spot_img

jamshedpur-court-decision-in-3-case-1-यौन शोषण के आरोपी को न्यायालय ने किया बरी, 2- दहेज प्रताड़ना के आरोपी को तीन साल की सजा,3- यौन शोषण के आरोपी को आजीवन कारावास व 50 हजार जुर्माना

राशिफल


जमशेदपुरः जमशेदपुर न्यायालय ने शादी का झांसा देकर यौन शोषण करने के आरोपी वृंदावन पात्रो उर्फ बुतरू को बरी कर दिया है. एडीजे- 4 राजेंद्र कुमार सिन्हा ने मामले की सुनवाई करते हुए आरोपी को बरी कर दिया है. इस मामले में दोनों पक्ष से कुल सात लोगों की गवाही हुई थी. आरोपी के पक्ष से अधिवक्ता एसके मिश्रा ने पैरवी की. न्यायलय ने कहा कि शक के आधार पर किसी को भी आरोपी नहीं बनाया जा सकता. (नीचे भी पढे)

न्यायलय ने सुप्रीम कोर्ट के भी कई फैसलों को ध्यान में रखते हुए फैसला सुनाया. बता दे कि साल 2015 में पीड़िता ने वृंदावन पात्रो पर आरोप लगाया था कि वृंदावन ने शादी का झांसा देकर तीन साल तक उसके साथ यौन शोषण किया. बाद में उसके घर वालों ने दुसरी युवती के साथ उसकी शादी करने की बात कही. इसी बात को लेकर जब उसने वृंदावन को शादी के लिए दबाव बनाया तो उसके शादी से इंकार कर दिया.

दहेज प्रताड़ना के आरोपी को तीन साल की सजा
बालीगुमा निवासी निशा मिश्रा को दहेज के लिए प्रताड़ित करने के मामले में न्यायलय ने आरोपी पति राकेश मिश्रा और उसकी जेठानी किरण मिश्रा को दोषी ठहराते हुए तीन साल की सजा सुनाई है. मामला साल 2013 का है. बिष्टुपुर थाना में पीड़िता निशा मिश्रा ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी कि ससुराल वाले उसे दहेज के लिए प्रताड़ित करते है वहीं पति का जेठानी के साथ अवैध संबंध है. इस मामले में सीजेएम निशांत कुमार ने मामले की सुनवाई करते हुए सजा सुनाई है. अभियोजन पक्ष की ओर से अधिवक्ता शंकर सिंह और पूर्व लोक अभियोजक जयप्रकाश ने पैरवी की.

नाबालिग के यौन शोषण करने के आरोपी को आजीवन कारावास की सजा व 50 हजार जुर्माना
बिरसानगर की नाबालिग के साथ एमजीएम थाना क्षेत्र के शिलपहाड़ी पर यौन शोषण करने वाले रतन सिंह को न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. इसके अलावा न्यायालय ने 50 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया है. जुर्माना नहीं देने पर अतिरिक्त सजा का भी प्रावधान है. मामले की सुनवाई एडीजे 5 संजय कुमार उपाध्याय ने की. इसके पहले बीते मंगलवार को न्यायलय ने रतन को दोषी करार दिया था. बता दे कि 20 मई 2019 को बिरसानगर जोन नंबर दो की रहने वाली है 10वीं कक्षा की छात्रा का शव एमजीएम थाना क्षेत्र के शिलपहाड़ी में के जंगलों में मिला था. वह चार साल से शिलपहाड़ी में अपने रिश्तेदार के घर रहकर पढ़ाई कर रही थी.(नीचे भी पढ़े)

घटना की रात नाबालिग के फुफेरे भाईयों का नामकरण था. शाम सात बजे से पार्टी शुरु हुई थी. पार्टी खत्म होने के बाद रात को सभी ने उसे ढूंढा पर वो नहीं मिली. सुबह किसी ने आकर बताया कि उसका शव मिला है. नाबालिग की छोटी बहन ने पुलिस को बताया था कि उसकी बहन उसे शौच के बहाने बाहर लेकर गई. वहां पड़ोस के दुकान में रहने वाला एक लड़का रतन सिंह पहले से ही मौजूद था. दीदी उसके साथ बात करने लगी. उसने घर चलने को कहा तो दीदी ने मना कर दिया. वह घर वापस चली आई. घर आने पर घरवालों ने दीदी के बारे में पुछा तो उसने बता दिया की वह किसी पड़ोस वाले दूकान के लड़के के साथ है. उसके बाद सभी दीदी की खोजबीन करने लगे पर वह नहीं मिली. दुसरे दिन सुबह उसका शव बरामद किया गया था. बाद में पुलिस ने रतन को गिरफ्तार कर लिया था.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
[adsforwp id="129451"]

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!