16.3 C
Jamshedpur
शुक्रवार, दिसम्बर 4, 2020
होम खबर Jamshedpur-chhath : बारिश और ठंड पर भारी पड़ी आस्था, झमाझम बारिश के...

Jamshedpur-chhath : बारिश और ठंड पर भारी पड़ी आस्था, झमाझम बारिश के बीच व्रतियों ने भगवान भास्कर को दिया अर्घ्य

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : छठ महापर्व पर कोरोना संकट के अलावा मौसम की बेरुखी भी बौनी नजर आई। भोर से ही झमाझम बारिश होती रही, जिसने अच्छी-खासी ठंड का एहसास कराया, बावजूद इसपर आस्था भारी पड़ी। एक तो व्रती पानी में खड़े होकर सूर्य देव के उदय का इंतजार करती रहीं, ऊपर से बारिश। लेकिन सूर्य देव ने दर्शन नहीं दिए। अंततः व्रतियों ने विधि-विधान के साथ अर्घ्य अर्पित किए। इसके बाद 36 घंटे का निर्जला व्रत खोला। मौसम की बेरुखी के कारण नदी घाट व कृत्रिम तालाबों के पास व्रतियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। हालांकि अपने घर में व्यवस्था कर अर्घ्य अर्पित करने वालों को थोड़ी कम परेशानी हुई। (आगे की खबर नीचे पढ़ें)

Advertisement
Advertisement

उल्लेखनीय है कि छठ पर विभिन्न नदी घाटों समेत कृत्रिम घाटों पर व्रती और श्रद्धालु उमड़े। हालांकि पिछले वर्षों की अपेक्षा नदी घाटों पर भीड़ कम रही। इस दौरान लोगों सरकार की गाइडलाइन के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग समेत कोविड नियमों का पालन करते नजर आए। इस दौरान पुलिस-प्रशासन भी मुस्तैद नजर आया। नदी घाटों पर व्रतियों को ही नदी में जाने की इजाजत थी। दूसरी ओर विभिन्न हिस्सों में अनेक व्रतियों ने अपने घर की छतों पर ही कृत्रिम व्यवस्था कर भगवान भास्कर को अर्घ्य अर्पित किया। इसके अलावा विभिन्न क्षेत्रों में बने कृत्रिम तालाबों के पास भी व्रतियों की भीड़ रही। नदी घाटों पर तो विभिन्न संगठनों के द्वारा व्रतियों व श्रद्धालुओं की सुविधा के लिये व्यवस्था की गई थी। साउंड सिस्टम के माध्यम से कोविड नियमों का पालन करने की अपील की जा रही थी। साथ ही कई संगठनों द्वारा मास्क वितरण भी किया गया।

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

Most Popular

jamshedpur-accident-गोलमुरी में व्यापारी जवाहर विग की तेज रफ्तार जगुआर गाड़ी ने बाइक सवार को मारी टक्कर, बाइक सवार को 100 मीटर तक सड़क पर...

जमशेदपुर : जमशेदपुर में एक बार फिर तेज रफ्तार का कहर देखने को मिला है. इस बार घटना गोलमुरी थाना क्षेत्र में हुई है....

Horoscope : आज का राशिफल, शुक्रवार, 04 दिसंबर 2020 : जानें आज कैसा रहेगा आपका दिन

मेष : ख़ुद को परिष्कृत करने की कोशिश कई तरीक़ों से अपना असर दिखाएगी- आप ख़ुद को बेहतर और आत्मविश्वास से भरा हुआ महसूस...

jamshedpur-corona-update-जमशेदपुर में कोरोना के 22 नए मरीज आये, एक्टिव केस की संख्या घटा

जमशेदपुर : जमशेदपुर में गुरुवार को 3008 कोरोना संदिग्ध मरीजों के सैंपल की जांच हुई जिसमें 22 नए मरीज मिले हैं. इसी के साथ...

jamshedpur-women-missing-टाटा-छपरा ट्रेन से दो बच्चों के साथ गायब हो गई महिला, स्टेशन से पति के साथ ट्रेन पर चढ़ी, कांड्रा स्टेशन के पास पति...

जमशेदपुर : जमशेदपुर के टाटानगर रेलवे थाना में गुरुवार की रात उस समय हड़कंप मच गया जब एक व्यक्ति रोते बिलखते रेल थाना पहुंचा...

Jamshedpur-chhath : बारिश और ठंड पर भारी पड़ी आस्था, झमाझम बारिश के बीच व्रतियों ने भगवान भास्कर को दिया अर्घ्य

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : छठ महापर्व पर कोरोना संकट के अलावा मौसम की बेरुखी भी बौनी नजर आई। भोर से ही झमाझम बारिश होती रही, जिसने अच्छी-खासी ठंड का एहसास कराया, बावजूद इसपर आस्था भारी पड़ी। एक तो व्रती पानी में खड़े होकर सूर्य देव के उदय का इंतजार करती रहीं, ऊपर से बारिश। लेकिन सूर्य देव ने दर्शन नहीं दिए। अंततः व्रतियों ने विधि-विधान के साथ अर्घ्य अर्पित किए। इसके बाद 36 घंटे का निर्जला व्रत खोला। मौसम की बेरुखी के कारण नदी घाट व कृत्रिम तालाबों के पास व्रतियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। हालांकि अपने घर में व्यवस्था कर अर्घ्य अर्पित करने वालों को थोड़ी कम परेशानी हुई। (आगे की खबर नीचे पढ़ें)

Advertisement
Advertisement

उल्लेखनीय है कि छठ पर विभिन्न नदी घाटों समेत कृत्रिम घाटों पर व्रती और श्रद्धालु उमड़े। हालांकि पिछले वर्षों की अपेक्षा नदी घाटों पर भीड़ कम रही। इस दौरान लोगों सरकार की गाइडलाइन के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग समेत कोविड नियमों का पालन करते नजर आए। इस दौरान पुलिस-प्रशासन भी मुस्तैद नजर आया। नदी घाटों पर व्रतियों को ही नदी में जाने की इजाजत थी। दूसरी ओर विभिन्न हिस्सों में अनेक व्रतियों ने अपने घर की छतों पर ही कृत्रिम व्यवस्था कर भगवान भास्कर को अर्घ्य अर्पित किया। इसके अलावा विभिन्न क्षेत्रों में बने कृत्रिम तालाबों के पास भी व्रतियों की भीड़ रही। नदी घाटों पर तो विभिन्न संगठनों के द्वारा व्रतियों व श्रद्धालुओं की सुविधा के लिये व्यवस्था की गई थी। साउंड सिस्टम के माध्यम से कोविड नियमों का पालन करने की अपील की जा रही थी। साथ ही कई संगठनों द्वारा मास्क वितरण भी किया गया।

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

Most Popular

jamshedpur-accident-गोलमुरी में व्यापारी जवाहर विग की तेज रफ्तार जगुआर गाड़ी ने बाइक सवार को मारी टक्कर, बाइक सवार को 100 मीटर तक सड़क पर...

जमशेदपुर : जमशेदपुर में एक बार फिर तेज रफ्तार का कहर देखने को मिला है. इस बार घटना गोलमुरी थाना क्षेत्र में हुई है....

Horoscope : आज का राशिफल, शुक्रवार, 04 दिसंबर 2020 : जानें आज कैसा रहेगा आपका दिन

मेष : ख़ुद को परिष्कृत करने की कोशिश कई तरीक़ों से अपना असर दिखाएगी- आप ख़ुद को बेहतर और आत्मविश्वास से भरा हुआ महसूस...

jamshedpur-corona-update-जमशेदपुर में कोरोना के 22 नए मरीज आये, एक्टिव केस की संख्या घटा

जमशेदपुर : जमशेदपुर में गुरुवार को 3008 कोरोना संदिग्ध मरीजों के सैंपल की जांच हुई जिसमें 22 नए मरीज मिले हैं. इसी के साथ...

jamshedpur-women-missing-टाटा-छपरा ट्रेन से दो बच्चों के साथ गायब हो गई महिला, स्टेशन से पति के साथ ट्रेन पर चढ़ी, कांड्रा स्टेशन के पास पति...

जमशेदपुर : जमशेदपुर के टाटानगर रेलवे थाना में गुरुवार की रात उस समय हड़कंप मच गया जब एक व्यक्ति रोते बिलखते रेल थाना पहुंचा...

