jamshedpur-court-जमशेदपुर कोर्ट में दो दुष्कर्मियों के खिलाफ फैसला, order 1-परसुडीह में सामूहिक दुष्कर्म में चार आरोपी दोषी करार, order 2-सुंदरनगर में नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म के दो आरोपी दोषी करार

राशिफल

परसुडीह : सामूहिक दुष्कर्म में चार आरोपी दोषी करार- जमशेदपुर  के परसुडीह थाना क्षेत्र की रहने वाली युवती को शादी करने का झांसा देकर परसुडीह के हलुदबनी चौक पर बुलाने और दोस्तों के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने के मामले में जमशेदपुर कोर्ट के एडीजे – चार राजेंद्र कुमार की अदालत ने सोमवार को चार आरोपियों को दोषी करार दिया है. आरोपियों में परसुडीह  का करने वाला लालटू भुमिज, सरोज कर्मकार उर्फ सूरज कर्मकार उर्फ अर्जुन, सूरज पात्रो और सत्यनारायण पात्रो उर्फ फेंटा शामिल है. मामले का एक अन्य आरोपी रासल कुजूर को कोर्ट ने साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया है. इस मामले में कोर्ट सजा के बिंदु पर 30  नवंबर को सुनवायी करेगी. अपर लोक अभियोजक राजीव कुमार ने बताया कि मामले में कुल 5 लोगों की गवाही हुई है. मोबाइल पर कॉल कर सूरज ने युवती से की दोस्ती, 29 जुलाई 2021 की शाम शादी करने की बात बोलकर साथ ले गया था. घटना के पूर्व अर्जुन ने युवती की मोबाइल पर कॉल किया था. दोनों ने एक दूसरे नाम पूछा और शादी का झांसा देकर अर्जुन ने युवती से बातचीत करता रहा. 29 जुलाई की शाम 7 बजे फोन कर उसे कहा कि तुम शादी के लिये तैयार रहो घर पर तुम्हे लेने के लिये आ रहे हैं. मोटरसाइकिल पर बैठाकर घाघीडीह जेल के पास पहुंचा. दोस्तों को बुलाया अर्जुन के दोस्त मोटरसाइकिल से घाघीडीह जेल के पास पहुंचे. युवती साथ लेकर सभी कालियाडीह गौशाला के पीछे ले गया और सभी ने बारी बारी से युवती के साथ दुष्कर्म किया था. (नीचे भी पढें)

सुंदरनगर : नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म के दो आरोपी दोषी करार
जमशेदपुर के सुंदरनगर थाना क्षेत्र में वर्ष 2016 में नाबालिग के साथ हुई सामुहिक दुष्कर्म के मामले में जमशेदपुर कोर्ट में एडीजे -1 संजय कुमार उपाध्याय की अदालत ने सुनवाई करते हुए सोमवार को आरोपी गणेश सिंह एवं पुचा दास दोनों खुकड़ाडीह सुंदरनगर को दोषी करार दिया हैं. इस संबंध में पीड़िता के बयान पर गणेश, पुचा और एक अन्य को आरोपी बनाते हुए सुंदरनगर थाने में एफआईआर दर्ज किया गया था. घटना 24 अगस्त 2016 की हैं. अपर लोक अभियोजक राजीव कुमार ने बताया कि अदालत ने इन दोनों आरोपी को भादवि की धारा 376 (2) (एन) एवं पोस्को की धारा 6 के तहत दोषी पाया हैं.

Must Read

Related Articles