spot_img

Jamshedpur-Hool-Diwas : जमशेदपुर के विभिन्न हिस्सों में मना हूल दिवस, याद किये गये सिदो-कान्हू, राजनीति, सामाजिक व छात्र संगठनों ने दी श्रद्धांजलि, कहां-कहां किस-किस ने अर्पित की श्रद्धांजलि-पढ़ें

राशिफल

जमशेदपुर : जमशेदपुर के बिरसा नगर के जोन नं-6 में आदिवासी उरांव समाज समिति बिरसा नगर शाखा के तत्वाधान में बुधवार को हूल दिवस का सादगीपूर्ण आयोजन किया गया। इसमें कोरोना गाइडलाइंस का विशेष रुप से पालन करते हुए आयोजन संपन्न हुआ। इस अवसर पर जनजातीय समाज के शिक्षाविद, अभियंता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री भारत सरकार स्वर्गीय बाबा कार्तिक उरांव की नवस्थापित मूर्ति अनावरण किया गया। इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि झारखंड सरकार के पूर्व मंत्री सह पूर्वी विधानसभा क्षेत्र के माननीय विधायक सरयू राय, विशिष्ट अतिथि के रूप में कोल्हान डिजिटल लाइब्रेरी के संस्थापक संजय कार्तिक उरांव, जिला अध्यक्ष उरांव समाज समिति के राकेश उरांव, जिला युवा मुखी समाज के कार्यकारी अध्यक्ष एवं समाजसेवी शंभु मुखी डूंगरी, भारतीय जन मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष रामनारायण शर्मा, भाजमो के जिला अध्यक्ष सुबोध श्रीवास्तव, प्रो बिन्दु पाहन उपस्थित थे। कार्यक्रम के दौरान सर्व प्रथम संथाल परगना के ऐसे महान सपूतों वीर अमर सेनानी सिदो-कान्हू, चांद -भैरव के चित्रों के समक्ष संथाल परंपरा के अनुसार अनुष्ठान पूर्वक पूजा अर्चना के उपरांत मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथियों के अतिरिक्त कार्यक्रम स्थल पर उपस्थित गणमान्य अतिथियों के द्वारा बारी बारी से माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किया गया। इसके बाद अतिथियों के द्वारा वृक्षारोपण वीर शहीदों के नाम पर किया गया। अतिथियों के द्वारा छात्र-छात्राओं के बीच पाठ्य सामग्री का वितरण किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रकाश कोया ने की। संचालन सचिव गणेश कुजूर तथा धन्यवाद ज्ञापन कोषाध्यक्ष कार्तिक उरांव ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में बिरसा तिर्की, करमू टोप्पो, गंगा राम तिर्की, महावीर कुजूर, राजू खालखो, अनूप टोप्पो, शेरू कुजूर, बसंती खालखो, रमिया बरहा, धानिया कोया, मुन्नी खालखो तथा समाज के गणमान्य लोग उपस्थित थे। (नीचे भी पढ़ें)

कांग्रेस : कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता और जमशेदपुर के पूर्व सांसद डॉ अजय कुमार ने हूल दिवस के अवसर पर भुईयाडीह में सिदो-कान्हू चौक स्थित सिदो-कान्हू की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। डॉ अजय कुमार ने कहा कि 30 जून 1855 को सिद्धू और कान्हू के नेतृत्व में मौजूदा साहेबगंज जिले के भगनाडीह गांव से विद्रोह शुरू हुआ था। इस मौके पर सिदो-कान्हू ने नारा दिया था, ‘करो या मरो, अंग्रेजों हमारी माटी छोड़ो। हमारे देश के लिए अपनी जान देकर  सिदो-कान्हू, चांद और भैरव, ये चारों भाई सदा के लिए भारतीय इतिहास में अपना अमिट स्थान बना गए। (नीचे भी पढ़ें)

भाजपा जमशेदपुर महानगर अनुसूचित जनजाति मोर्चा एवं सीतारामडेरा मंडल : भाजपा जमशेदपुर महानगर अनुसूचित जनजाति मोर्चा एवं सीतारामडेरा मंडल के संयुक्त तत्वावधान में बुधवार को हुल दिवस मनाया गया। पुर्वी विधानसभा अंतर्गत भुइयांडीह चौक स्थित हुल क्रांति के नायक सिदो-कान्हू की आदमकद प्रतिमा पर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास, महानगर अध्यक्ष गूँजन यादव समेत अन्य ने माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान उपस्थित कार्यकर्ताओं ने चांद-भैरव एवं फूलो-झानो के बलिदान को स्मरण कर श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने हुल दिवस को आजादी की पहली लड़ाई बताते हुए संथाल विद्रोह के नायकों को नमन किया। उन्होंने कहा कि झारखंड के वीर सपूतों ने हुल क्रांति कर अंग्रेजी हुकूमत की जड़ें हिला दी थी। यह विशेष दिन स्वाधीनता संग्राम में अंग्रेजों के छक्‍के छुड़ाने वाले आदिवासियों के संघर्ष गाथा और उनके बलिदान को याद करने का है। उन्होंने सभी अनाम वीरों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की, जिन्होंने देश की आजादी के हूल में अपने प्राणों की आहुति दी। इस दौरान महानगर अध्यक्ष गूँजन यादव, पूर्व जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर मिश्रा, महानगर अनुसूचित जनजाति मोर्चा के महामंत्री रमेश नाग, रमेश बास्के, भाजपा सीतारामडेरा मंडल अध्यक्ष सुरेश शर्मा, जिला उपाध्यक्ष सुधांशु ओझा, संजीव सिन्हा, जिला महामंत्री राकेश सिंह, जिला मंत्री पप्पू सिंह, अनुसूचित जाति मोर्चा अध्यक्ष अजीत कालिंदी, काजु सांडिल, संजय मुण्डा, बिजय गौंड, बिजय सोय, चाँदमनी कुंकल, दीपक सुंडी, गणेश मुण्डा, अनुसूचित जनजाति मोर्चा मंडल अध्यक्ष पवन सोलंकी, अनिल शर्मा, अरुण मिश्रा, संतोष कुमार, सत्तनाम सिंह, नागेंद्र रॉय, उमेश साव, मित्रो प्रधान, अशोक पासवान, बबलु खालको, मिथलेश साव, धनराज गुप्ता, प्रकाश ठाकुर, रवि भुइँया, सुभाष भुइँया, रमेश निषाद, विकास बाउरी, विकास दास, सुमित लाल, शंकर लाल, खोखन पैरा, अतुल प्रभात, गौरव साहु, नंदलाल पातर, नारायण पोद्दार सहित अन्य भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे। (नीचे भी पढ़ें)

परसुडीह भाजपा : हूल दिवस के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी परसुडीह मंडल के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं के द्वारा परसुडीह स्थित संथाल विद्रोह के नायक अमर शहीद सिदो-कान्हू की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं श्रद्धा सुमन अर्पित किया। कार्यक्रम मे मुख्य रूप से जिला परिषद उपाध्यक्ष सह किसान मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष राजकुमार सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष दिनेश कुमार, मंडल अध्यक्ष त्रिदिब चट्टराज, जिला कार्यसमिति सदस्य पंकज सिन्हा, मंडल महामंत्री देवेंद्र सिंह, मेघलाल टुडू, सुजीत अम्बष्ठ, मनोज विश्वकर्मा, सुजीत सिंह, नीलू मछुआ, बबिता सिंह, सिमा मुंडा, धीरज सिन्हा, मंगल कर्मकार, राकेश सिंह, अशोक सिंह, विश्वजीत कुमार, लड़ाई मुंडिया, शाहिद खान, दीपक करुआ, किरण राव, नयन पोद्दार, सोनू श्रीवास्तव, शांति देवी समेत कई कार्यकर्ता उपस्थित थे। (नीचे भी पढ़ें)

भाजमो उलीडीह : हूल क्रान्ति दिवस के अवसर पर भाजमो उलीडीह मंडल ने डिमना पटमदा रोड स्थित वीर शहीद सिदो-कान्हू की आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। मंडल अध्यक्ष प्रवीण सिंह नें हूल क्रान्ति दिवस पर राज्य के जननायक शहीद सिदो-कान्हू, चांद भैरव और फूलो- झानो का स्मरण किया और कहा की भाजमो उलीडीह मंडल के कार्यकर्ता हमारे शहीदों की जीवनी से प्रेरणा लेते हुए झारखंड राज्य के जल, जंगल, जमीन की रक्षा के लिए कार्य करेंगे। इस दौरान मंडल महामंत्री प्रेम सक्सेना, इंदु शेखर सिंह, उपाध्यक्ष गणेश शर्मा, अभिजीत सेनापति, राहुल प्रसाद सहित अन्य उपस्थित थे। (नीचे भी पढ़ें)

भाजमो : हूल क्रांति दिवस पर भारतीय जनतंत्र मोर्चा जुगसलाई विधानसभा क्षेत्र के प्रभारी भास्कर मुखी एवं परसुडीह मंडल अध्यक्ष विकास कुमार ने वीर शहीद सिदो-कान्हू की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की । इस अवसर पर भास्कर मुखी ने कहा की अंग्रेजी हुकूमत के विरुद्ध पहली आजादी की लड़ाई में सिदो-कान्हू ने 50 हजार लोगों को एकत्रित कर अंग्रेजी हुकूमत की जड़ें हिला दी थी। भोगनाडीह के वीर शहीद सिदो-कान्हू, चांद भैरव, फूलो-झानो के बलिदान को हम कभी भुला नहीं सकते। कार्यक्रम में मनोज कुमार, शिव रतन रजक, शंभु सिंह, महेश हो, आकाश कर्मकार, हरदीप मुखी ने श्रद्धांजलि अर्पित किये। (नीचे भी पढ़ें)

एआईडीएसओ : हूल के महानायक शहीद सिदो-कान्हू का शहादत दिवस पूर्ण आदर और मर्यादा के साथ ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स आर्गनाइजेशन (एआईडीएसओ) आदित्यपुर के सीतारामपुर डैम समीप माल्यार्पण करके मनाया गया। कार्यक्रम में माल्यार्पण संगठन के जिला अध्यक्ष विशाल बर्मन ने किया। उन्होंने कहा कि सिदो-कान्हू केवल आदिवासियों के नेता नहीं थे बल्कि पूरे भारत की शोषित-पीड़ित जनता की आवाज थे। कार्यक्रम का संचालन जिला कमेटी सदस्य अमन सिंह ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में लकीकांत पातर, संदीप, दीपक कुमार, कुंदन संतोष समेत अन्य का की सराहनीय भूमिका रही। (नीचे भी पढ़ें)

भाजपा जमशेदपुर महानगर अनुसूचित जनजाति मोर्चा : हूल दिवस के अवसर पर पोटका विधानसभा अंतर्गत बागबेड़ा मंडल के दक्षिण बागबेड़ा में स्थापित अमर स्वतंत्रता सेनानी सिदो-कान्हू की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया गया। आज ही के दिन, करो या मरो और अंग्रेजों हमारी माटी छोड़ो का नारा देकर सिदो-कान्हू ने अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ़ विद्रोह का बिगुल फूंका था। भाजपा जमशेदपुर महानगर अनुसूचित जनजाति मोर्चा जिला उपाध्यक्ष सह बागबेड़ा मंडल प्रभारी रमेश बास्के के नेतृत्व मे कार्यक्रम आयोजित हुआ, जिसमे मोर्चा महामंत्री रमेश नाग, चाँद मनी कुंकल, गणेश मुंडा, संजय मुंडा, मंडल अध्यक्ष बुधराम टोप्पो, जमुना हांसदा, विजय सिंह, मुकेश सिंह, रविशंकर, गौतम गुप्ता ने श्रद्धांजलि अर्पित की। (नीचे भी पढ़ें)

आजसू पार्टी जिला कमेटी : आजसू पार्टी जिला कमेटी के जिला प्रवक्ता संजय सिंह के नेतृत्व में डिस्पेंसरी चौक पर हूल दिवस मनाया गया। साथ ही डिस्पेंसरी रोड से राम मंदिर चौक तक पदयात्रा कर जर्जर सड़क के विरोध के तहत लोगो को गुलाब फूल दे स्थानीय विधायक मंगल कालिंदी के खिलाफ आंदोलन का आगाज किया गया। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष कन्हैया सिंह ने कहा कि जनता ने जिस उद्दयेश्य के लिए स्थानीय विधायक को चुना है उसी विधायक ने जीत को अपना उधेश्य बना लिया है और जनता को ठगने का कार्य कर रहे हैं। दो वर्ष बीतने को आ रहा है और विधायक मंगल कालिंदी ने जनता को उनके उसी हालात पर स्थिर छोड़ दिया है। पार्टी के केंद्रीय उपाध्यक्ष स्वप्न सिंहदेव ने कहा कि विधायक को क्षेत्र का विकास करना चाहिए, तो जनता को बेवकूफ समझ क्षेत्र में पद यात्रा कर रहे हैं। सरकार आपकी है और सरकार आप हैं, फिर पदयात्रा कर जनता का ठगने का कार्य क्यूं? इसके जबाब में हर दिन जनता के हित मे आजसू चरणबद्ध तरीके से आंदोलन करेगी। इसके लिए जल्द ही एक नया प्रारूप तैयार कर आंदोलन की रूप-रेखा तय की जायेगी। आजसू पार्टी द्वारा परसुडीह हलुदबनी चौक पर संजय मलाकार, सरजमदा चौक पर शिबू ओझा और गदड़ा चौक पर सविनय सिंह के नेतृत्व में हूल दिवस मनाया गया और सिधू कान्हू की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। कार्यक्रम में सागेन हांसदा, राजेन्द्र सिंह, अप्पू तिवारी, रामबल्लभ साहू, जगमोहन सिंह, बीडी विश्वकर्मा, लखिन्द्र महतो, प्रमोद सिंह, मिंटू सिंह, दीपक सहाय, संजय करुआ समेत अन्य उपस्थित थे। (नीचे भी पढ़ें)

आदिवासी सेंगेल अभियान : हूल दिवस के अवसर पर आदिवासी सेंगेल अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सांसद सालखन मुर्मू ने सिदो-कान्हू को श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि 30 जून-हूल महा या अंग्रेजों के खिलाफ हुई संताल विद्रोह का ऐतिहासिक दिवस है। जब सिदो मुर्मू के नेतृत्व में चार भाइयों और दो बहनों ने भोगनाडी गांव, साहेबगंज ज़िला में 10 हज़ार संताल सिपाहियों के साथ 30 जून 1855 को क्रांति का बिगुल फूंका था। अंग्रेजों को मजबूर होकर 22 दिसम्बर 1855 को संताल परगना का गठन करना पड़ा। कार्ल मार्क्स ने इसे भारत की प्रथम जनक्रांति बतलाया है। आदिवासी सेंगेल अभियान के नेता/कार्यकर्ता 5 प्रदेशों के आदिवासी बहुल क्षेत्रों में संथाल विद्रोह के ऐतिहासिक दिवस का सम्मान करते हुए संकल्प ले रहे हैं कि सीएनटी/एसपीटी कानून का पालन होना चाहिए। सिदो मुर्मू और बिरसा मुंडा के वंशजों के लिए दो ट्रस्टों का गठन हो और प्रत्येक ट्रस्ट को एक सौ करोड़ रुपयों का जमा पूंजी प्रदान किया जाए। शहीद सिदो मुर्मू के वंशज रामेश्वर मुर्मू की संदिग्ध हत्या और रूपा तिर्की की संदिग्ध हत्या पर अविलंब सीबीआई जांच हो। शहीदों का सपना “अबुआ दिसुम अबुआ राज” स्थापित हो। सरना धर्म कोड मान्यता और झारखंड में संताली प्रथम राजभाषा का दर्जा प्राप्त हो। असा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व सांसद सालखन मुर्मू ने अपने कदमा, जमशेदपुर निवास में संताल बिद्रोह के वीर शहीदों को श्रंद्धाजलि अर्पित कर उनके सपनों को सच करने का संकल्प लिया। (नीचे भी पढ़ें)

युवा कांग्रेस : झारखंड प्रदेश युवा कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव राकेश साहू के नेतृत्व में भुइयांडीह गोलचक्कर पर सिदो-कान्हू की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी गयी। कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व सांसद डॉ अजय कुमार शामिल हुए। इस अवसर पर राकेश साहू ने कहा कि हूल दिवस अंग्रेजों के खिलाफ एक बड़ी लड़ाई की याद दिलाता है। जनजातीय परंपराओं और मातृभूमि की रक्षा के लिए 10 हजार लोगों ने अपनी शहादत दी थी। इस शहादत को इतिहास में स्थान दिलाने के लिए जरूरत है। कार्यक्रम अशोक सिंह, बलदेव सिंह, मुकेश यादव, मनीष कुमार रमानी, अरुण बारीक पटेल, किशन सिंह, गौतम साव समेत कई कार्यकर्ता उपस्थित थे। (नीचे भी पढ़ें)