Jamshedpur-chhath : बारिश और ठंड पर भारी पड़ी आस्था, झमाझम बारिश के बीच व्रतियों ने भगवान भास्कर को दिया अर्घ्य

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : छठ महापर्व पर कोरोना संकट के अलावा मौसम की बेरुखी भी बौनी नजर आई। भोर से ही झमाझम बारिश होती रही, जिसने अच्छी-खासी ठंड का एहसास कराया, बावजूद इसपर आस्था भारी पड़ी। एक तो व्रती पानी में खड़े होकर सूर्य देव के उदय का इंतजार करती रहीं, ऊपर से बारिश। लेकिन सूर्य देव ने दर्शन नहीं दिए। अंततः व्रतियों ने विधि-विधान के साथ अर्घ्य अर्पित किए। इसके बाद 36 घंटे का निर्जला व्रत खोला। मौसम की बेरुखी के कारण नदी घाट व कृत्रिम तालाबों के पास व्रतियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। हालांकि अपने घर में व्यवस्था कर अर्घ्य अर्पित करने वालों को थोड़ी कम परेशानी हुई। (आगे की खबर नीचे पढ़ें)

Advertisement
Advertisement

उल्लेखनीय है कि छठ पर विभिन्न नदी घाटों समेत कृत्रिम घाटों पर व्रती और श्रद्धालु उमड़े। हालांकि पिछले वर्षों की अपेक्षा नदी घाटों पर भीड़ कम रही। इस दौरान लोगों सरकार की गाइडलाइन के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग समेत कोविड नियमों का पालन करते नजर आए। इस दौरान पुलिस-प्रशासन भी मुस्तैद नजर आया। नदी घाटों पर व्रतियों को ही नदी में जाने की इजाजत थी। दूसरी ओर विभिन्न हिस्सों में अनेक व्रतियों ने अपने घर की छतों पर ही कृत्रिम व्यवस्था कर भगवान भास्कर को अर्घ्य अर्पित किया। इसके अलावा विभिन्न क्षेत्रों में बने कृत्रिम तालाबों के पास भी व्रतियों की भीड़ रही। नदी घाटों पर तो विभिन्न संगठनों के द्वारा व्रतियों व श्रद्धालुओं की सुविधा के लिये व्यवस्था की गई थी। साउंड सिस्टम के माध्यम से कोविड नियमों का पालन करने की अपील की जा रही थी। साथ ही कई संगठनों द्वारा मास्क वितरण भी किया गया।

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

Most Popular

jamshedpur-accident-गोलमुरी में व्यापारी जवाहर विग की तेज रफ्तार जगुआर गाड़ी ने बाइक सवार को मारी टक्कर, बाइक सवार को 100 मीटर तक सड़क पर...

जमशेदपुर : जमशेदपुर में एक बार फिर तेज रफ्तार का कहर देखने को मिला है. इस बार घटना गोलमुरी थाना क्षेत्र में हुई है....

Horoscope : आज का राशिफल, शुक्रवार, 04 दिसंबर 2020 : जानें आज कैसा रहेगा आपका दिन

मेष : ख़ुद को परिष्कृत करने की कोशिश कई तरीक़ों से अपना असर दिखाएगी- आप ख़ुद को बेहतर और आत्मविश्वास से भरा हुआ महसूस...

jamshedpur-corona-update-जमशेदपुर में कोरोना के 22 नए मरीज आये, एक्टिव केस की संख्या घटा

जमशेदपुर : जमशेदपुर में गुरुवार को 3008 कोरोना संदिग्ध मरीजों के सैंपल की जांच हुई जिसमें 22 नए मरीज मिले हैं. इसी के साथ...

jamshedpur-women-missing-टाटा-छपरा ट्रेन से दो बच्चों के साथ गायब हो गई महिला, स्टेशन से पति के साथ ट्रेन पर चढ़ी, कांड्रा स्टेशन के पास पति...

जमशेदपुर : जमशेदपुर के टाटानगर रेलवे थाना में गुरुवार की रात उस समय हड़कंप मच गया जब एक व्यक्ति रोते बिलखते रेल थाना पहुंचा...
Don`t copy text!