spot_img
शुक्रवार, मई 14, 2021
spot_imgspot_img
spot_img

jamshedpur-electricity-new-tariff-कोरोना के बाद अब झारखंड की जनता पर गिरेगी ”बिजली”, जमशेदपुर व सरायकेला-खरसावां की बिजली महंगी करेगी ”टाटा स्टील व जुस्को”, ऑनलाइन जनसुनवाई 30 व 31 जुलाई को, ”झारखंड सरकार” की बिजली भी होगी महंगी, जानें क्या हो रही है बढ़ोत्तरी, आप कैसे ले सकते है जनसुनवाई में भाग, जानें

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : जमशेदपुर और सरायकेला-खरसावां जिले में बिजली की आपूर्ति करने वाली कंपनी टाटा स्टील (जमशेदपुर के बिजली का लाइसेंसी) और जुस्को (अब इसको टाटा स्टील यूटिलिटीज एंड इंफ्रास्ट्रक्चर) ने इसको लेकर एक प्रस्ताव पहले दिया था, जिसको लेकर 30 व 31 जुलाई को ऑनलाइन जनसुनवाई होने जा रही है. टाटा स्टील व जुस्को की नयी टैरिफ को लेकर होने वाली जनसुनवाई के लिए उपभोक्ताओं को 9955355465 या 8507412350 पर लोग संपर्क कर सकते है, जिस पर लोग अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते है. इसके अलावा लोग सेक्रेटरी एट जेएसइआरसी डॉट ओआरजी http://www.jserc.org/tsl.aspx में जाकर अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते है या जनसुनवाई में शामिल होने के लिए उसी के माध्यम से रजिस्ट्रेशन करा सकते है.

Advertisement
Advertisement

क्या है टाटा स्टील व जुस्को का प्रस्ताव :
टाटा स्टील की ओर से जमशेदपुर में बिजली के दर को बढ़ाने का प्रस्ताव दिया गया है. इस प्रस्ताव के तहत टाटा स्टील (जमशेदपुर में बिजली सप्लाइ करने की एजेंसी, जो जुस्को के माध्यम से बिजली की आपूर्ति करती है) ने कहा है कि चूंकि, बिजली उत्पादन लागत मेंखर्च बढ़ गया है और काफी ज्यादा बिजली महंगी उनको ही मिल रही है, इस कारण वे लोग चाहते है कि बिजली का रेट बढ़ाये. झारखंड राज्य बिजली नियामक आयोग (जेएसइआरसी) को दिये गये आवेदन के मुताबिक, टाटा स्टील चाहती है कि बिजली के घरेलू और कॉमर्शियल के रेट को बढ़ा दाय जाये. इसके तहत टाटा स्टील ने वित्तीय वर्ष 2020-2021 तक के लिए नियामक आयोग से इजाजत मांगी है, जिसके लिए तय नियमों के मुताबिक, टाटा स्टील द्वारा बिजली की बढ़ोत्तरी के लिए प्रस्ताव दया गया है. इसके तहत अगर कोई व्यक्ति सौ यूनिट तक घरेलू उपयोग करता है तो उसको 2 रुपये 60 पैसे प्रति यूनिट के हिसाब से पैसे देने होते है, जिसको बढ़ाकर 3 रुपये प्रति यूनिट बिजली का करने का प्रस्ताव है. सौ यूनिट तक के घरेलू उपभोक्ता को फिक्स चार्ज 13 रुपये प्रति कनेक्शन प्रति माह देना होता है, जिसको बढ़ाकर सीधे 30 रुपये प्रतिमाह प्रति कनेक्शन करने का प्रस्ताव दिया गया है. घरेलू सौ यूनिट से ज्यादा जो भी घरेलू उपभोक्ता है, उसको अभी 4 रुपये 55 पैसे प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली का बिल देना होता है जबकि फिक्स चार्ज 30 रुपये प्रति कनेक्शन प्रतिमाह लिया जाता है, जिसको बढ़ाकर अब 6 रुपये प्रति यूनिट करने का प्रस्ताव है और उसका फिक्स चार्ज 70 रुपये करने का प्रस्ताव दिया गया है. घरेलू हाइटेंशन (एचटी) बिजली लेने वाले का रेट अभी 4 रुपये 20 पैसे प्रति यूनिट है, जिसको बढ़ाकर 5 रुपये 50 पैसे प्रति यूनिट करने का प्रस्ताव है जबकि फिक्स चार्ज एचटी घरेलू कनेक्शन वालों को 40 रुपये केवीए प्रतिमाह देना होता है, जिसको अब 5 रुपये 50 पैसे प्रति किलोवाट करने का प्रस्ताव है. कॉमर्शियल अभी 6 रुपये 25 पैसे प्रति यूनिट है जबकि इसका फिक्स चार्ज सौ रुपये प्रति कनेक्शन प्रतिमाह जिसको अब बढ़ाकर 7 रुपये किलोवाट प्रति यूनिट करने का प्रस्ताव है और फिक्स चार्ज को 210 रुपये प्रति कनेक्शन प्रतिमाह करने का प्रस्ताव है. औद्योगिक एलटी कनेक्शन वाले को 5 रुपये प्रति यूनिट जबकि फिक्स चार्ज 100 रुपये प्रतिकिलो वाट प्रतिमा है, जिसको बढ़ाकर 5 रुपये 60 पैसे प्रति यूनिट करना है और फिक्स चार्ज को 165 रुपये प्रतिकिलोवाट प्रतिमाह करने का प्रस्ताव है. इसी तरह एचडी औद्योगिक कनेक्शन का अभी 6 रुपये 30 पैसे प्रति यूनिट है, जबकि फिक्स चार्ज 320 रुपये प्रतिकिलोवाट प्रतिमाह है, जिसको बढ़ाकर 7 रुपये प्रति किलो वाट के साथ 440 रुपये प्रति किलोवाट प्रतिमाह करने का प्रस्ताव है.

Advertisement

सरकारी बिजली भी होगी महंगी, होगी जनसुनवाई
झारखंड बिजली वितरण निगम द्वारा 8 जनवरी को वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए फाइल किया गया नया टेरिफ प्लान पर आयोग अब जनसुनवाई
शुरू करने जा रही है. आयोग ने इसको लेकर पब्लिक नोटिस जारी कर दी है. यह जनसुनवाई 20, 21 एवं 24 अगस्त को होगी. मगर
कोरोना संकट के कारण यह सुनवाई ऑनलाइन होगी. इसके लिए इसमें हिस्सा लेने वाले स्टेक होल्डर एवं उपभोक्ताओं को आयोग कार्यालय में
18 अगस्त तक अपना निबंधन करा लेना होगा. इसके अतिरिक्त कोई उपभोक्ता चाहें तो 14 अगस्त तक अपना लिखित सुझाव या आपत्ति
आयोग को भेज सकते ह मालूम हो कि जनसुनवाई मार्च में होनी थी मगर लॉक डाऊन की वजह से इसे लगातार टाला जाता रहा. निगम ने 25 प्रतिशत तक बिजली दर में बढ़ोतरी का प्रस्ताव दिया है.
इनके जरिए करा सकते हैं शिकायत

Advertisement

निबंधन आयोग के बेवसाइट पर या कमीशन के नंबर 9955355465 या 8507412350 पर स्टेक होल्डर या उपभोक्ता निबंधन करा सकते हैं.
घरेलू उपभोक्ताओं पर बोझ :
जेबीवीएनएल द्वारा दायर टैरिफ पीटिशन में घरेलू ग्रामीण उपभोक्ताओं की दरों में 5.75 रु./यूनिट से बढ़ाकर सात रुपये करने का प्रस्ताव है. साथ ही
फिक्स्ड चार्ज 20 रुपये प्रतिमाह से बढ़ाकर 75 रुपये प्रतिमाह करने का प्रस्ताव है. दूसरी ओर शहरी घरेलू उपभोक्ताओं की दरों में 6.25 की जगह 7.50 रुपये करने का प्रस्ताव है. वहीं, फिक्स्ड चार्ज भी 75 रुपये प्रतिमाह से बढ़ाकर 150 रुपये प्रतिमाह करने का प्रस्ताव है. कॉमर्शियल उपभोक्ताओं की दरों में भी छह रुपये की जगह सात और 7.50 रुपये करने का प्रस्ताव है. किसानों के कृषि के लिए दरों में 5.75 रुपये से बढ़ाकर 6.50 रुपये करने का प्रस्ताव है.
फिक्स्ड चार्ज में भारी बढ़ोत्तरी :
घरेलू उपभोक्ताओं के साथ-साथ अन्य उपभोक्ताओं के फिक्स्ड चार्ज में भी भारी बढ़ोत्तरी की गयी है. एचटी अपार्टमेंट के उपभोक्ताओं के फिक्स्ड चार्ज में 100 केवीए प्रति माह से बढ़कर 300 रुपये करने का प्रस्ताव है. वहीं, कॉमर्शियल उपभोक्ताओं के फिक्स्ड चार्ज 40 से बढ़ाकर 150 रुपये और पांच केवी से अधिक लोड वाले उपभोक्ताओं का फिक्स्ड चार्ज 150 से बढ़ाकर 300 रुपये करने का प्रस्ताव है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

spot_imgspot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!