्त कराया जाये और परिवार को 5 लाख रुपये मुआवजा दिया जाये. इस दौरान मृतक की पत्नी झरना बेरा, बेटी मनीषा बेरा, ममता बेरा समेत अन्य परिजन उपस्थित थे. समाचार लिखे जाने तक पुलिस नहीं पहुंची है. परिजन शव दुकान के बाहर रखकर प्रदर्शन कर रहे हैं.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement