jamshedpur: अनाथ बच्चों का हक मार रहे पदाधिकारी, स्पेशल एडप्शन एजेंसी की परेशानियों को लेकर कुणाल षाड़ंगी ने उठायी आवाज

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : सोनारी स्थित संगम विहार में स्पेशल एडप्शन एजेंसी है, जहां अनाथ बच्चों को आश्रय दिया जाता है. इस संस्था में पूरे कोल्हान के अनाथ बच्चों को आश्रय दिया जाता है. यहां अधिकांशत: नवजात शिशु रहते हैं, जहां उनका लालन-पालन से लेकर भरण-पोषण तक किया जाता है. ऐसी संस्था को भी समय से अनुदान उपलब्ध कराने में संबंधित विभाग के पदाधिकारी नाकाम हैं. इसे लेकर पूर्व विधायक व भाजपा प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी ने जिले के उपायुक्त से लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय व समाज कल्याण विभाग की मंत्री जोबा माझी तक को ट्विट किया है. उन्होंने लिखा है कि यह अत्यंत ही चिंतनीय है कि कोविड-19 काल में निचले स्तर के कौन से पदाधिकारी हैं, जो निजी स्वार्थ के लिए इन अनाथ नवजात बच्चों का हक मार रहे हैं. साथ ही स्पेशल एडप्शन एजेंसी की संचालक को परेशान कर रहे हैं. श्री षाड़ंगी ने संबंधित विभाग व पदाधिकारियों से यथाशीघ्र जवाब तलब किया है. उल्लेखनीय है कि इस सेंटर में वर्तमान में 16 बच्चे रहते हैं, जिनमें एक साल से कम के 10 बच्चे शामिल हैं. बावजूद नवंबर 2019 से अब तक संस्था को अनुदान की राशि प्राप्त नहीं हुई है. संस्था के लोग किसी तरह से पैसों की व्यवस्था कर इसका संचालन कर रहे हैं.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement