spot_img
रविवार, मई 9, 2021
spot_imgspot_img
spot_img

jamshedpur good news-जमशेदपुर में शुक्रवार से होगी घर-घर पाइपलाइन से गैस कनेक्शन व सीएनजी की होगी शुरुआत, सोनारी से होगी शुरुआत, केंद्रीय मंत्री, मुख्यमंत्री समेत अन्य लेंगे हिस्सा, जमशेदपुर में 221 करोड़ का निवेश

Advertisement
Advertisement
गेल इंडिया के कार्यपालक निदेशक पूर्वी अंचल केबी सिंह, चीफ जेनरल मैनेजर नलिनी मल्होत्रा, सीएसएम कंस्ट्रक्शन के जेपी सिंह संवाददताता सम्मेलन को संबोधित करते हुए.

जमशेदपुर : भारत सरकार के उपक्रम गेल इंडिया की ओर से जमशेदपुर में घर-घर पाइपलाइन के जरिये गैस का कनेक्शन देने की शुरुआत की जा रही है. शुक्रवार को इसका उदघाटन झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास करेंगे. इस मौके पर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, राज्य के मंत्री सरयू राय, मंत्री रामचंद्र सहिस, जमशेदपुर के सांसद विद्युत वरण महतो, सिंहभूम की सांसद गीता कोड़ा समेत तमाम विधायक मौजूद रहेंगे. शुक्रवार को बिष्टुपुर स्थित गोपाल मैदान में इसका आयोजन होगा. इसके आयोजन और पूरी व्यवस्था की जानकारी बिष्टुपुर स्थित एक होटल में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में गेल इंडिया के कार्यपालक निदेशक पूर्वी अंचल केबी सिंह, चीफ जेनरल मैनेजर नलिनी मल्होत्रा, सीएसएम कंस्ट्रक्शन के जेपी सिंह ने संयुक्त रुप से दी. केबी सिंह ने बताया कि सोनारी स्थित आशियाना गार्डेन से इसकी शुरुआत होगी. इसी तरह मानगो के प्राइड फ्यूल सेंटर में कंप्रेस्ड प्राकृतिक गैस (सीएनजी) की आपूर्ति की भी शुरुआत होगी, जिसके जरिये अब जमशेदपुर में सीएनजी के जरिये भी गाड़ियां दौड़ सकेंगी. केबी सिंह ने बताया कि शुरुआत में कैसकेड नामक विशेष कंटेनर्स में बिहार के पटना से सड़क मार्ग से प्राकृतिक गैस जमशेदपुर पहुंचायी जायेगी. इसके बाद प्राकृतिक गैस की आपूर्ति प्रधानमंत्री ऊर्जा गंगा जगदीशपुर हल्दिया और बोकारो धामरा प्राकृतिक गैस पाइपलाइन से पुरुलिया जमशेदपुर स्परलाइन के माध्यम से की जायेगी. उदघाटन समारोह के दौरान ही पुरुलिया से जमशेदपुर तक 125 किलोमीटर लंबी पाइपलाइन बिछाने का काम शुरू होगा. यह स्परलाइन पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम और सरायकेला-खरसावां जिले के सीजीडी नेटवर्क को आपूर्ति करेगी. बीके सिंह ने बताया कि आने वाले साल में 11 सीएनजी स्टेशनों से एक लाख से अधिक वाहनों की आपूर्ति हो सकेगी. जमशेदपुर शररी गैस वितरण परियोजना का कुल क्षेत्रफल लगभग 3562 वर्ग किलोमीटर है. इस परियोजना के तहत एक लाख से अधिक घरों को लाभांवित किया जायेगा. 125 वाणिज्यिक कनेक्शन, 85 औद्योगिक कनेक्शन और कई सीएनजी वाहन भी लाभांवित हो सकेंगे. श्री सिंह ने बताया कि गैस आधारित अर्थव्यवस्था को विकसित करने के लिए यह कार्यक्रम प्रधानमंत्री ऊर्जा गंगा के माध्यम से पांच राज्यों उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, ओड़िया और पश्चिम बंगाल से होकर गुजरेगी. इस परियोजना की 551 किलोमीटर की पाइपलाइन झारखंड में बिछायी जायेगी. उन्होंने बताया कि आगामी वर्षों में गेल द्वारा 1.25 लाख से अधिक वाहनों में सीएनजी आपूर्ति और 2.43 लाख घरों में पाइप्ड नेचुरल गैस (पीएनजी) की आपूर्ति के लिए रांची और जमशेदपुर में 22 सीएनजी स्टेशन स्थापित किये जा रहे है. रांची और जमशेदपुर में सीजीडी परियोजनाओं को प्रधानमंत्री ऊर्जा गंगा पाइपलाइन के समानांतर लिया जा रहा है. झारखंड में 4366 करोड़ के अनुमानित निवेश से प्राकृतिक गैस प पाइपलाइन का निर्माण किया जायेगा और इसकी लंबाई लगभग 551 किलोमीटर होगा, जिसमें 12 जिले चतरा, गिरीडीह, हजारीबाग, बोकारो, रामगढ़, धनबाद, सरायकेला, रांची, खूंटी, गुमला, सिमडेगा और पूर्वी सिंहभूम जिला शामिल है. रांची और जमशेदपुर में इस परियोजना के लिए कुल पूंजी व्यय 1500 करोड़ रुपये होगा, जिसमें 450 करोड़ अगले तीन से पांच साल में व्यय किये जायेंगे. इसमें से सिर्फ जमशेदपुर में 221 करोड़ रुपये का निवेश होगा.

Advertisement
Advertisement

Advertisement

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

spot_imgspot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!