spot_img

jamshedpur-durga-puja-issue-मंत्री बन्ना गुप्ता के ”माफी” से नहीं बनेगी बात, काशीडीह दुर्गा मंदिर और रंकिणी मंदिर में प्रशासन की ”दबिश” का मुद्दा गर्माया, गुरुवार की शाम 5 बजे दुर्गा पूजा कमेटियों और मंदिरों के लोगों की बुलायी गयी निर्णायक बैठक, मलखान सिंह, भाजपा के नेताओं और आरएसएस के पदाधिकारी भी अभय सिंह के घर जुटे, लिया जा सकता है बड़ा फैसला-जमशेदपुर डीसी माफी मांगे या फिर रुकेगा जमशेदपुर-आदित्यपुर का विसर्जन

राशिफल

काशीडीह दुर्गा पूजा कमेटी के संरक्षक अभय सिंह के साथ जयराम यूथ स्पोर्टिंग क्लब के संरक्षक अरविंद सिंह उर्फ मलखान सिंह, भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष राजकुमार श्रीवास्तव, कांग्रेसी नेता जगदीश नारायण चौबे मीटिंग करते हुए.

जमशेदपुर : जमशेदपुर के काशीडीह दुर्गा मंदिर में घुसकर डीसी सूरज कुमार द्वारा प्रसाद और भोग के वितरण को रोकने का मामला मंत्री बन्ना गुप्ता के माफी मांगने के बाद भी शांत नहीं होने वाला है. यह मामला गर्माता नजर आ रहा है. इसकी आंच अब सीधे तौर पर महादशमी को लेकर होने वाले विसर्जन पर पड़ने जा रहा है. जमशेदपुर शहर काफी संवेदनशील माना जाता है. ऐसे में डीसी सूरज कुमार और एसडीओ श्री मीणा द्वारा मंदिरों में जाकर दबिश देने का मामला तूल पकड़ लिया है. हालांकि, राज्य के स्वास्थ्य एवं आपदा मंत्री बन्ना गुप्ता ने पूजा कमेटियों से माफी मांगी है और प्रशासन को भी संवेदनशील रवैया अपनाने का निर्देश दिया है. लेकिन इससे भी अब बात बनती नजर नहीं आ रहा है. इस मामले के होने के बाद सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्यपुर स्थित जयराम यूथ स्पोर्टिंग क्लब के संरक्षक अरविंद सिंह उर्फ मलखान सिंह, भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष बिनोद सिंह, पूर्व जिला अध्यक्ष राजकुमार श्रीवास्तव, भाजपा नेता भरत सिंह, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के नगर कार्यवाह रवींद्र कुमार, आरएसएस के संपर्क पदाधिकारी अरविंद कुमार, बास्केटबॉल के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी जेपी सिंह, कांग्रेसी नेता जगदीश नारायण चौबे भी महानवमी के मौके पर अभय सिंह से मिलने उनके काशीडीह स्थित कार्यालय पहुंचे और आगे की रणनीति बनायी.

भाजपा नेता अभय सिंह के साथ रायशुमारी करते आरएसएस, भाजपा, कांग्रेस समेत अन्य दलों के नेता.

पूजा कमेटियों की बैठक काशीडीह दुर्गा पूजा मंदिर में गुरुवार की शाम 5 बजे बुला दी गयी है. इसमें पूजा कमेटी के सारे लोगों के अलावा मंदिरों के संचालन समितियों को भी बुलाया गया है. इसमें आगे की रणनीति तय कर दी जायेगी. वैसे मंत्री के बयान से बात बनती नजर नहीं आ रही है. दुर्गा पूजा के दौरान मंदिर में प्रशासन की दबिश को लेकर हिंदूवादी संगठन के लोग भी एकजुट हो चुके है और अब साफ तौर पर यह तय हो गया है कि या तो जमशेदपुर के डीसी अपने कृत्य के लिए माफी मांगे नहीं तो महादशमी के दिन सारे विसर्जन को रोक दिया जायेगा. ऐसा फैसला लेने को लेकर लगभग तैयारी की जा चुकी है. खुद अभय सिंह ने कहा है कि मंत्री राजनीति ना करें. सरकार के नुमाइंदे को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए क्योंकि बुधवार को महाअष्टमी के दिन मंदिरों में प्रशासन का घुस जाना यह कोई सामान्य बात नहीं है. इसको लेकर सारे लोग बैठकर तय करेंगे कि क्या करना है. हालात की समीक्षा होगी, उसके बाद कोई फैसला लिया जायेगा.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!