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद : जमशेदपुर महानगर कार्यालय में हूल दिवस के अवसर पर नगर इकाई कार्यक्रम दर्शन के तहत संगोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें प्रात संगठन मन्त्री याज्ञवल्क्य शुक्ल मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित थे। अन्य वक्ता के रुप में प्रो विनोद पासवन, प्रो शुशील पन्डित उपस्थित थेl प्रान्त संगठन मन्त्री याज्ञवल्क्य शुक्ला ने कहा कि आज के छात्र युवाओं को सिद्दू कान्हू के जीवन से प्रेरणा लेते हुए भारत के सामने खड़ी होने वाली हर चुनौती से निपटने के लिये सदैव तैयार रहना चाहीए l हूल दिवस कार्यक्रम के उपरांत आगामी आने वाले कार्यक्रमों पर्यावरण संरक्षण अभियान एवं राष्ट्रिय युवा दिवस (अभाविप स्थापना) दिवस पर भी गहन चर्चा की गयीl पर्यावरण संरक्षण अभियान के तहत अभाविप महानगर ने 3500 पौधा रोपण का लक्षय रखा हैl कार्यक्रम में महानगर मन्त्री अभिषेक तिवारी, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य नमिता पाठक, कार्यालय सह मंत्री सिद्धार्थ बाघी, प्रो सुशील, महानगर उपाध्यक्ष प्रो रश्मि कुमारी, प्लस टू कार्य प्रमुख शिवरंजन, बिष्टुपूर नगर मन्त्री अमृत सिंह, सह मन्त्री साहिल सैनी, आदित्यपुर नगर मन्त्री कन्हैया कुमार, सह मन्त्री प्रियांशु कुमार, करन कुमार, राहुल, अनिकेत, यश कुमार, चंदन कुमार समेत अन्य उपस्थित थे। (नीचे भी पढ़ें)

कांग्रेस पार्टी : झारखंड के पराक्रमी आंदोलनकारी एवं शहीद सिदो-कान्हू एवं चांद भैरव के द्वारा साहिबगंज जिला अंतर्गत भोगनाडीह गांव से आज ही के दिन 1855 में अंग्रेजों के दमन के खिलाफ विद्रोह का बिगुल फूंका गया था और ऐसा माना जाता है यह अंग्रेजों के खिलाफ आजादी की लड़ाई का पहला बिगुल भी था। इस अवसर पर कांग्रेस पार्टी के नेताओं के द्वारा इन शहीदों की मूर्ति पर माल्यार्पण करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। इस अवसर पर कांग्रेस नेता आनंद बिहारी दुबे, कोल्हान प्रमंडल के प्रवक्ता अतुल गुप्ता एवं प्रदेश कांग्रेस के पूर्व सचिव सह इंटक नेता संजीव श्रीवास्तव के द्वारा एक स्वर में झारखंड सरकार से मांग की गई की सरकार शहीदों के परिवार के बाल-बच्चों की शिक्षा-दीक्षा एवं रोजगार की व्यवस्था करे, ताकि हमारे शहीद के परिवार भी समाज के साथ कदम से कदम मिलाकर सिदो-कान्हू के आदर्शों को आगे बढ़ा सकें। इस अवसर पर कांग्रेस पार्टी के चाईबासा विधानसभा प्रभारी सामंत कुमार, शैलेंद्र सिंह, प्रदेश कांग्रेस के पूर्व सचिव एवं घाटशिला प्रभारी विजय यादव, प्रो सतीश कुमार, राजेश कुमार, सोनू सिंह, अमित सिंह, भीम सिंह, अमित पांडे, सरोज पांडे, राजू कुमार, ऋनाथ कुमार, गौरव कुमार, विकास कुमार, सतीश मिश्रा, सुशील घोष एवं अन्य उपस्थित थे। (नीचे भी पढ़ें)

नारायण आईटीआई : हूल दिवस के अवसर पर नारायण आईटीआई एनएच 32 लूपुंगडीह चांडिल झारखंड में 1855 के हूल आंदोलन के अगुआ सिदो-कान्हू, चांद-भैरव को याद करते हुए सिदो-कान्हू के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इस अवसर पर संस्था के चेयरमैन प्रो जटा शंकर पाण्डेय ने कहा कि सच्चाई तो यह है भारत की आजादी की लड़ाई की असली शुरुआत 1855 में ही हो गई थी, जिसकी अगु्आई सिदो-कान्हू, चांद-भैरव आदि महापुरुषों ने किया। 1857 के आंदोलन की प्रेरणा हूल आंदोलन से ही मिली। उन शहीदों के बलिदान को कभी भी नहीं भुलाया जा सकता है। आज उन शहीदों से देशभक्ति की प्रेरणा लेने की जरूरत है। इस अवसर पर कृष्णानंद ओझा, हरिश्चंद्र दास, शांति राम महतो, अजय मंडल, पवन कुमार महतो, निमाई मंडल व अन्य उपस्थित थे।

[metaslider id=15963 cssclass=””]

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!