Jamshedpur : गोविंदपुर जलापूर्ति परियोजना पर ग्रहण, फंड के अभाव में संवेदक ने रोका कार्य

Advertisement
Advertisement

Jamshedpur : Govindpur Water Supply Project : झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सत्ता संभालते ही जमशेदपुर को एक बड़ी सौगात दी थी. उस सौगात का नाम था छोटा गोविंदपुर जलापूर्ति परियोजना, जिसे नीर निर्मल परियोजना के तहत संचालित किया जाना था. योजना धरातल पर उतरने से पहले काफी विवादों में रहा. वैसे रघुवर दास आज झारखंड की सत्ता में नहीं हैं, लेकिन उनके 5 साल सत्ता पर रहते हुए यह योजना धरातल पर नहीं उतर सकी.

Advertisement
Advertisement

आपको बता दें इस परियोजना से 21 पंचायत के तीन से चार लाख की आबादी को सीधा लाभ होना था. लेकिन विश्व बैंक के सहयोग से बनने वाली इस परियोजना पर एक बार फिर से ग्रहण लग गया है. जहां क्षेत्र की जनता बूंद-बूंद पानी को तरस रही है. परियोजना का काम कर रहे संवेदक आइएलएफएस ने फंड के अभाव में काम रोक दिया है. हालांकि इलाके में टैंकर से जलापूर्ति हो रही है, लेकिन इससे लोगों की जरूरतें पूरी नहीं हो रही है. जहां दिनचर्या का काम छोड़ लोग पानी के लिए बेहाल हो रहे हैं. वैसे अब स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने बड़े आंदोलन की रूपरेखा तैयार कर ली है. जहां उन्होंने ऐलान कर दिया है, कि जल्द ही अगर परियोजना पर काम शुरू नहीं हुआ तो उग्र आंदोलन किया जाएगा. वैसे स्थानीय लोगों ने विभागीय अधिकारियों पर ढुलमुल रवैया अख्तियार करने का भी आरोप लगाया है. वहीं उन्होंने चेतावनी दिया है कि जल्द ही परियोजना से संबंधित आरटीआई दाखिल की जाएगी.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply