spot_imgspot_img

Global Statistics

All countries
260,923,392
Confirmed
Updated on November 27, 2021 12:30 PM
All countries
233,988,283
Recovered
Updated on November 27, 2021 12:30 PM
All countries
5,207,380
Deaths
Updated on November 27, 2021 12:30 PM
spot_img

jamshedpur-hindu-जमशेदपुर में हो रहा 1 करोड़ जय श्री राम लेखन महायज्ञ, जुटे रामभक्त

Advertisement
इस तरह लिखा जाना है.

जमशेदपुर : हिन्दू उत्सव समिति द्वारा जय श्री राम लेखन महायज्ञ की मुहिम शुरू की गई हैं जिसमे शहरवासियो को अपने अपने घरों में रहकर जय श्री राम का लेखन 1100 बार करना है तथा अपने अपने परिजनों को भी प्रेरित करना है. समिति के संस्थापक श्री मृत्युंजय ने बताया कि जय श्री राम मंत्र प्रसन्नता तथा संकट दोनों ही परिस्थितियों में जाप किया जाता है. कलयुग का यह प्रभावी मन्त्र है. कोरोना युद्ध के कारण घर मे रहते हुए चिन्ता, तनाव, दुःख, डर इत्यादि घेरने का प्रयास करने लगे है. इस हेतु हिन्दू उत्सव समिति मनुष्यो में चित्त शान्ति, शक्ति संचय, उत्साह, उमंग की संचार के लिए युगों युगों से चले आ रहे “जय श्रीराम” मन्त्र की 1 करोड़ बार लेखन महायज्ञ का आयोजन 10 मई से 17 मई तक किया है.

Advertisement
Advertisement

समिति के सदस्य अंकित मोदी ने बताया कि हिन्दू धर्मग्रंथों में हर युग में देव भक्ति व उपासना के विशेष तरीकों से भगवान को पाने की राह उजागर होती है। इनमें तप, यज्ञ, मंत्र जप व पूजा का खास महत्व बताया गया है. इसी कड़ी में कलियुग में तो केवल भगवान का नाम या कीर्तन ही इंसान को सारे सुख देने वाला माना गया है। लिखा भी गया है कि ”कलियुग तेरा नाम अधारा, सुमिर-सुमिर नर उतरहिं पारा”, जिसका सार है कि कलियुग में केवल मनुष्य भगवान के नाम सुमिरन से ही संसार सागर को पार कर सकता है. देव नाम स्मरण इतना आसान भी होता है कि किसी भी काल, स्थान या स्थिति की बंदिश नहीं होती और फल भी पूरे मिलते हैं. इसी कड़ी में धर्म परंपराओं में भगवान राम के लिए गहरी आस्था और भक्ति से यह माना जाता है कि राम से भी बड़ा राम का नाम है. इसी महिमा से भगवान राम के नाम के स्मरण से ही कई इच्छाओं को पूरा करने के लिए शास्त्रों में ही राम नाम लिखकर स्मरण करने का भी अचूक तरीका बताया गया और निश्चित ही 1 करोड़ बार जय श्री राम नाम लेखन से हम सभी देशवासियों को कोरोना महामारी से जल्द छुटकारा मिल जाएगा. श्री मृत्युंजय ने कहा है कि सभी लोग जो इस महायज्ञ में अपनी श्रीराम नाम लिखकर अपनी आहुति देना चाहते हैं वे नीली या लाल स्याही वाली पेन से जरूर लिखें और कागज के उप्पर अपना नाम और मोबाइल नंबर जरूर लिख दी. 18 मई से 20 मई तक जय श्रीराम लिखे कागज को हिन्दू उत्सव समिति से सम्बन्धित व्यक्ति अन्यथा 9031400500, 8797939992, 7488528123 न0 से वार्ता कर जमा कर देना है. तत्पश्चात मानगो बड़ा हनुमान मंदिर, बजरंगबली जी के चरणों मे पुरोहितों द्वारा समर्पित कर दिया जाएगा. इस राम नाम लेखन महायज्ञ को सफल बनाने में समिति के कार्यकारी अध्यक्ष जितेंद्र सिंह, नवेंदु पांडेय, रोहन श्रीवास्तव, राहुल कुमार, सागर ओझा, चन्दन सिंह, सिशान्त सिंह, अतुल मिश्रा, रवि जम्बूदिप, अमित यादव आदि सदस्यों का योगदान हो रहा है. ज्ञात हो कि हिन्दू उत्सव समिति द्वारा हर साल हिन्दू नववर्ष पर विशाल यात्रा का आयोजन डिमना से आमबगान साकची तक होता है इस वर्ष कोरोना के कारण यात्रा को रद्द कर दिया गया था.

Advertisement
[metaslider id=15963 cssclass=””]

Advertisement
Advertisement
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM
IMG-20200108-WA0007-808x566
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM (1)
WhatsApp_Image_2020-03-18_at_12.03.14_PM_1024x512
previous arrow
next arrow

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!