spot_imgspot_img

Global Statistics

All countries
267,884,555
Confirmed
Updated on December 9, 2021 1:56 AM
All countries
239,418,402
Recovered
Updated on December 9, 2021 1:56 AM
All countries
5,292,992
Deaths
Updated on December 9, 2021 1:56 AM
spot_img

jamshedpur-durga-puja-controversey-मंत्री की “माफी” बेकार गया, जमशेदपुर की दुर्गा पूजा कमिटियां जिद पर अड़ी, पहले जमशेदपुर के डीसी मांगे माफी, नही तो पूरे जमशेदपुर में नही होगा महादशमी के दिन विसर्जन-video-मंदिरों व पूजा पर “प्रशासनिक हमला” बर्दाश्त नही होगा-video

Advertisement

जमशेदपुर : जमशेदपुर के काशीडीह दुर्गा मंदिर में महाअष्टमी के दिन जमशेदपुर के डीसी सूरज कुमार के साथ हुए विवाद और दुर्गा पूजा के दौरान पूजा समितियों के साथ मंदिरों पर बनाई गई दबिश का मामला अब और गरमा गया है. महानवमी की शाम काशीडीह दुर्गा मंदिर परिसर में जमशेदपुर के तमाम दुर्गा पूजा कमिटी के अलावा आदित्यपुर के प्रसिद्ध मलखान सिंह पूजा पंडाल के संचालक और केंद्रीय दुर्गा पूजा समिति के लोगों की अहम बैठक हुई. (नीचे पूरी खबर पढ़े)

Advertisement
Advertisement

इस बैठक में सभी लोगों ने यह तय किया कि जब तक जमशेदपुर के डीसी सूरज कुमार मां दुर्गा के अनुयायियों और मंदिर संचालकों से सार्वजनिक तौर पर माफी नहीं मांगते हैं तब तक वे लोग विसर्जन नहीं करेंगे. इस दौरान पूजा कमेटियों के लोगों ने जिला प्रशासन और झारखंड सरकार के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद की. बताया जाता है कि महाअष्टमी के दिन ही कदमा के रांकिणी मंदिर और सिदगोड़ा सिनेमा मैदान दुर्गा पूजा कमेटी पर भी जिला प्रशासन ने जबरिया कार्रवाई की थी जिसके खिलाफ पूजा समितियों ने अपना विरोध दर्ज कराया है. (नीचे पूरी खबर पढ़े)

Advertisement

इन लोगों का कहना है कि जिला प्रशासन राज्य सरकार के इशारे पर यह सारा काम कर रहा है और जमशेदपुर के डीसी सूरज कुमार हिंदुत्व के मंदिरों पर हमला कर रहे हैं, जिसको किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और किसी भी हद तक वे लोग आंदोलन करेंगे. इस दौरान हिंदूवादी संगठनों के लोगों ने भी हिस्सा लिया. इस दौरान सभी लोगों ने एकजुट होकर तय किया है कि वे लोग महादशमी के दिन तब तक विसर्जन नहीं करेंगे जब तक जमशेदपुर के डीसी माफी नहीं मांगते हैं. (नीचे पूरी खबर पढ़े)

Advertisement

इन लोगों ने झारखंड सरकार के मंत्री बन्ना गुप्ता द्वारा माफी मांगे जाने को अपर्याप्त बताया और कहा कि यह राजनीति का विषय नहीं है बल्कि यह हिंदू धर्म की आस्था का विषय है जिस पर एक जिम्मेदार अधिकारी ने चोट करने का प्रयास किया है और वही अधिकारी माफी मांगेगा तो विसर्जन होगा नहीं तो विसर्जन नहीं होगा. इसके लिए भले जो हो जाए. फिलहाल यह मामला गर्म आता नजर आ रहा है. (नीचे पूरी खबर पढ़े)

Advertisement

दिन में हुई थी बैठक (नीचे पूरी खबर पढ़े)

Advertisement

इस मामले के पहले सुबह में सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्यपुर स्थित जयराम यूथ स्पोर्टिंग क्लब के संरक्षक अरविंद सिंह उर्फ मलखान सिंह, भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष बिनोद सिंह, पूर्व जिला अध्यक्ष राजकुमार श्रीवास्तव, भाजपा नेता भरत सिंह, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के नगर कार्यवाह रवींद्र कुमार, आरएसएस के संपर्क पदाधिकारी अरविंद कुमार, बास्केटबॉल के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी जेपी सिंह, कांग्रेसी नेता जगदीश नारायण चौबे भी महानवमी के मौके पर अभय सिंह से मिलने उनके काशीडीह स्थित कार्यालय पहुंचे और आगे की रणनीति बनायी.

Advertisement
Advertisement
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM
IMG-20200108-WA0007-808x566
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM (1)
WhatsApp_Image_2020-03-18_at_12.03.14_PM_1024x512
previous arrow
next arrow

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!