spot_img
शनिवार, अप्रैल 17, 2021
More
    spot_imgspot_img
    spot_img

    Jamshedpur-Gas-leakage-mock-drill : गैस लीकेज के बचाव व आपातकाल से निपटने के लिए बिष्टुपुर, साकची व बर्मामाइंस में मॉकड्रिल

    Advertisement
    Advertisement

    जमशेदपुर : गैस रिसाव के बाद बचाव व राहतकार्यों के लिए बुधवार को बिष्टुपुर, साकची, बर्मामाइंस और टाटा स्टील कैम्पस से सटे एरिया में मॉकड्रिल (नाट्य रूपांतरण) किया गया. मॉकड्रिल में बड़ी संख्या में टाटा स्टील के कर्मचारी, जुस्कोकर्मी, सुरक्षागार्ड, पुलिस व राज्य सरकार का अग्निशामक दस्ता शामिल हुए. करीब दो घंटे तक चले इस रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान पूरे क्षेत्र की घेराबंदी कर ली गई थी. क्षेत्र में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया था. बिष्टुपुर में मॉकड्रिक जिंजर होटल के पास किया गया, जहां गैस रिसाव (काल्पनिक रूप से) के बाद होटल में मौजूद लोग प्रभावित होने लगे. (नीचे भी पढ़ें)

    Advertisement
    Advertisement

    मॉकड्रिल के तहत गैस लीक की सूचना टाटा स्टील प्रबंधन ने जिला प्रशासन को दी. सूचना पाकर रांची से भी एनडीआरएफ की टीम जमशेदपुर के लिए रवाना हो गई. लगभग ढाई घंटे के बाद एनडीआरएफ की टीम शहर पहुंची और टाटा स्टील की टीम के साथ रेस्क्यू के लिए ज्वाइंट ऑपरेशन शुरू किया. सभी प्रभावितों को होटल से निकालकर बिष्टुपुर के माइकल जॉन आडिटोरियम और टीएमएच में बनाए गए रेड जोन में ले जाया गया. लगभग डेढ़ घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद सभी को सुरक्षित बचा लिया गया. (नीचे भी पढ़ें)

    Advertisement

    बिष्टुपुर, साकची व बर्मामाइंस की हुई थी घेराबंदी
    मॉकड्रिल (नाट्य रुपपांतरण) के दौरान बिष्टुपुर, साकची व बर्मामाइंस में रोड को डाइवर्ट किया गया. बिस्टुपुर मेन रोड के आने वाले रास्ते को आदित्यपुर मोड़ से खरकाई ब्रिज के रास्ते डाइवर्ट कर वाहनों को पास कराया जा रहा था. जिसकी वजह से अफरातफरी की स्थिति थी. जगह-जगह रोड जाम थे. गोपाल मैदान के पास भी घेराबंदी की गयी थी. वाहनों के आवागमन में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था. करीब 2 घंटे तक चले रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद बचाव और राहत कार्य को अंजाम दिया गया. जानकारी हो कि टाटा स्टील द्वारा ऐसी कई तरह की गैसों का प्रोडक्शन में इस्तेमाल किया जाता है जो जहरीली होती और जानलेवा होती हैं. ऐसे में आपातकाल की स्थिति में इससे कैसे बचाव किया जाए इसकी तैयारियों को लेकर रेस्क्यू ऑपरेशन का मॉक ड्रिल (नाट्य रूपांतरण) किया गया. (नीचे भी पढ़ें)

    Advertisement

    रोड डाईवर्ट किये जाने की वजह जानने को उत्सुक दिखे लोग
    जगह-जगह वाहनों को रोककर लोग रोड पर तैनात पुलिस से यह जानने की कोशिश कर रहे थे कि आखिर किस वजह से रोड को डाईवर्ट किया जा रहा है. लेकिन पुलिस यह बताना नहीं चाह रही थी कि किस वजह से रोड डाईवर्ट किया गया है. जिसकी वजह से पूछने वालों की भीड़ लगने लगी थी. जितना इसे छुपाने की कोशिश हो रही थी, उतनी ही लोगों की उत्सुकता बढ़ रही थी. जिस कारण से भीड़ को रोकना कठिन होता जा रहा था.

    Advertisement

    Advertisement
    Advertisement

    Leave a Reply

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    spot_imgspot_img

    Must Read

    Related Articles

    Don`t copy text!