Jamshedpur government grain black marketing : गोलमुरी औऱ साकची में दो भाई कर रहे थे सरकारी अनाज की कालाबाजारी, 25 लाख रुपये से ज्यादा का अनाज बरामद-video

Advertisement
Advertisement

Jamshedpur : शहर के साकची और गोलमुरी क्षेत्र में छापेमारी कर बड़े पैमाने में सरकारी अनाज की कालाबाजारी का भंडाफोड़ किया गया है. इस छापेमारी के दौरान दोनों गोदामों से लगभग 800 क्विंटल चावल औऱ 300 क्विंटल से ज्यादा गेंहू बरामद किया गया है. इसके साथ ही चीनी भी बरामद की गई है. स्थानीय लोगों ने प्रशासन को जानकारी दी थी कि साकची के गुरुनानक नगर और गोलमुरी के गाढ़ाबासा में काफी दिनों से सरकारी अनाज की कालाबाजारी कर उसे बाजार में बेचा जा रहा है. जिसके बाद प्रशासन ने एडीएम और एसओआर के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया. शुक्रवार को टीम ने एक साथ दोनों गोदामों में छापेमारी की. इस दौरान साकची और गोलमुरी थाना की पुलिस भी साथ थी. पुलिस को देखकर गोदाम में काम कर रहे लोग मौके से फरार हो गए. हालांकि गाढ़ाबासा के गोदाम से पुलिस ने एक युवक को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है. टीम ने गोदाम से सील करने वाली मशीन, टैग और पैकिंग में इस्तेमाल होने वाले अन्य समान बरामद किए है. पुलिस हिरासत में लिए युवक से पूछताछ कर रही है.

Advertisement
Advertisement

जो अनाज को पहुंचा रहे थे डीलरों के पास, वहीं दो भाई कर रहे थे कालाबाजारी

Advertisement

जांच में अधिकारियों को ये जानकारी मिली कि साकची स्थित गोदाम दीपक मेहनानी और गोलमुरी स्थित गोदाम संजय मेहनानी द्वारा संचालित किया जा रहा है. मिली जानकारी के अनुसार ये दोनों भाई हैं और अनाजों को एफसीआई के गोदाम से एसएफसी और फिर वहां से डीलरों के पास पहुंचाने का टेंडर है. इन्हीं के द्वारा इस कालाबाजारी को अंजाम दिया जा रहा था. डीलरों तक अनाज पहुंचने से पहले ही अनाज की कालाबाजारी कर उसे फिर से रिपैकेजिंग की जाती थी औऱ फिर उसे बाजार में बेच दिया जाता था. हालांकि बाजार में इसे किस मूल्य में बेचा जाता था यह जांच का विषय है.

Advertisement

बड़े अधिकारियों व डीलर की मिलीभगत से कालाबाजारी की संभावना

Advertisement

इस कालाबाजारी में यह संभावना व्यक्त की जा रही है कि इसमें डीलरों की मिलीभगत हो सकती है. साथ ही बड़े अधिकारी भी इसमें शामिल हो सकते है. चूंकि डीलरो द्वारा नाप तौल कर ही अनाजों को रिसीव किया जाता है. बिना मिलीभगत के यह संभव नहीं हो सकता. अब जांच के बाद ही इसका खुलासा हो सकता है. फिलहाल विभाग प्राथमिकी दर्ज करवाने की तैयारी में है.

Advertisement

25 लाख तक का है अनाज

Advertisement

अधिकारियों की माने तो साकची गोदाम से लगभग 900 बोरी चावल औऱ गोलमुरी से 300 क्विंटल चावल के अलावा गेंहू, चीनी भी बरामद किए गए है. विभाग द्वारा 22.50 रुपये प्रति किलो के हिसाब से चावल की खरीद की जाती है और लगभग इतने में ही गेंहू की भी खरीद होती है. विभाग की माने तो अनाज की कीमत बाजार में 25 लाख रुपये से ज्यादा है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply