spot_img
शनिवार, अप्रैल 17, 2021
More
    spot_imgspot_img
    spot_img

    jamshedpur:जमशेदपुर को-आपरेटिव कॉलेज में धूम-धाम से हो रही सरस्वती पूजा

    Advertisement
    Advertisement

    Advertisement
    Advertisement

    जमशेदपुर : साकची स्थित जमशेदपुर को-आपरेटिव कॉलेज में छात्रों के सहयोग से श्रद्धा भाव से सरस्वती पूजा की जा रही है.इसे लेकर विद्यार्थियों में खासी उत्सुकता दिखी हैं, खास कर लड़कियों में. प्रत्येक वर्ष कॉलेज परिसर में सरस्वती पूजा आयोजित की जाती हैं. कॉलेज में हर वर्ष की तरह इस बार भी प्रिसिंपल चैम्बर के बाहर मां सरस्वती की प्रतिमा स्थापित की गयी है. यहां कॉलेज के छात्रों से चंदा इकट्ठा कर सरस्वती पूजा का पूरा आयोजन किया जाता है. कोरोना काल को देखते हुए इस वर्ष उतने विद्यार्थियों को आमंत्रित नहीं किया गया. लगभग 50 विद्यार्थियों को ही आमंत्रित किया गया. उनके बीच सोशल डिस्टेंसिग का विशेष कर ध्यान रखा जा रहा है.

    Advertisement

    यहां भव्य पंडाल न बनाकर कॉलेज परिसर में ही मां सरस्वती की छोटी प्रतिमा स्थापित की गयी है. जो पैसा उनके यूनियन द्वारा जमा किया जाता है उसे भव्य पंडाल में खर्च न करके उस पैसे का भोग तैयार कर विद्यार्थियों व शिक्षको के बीच वितरण किया जाता है.-अभिषेक झा

    Advertisement

    जमशेदपुर को- आपरेटिव कॉलेज में बहुत भव्य रूप से सरस्वती पूजा मनाया जा रहा है हैं. छात्र संगठन एकजुट होकर सरस्वती पूजा मना रहे हैं. सुबह में पूजा हुई और शाम में भोग वितरण किया जायेगा. तीन दिन के इस कार्यक्रम के बाद सरस्वती माता का विसर्जन कपाली घाट में किया जायेगा. -दुर्गेश

    Advertisement

    दूसरी यूनिर्वसिटी को अगर देखा जाए तो बहुत कम ही ऐसे कॉलेज होगे जहां सरस्वती पूजा का इतना भव्य तरीके से आयोजन किया जाता है. कोल्हान विश्वविद्यालय के के परिसर में ही इन कार्यक्रमों को बढ़ावा दिया जाता हैं. इस तरह के कार्यक्रमों के कॉलेज में होने से विद्यार्थियों एकजुट होकर इन कार्यक्रमों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते हैं. -हमराज

    Advertisement

    कोरोना को देखते हुए इस बार उतने विद्यार्थियों को नहीं बुलाया गया है, सिर्फ उन विद्यार्थियो को ही बुलाया जाएगा जो फाइनल इयर के हैं. सरस्वती पूजा में हम लड़कियों में साड़ी पहनने का बहुत क्रेज है. हम लड़किया एक हफ्ते पहले से ही विचार करने लगती हैं साड़ियों के रंग कैसे होगे. -कमलप्रीत कौर

    Advertisement

    इस कॉलेज में हमारा यह पहला पर्व हैं लॉकडाउन के बाद. सरस्वती पूजा को लेकर हम सारी लड़किया बहुत खुश हैं, खासकर कपड़े को लेकर. मैं पूर्व में केपीएस की छात्रा रही हूं जहां द्वारा विशेष तौर पर पुष्पांजलि देने के लिए स्कूल में आमंत्रित किया जाता था. इस बार कॉलेज का हिस्सा बनने का मौका मुझे मिला है.-स्वाति कुमारी

    Advertisement

    कोरोना को देखते हुए कॉलेज में सोशल डिस्टन्सिंग का विशेष कर ध्यान रखा गया है. मास्क हर विद्यार्थियों के पास होनी चाहिए और विशेष कर भोग कॉलेज कैंम्पस में बिठाकर नहीं खिलाया जाएगा. इस बार पैकेट बनाकर सभी उपस्थित विद्यार्थियों एवं शिक्षकों को दिया जाएगा. -सतनाम सिंह

    Advertisement

    इस कार्यक्रम में मुख्य तौर पर कॉलेज के यूनियन अध्यक्ष अरविंद पंडित, कॉलेज की प्राचार्या वींके सिंह, हिन्दी विभाग अध्यक्ष कैप्टन विजय पीयूष, परीक्षा नियंत्रक डॉ भूषण सिंह की देख-रेख में कार्यक्रम का आयोजन किया गया है.

    Advertisement

    Advertisement
    Advertisement

    Leave a Reply

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    spot_imgspot_img

    Must Read

    Related Articles

    Don`t copy text!