jamshedpur-hul-kranti-diwas-कोल्हान में मनाया गया हूल क्रांति दिवस, जमशेदपुर में झामुमो क्रीड़ा मोरचा ने साइकिल यात्रा निकाली, पश्चिम सिंहभूम में भी याद किये गये हूल क्रांति के नायक, चंपई सोरेन ने सरायकेला में शहीदों को किया नमन, चाकुलिया में विधायक समीर ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि, जमशेदपुर में भाजपा ने मनाया विरोध दिवस, भाजपा ने किया रक्तदान, झामुमो विधायक मंगल कालिंदी ने दी श्रद्धांजलि, भारतीय जनमोरचा ने किया नमन

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर/सरायकेला/चाईबासा : कोल्हान में कई स्थानों पर हूल क्रांति दिवस मनाया गया. कई स्थानों पर इसका कार्यक्रम आयोजित किया गया.

Advertisement
Advertisement

पश्चिम सिंहभूम जिले में कांग्रेस ने मनाया हूल क्रांति दिवस
पश्चिम सिंहभूम जिला कांग्रेस की ओर से मंगलवार को हूल क्रांति दिवस के अवसर पर संथाल हूल के अमर नायक सिद्धू-कान्हू और चांद-भैरव के चित्र पर माल्यार्पण कर कांग्रेस भवन में श्रद्धासुमन अर्पित किये गये. सिंहभूम की सांसद गीता कोड़ा ने कहा कि झारखंड के महान सपूत सिद्धू-कान्हू व चांद-भैरव ने 1855 में अंग्रेजों के पोषण व अत्याचार के खिलाफ स्वाभिमान और आत्मसम्मान के लिए संघर्ष का बिगुल फूंका था. यह आन्दोलन 1857 के स्वतंत्रता आन्दोलन की पूर्व की पृष्टभूमि थी. यह सबसे अधिक संगठित और सशक्त आन्दोलन था, जो संथाली अपनी माटी व मातृभूमि के खातिर कुर्बान होने को तैयार हो गए. एक छोटे से गांव से हूल से शुरू हुआ आंदोलन पूरे संथाल में फैल गया, जो हुल दिवस के नाम से जाना जाता है. हम झारखंडवासियों को उन महान सपूतों के त्याग, संघर्ष, त्याग, बलिदान व उत्सर्ग से प्रेरणा लेकर झारखंड राज्य को विकास के पथ पर आगे बढ़ाते हुए समृद्ध और विकसित राज्य बनाने का संकल्प लेना चाहिए. इस मौके पर नीला नाग, दीनबंधु बोयपाई, पूनम हेम्ब्रम, कृष्णा सोय, त्रिशानु राय, शकीला बानो, मुकेश कुमार, राज कुमार रजक, बीएन पूर्ति, रजिया खातून, विकास वर्मा, जगदीश सुंडी, राकेश सिंह, सुशील कुमार दास सहित अनेक लोग शामिल थे.

Advertisement


झामुमो क्रीड़ा मोरचा ने निकाली साइकिल यात्रा
अमर
शहीद सिदो- कान्हू के शहादत दिवस को झारखण्ड में हूल दिवस के रूप में मनाया जाता है. वैसे कोरोना संकट को देखते हुए राज्य भर में कोई बड़ा कार्यक्रम आयोजित नहीं किया गया है. हालांकि पिछले 12 जून को सिदो- कान्हू के वंशज की निर्मम हत्या के बाद भाजपा ने शहीद के वंशज को न्याय मिलने तक हूल दिवस नहीं मनाने का संकल्प लेकर सरकार को घेरने का काम किया है. वहीं दूसरी तरफ सत्ताधारी दल झारखंड मुक्ति मोर्चा ने अलग अंदाज में केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. वैसे राजनीति की अगर हम बात करें तो दोनों ही दलों ने शहीद के नाम पर राजनीति करने के मामले में कोई कोर कसर नहीं छोड़ा है. वहीं हूल दिवस के मौके पर जमशेदपुर में झारखंड क्रीडा मोर्चा ने साइकिल रैली निकालकर केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ केंद्र सरकार पर हमला बोला है. क्रीड़ा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज यादव ने केंद्र सरकार पर झारखंड का कोयला विदेशी हाथों में बेचने का आरोप लगाते हुए कहा है, कि केंद्र की सत्ता पर आसीन भारतीय जनता पार्टी विदेशी ताकतों के आगे पूरी तरह से घुटने टेक चुकी है. श्री यादव ने केंद्र पर पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में बढ़ोतरी का आरोप लगाते हुए एक और हूल की चेतावनी दी है. उन्होंने कहा कि अगर झारखंड का कोयला बाहरी कंपनियों के हाथों बेचना बंद नहीं हुआ और पेट्रोल व डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी नहीं रुकी तो झारखंड की धरती से एक और हुल विद्रोह होगी. आपको बता दें कि 1855 में अमर शहीद सिदो- कान्हू ने अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ जबरदस्त लड़ाई छेड़ी थी, जिसे देश में हूल क्रांति के रूप में जाना जाता है. जहां आज के ही दिन अंग्रेजों हुकूमत के खिलाफ लड़ते हुए सिदो- कान्हू, चांद- भैरव और फूलो- झानो शहीद हो गए थे.

Advertisement


सरायकेला में परिवहन मंत्री चंपई सोरेन ने याद किया शहीदों को
इधर हूल दिवस के मौके राज्य के परिवहन मंत्री चंपई सोरेन ने सिदो कान्हो की तस्वीर पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की. सरायकेला के टायो स्थित जाहेर थान के सामुदायिक भवन में हूल दिवस के मौके पर राज्य के परिवहन मंत्री चंपई सोरेन शामिल हुए. जहां उन्होंने सिदो कान्हू के तस्वीर पर माल्यार्पण कर अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किये. जिसके बाद झामुमो के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने शारीरिक दूरी का पालन करते हुए बारी- बारी से श्रद्धांजलि अर्पित किया. वहीं मंत्री चंपई सोरेन ने कहा कि हूल दिवस पर प्रत्येक वर्ष कार्यक्रम का आयोजन किया जाता था, लेकिन इस वर्ष कोरोना महामारी को देखते हुए हूल दिवस धूमधाम से नहीं मनाकर ब्रिटिश साम्राज्यवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाले वीर शहीद सिदो- कान्हू के बलिदान को याद करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की गई है. साथ ही उन्होंने कोरोना महामारी से बचाव को लेकर सीएम हेमंत सोरेन के प्रयासों की सराहना की.

Advertisement


विधायक समीर महंती ने कई जगह पर सिदो- कान्हू की मुर्ति पर मल्यार्पण कर श्रधांजली दी
मंगलवार को हूल दिवस के अवसर पर बहरागोड़ा के विधायक समीर महंती ने प्रखंड के विभिन्न गांव का दौरा कर गांव में स्थापित सिदो-कान्हु की मुर्ति पर माल्यार्पण कर श्रधांजली दी.श्री महंती ने युवाओं से कहा कि युवा सिदो -कान्हु की जिवनी से प्रेरणा ले और उनके बताये मार्ग पर चले तभी समाज और राज्य का विकास होगा.उन्होंने प्रखंड के चियाबांधी गांव , पाकुड़ियाशोल, मुटुरखाम चौक,माछकांदना चौक में वीर शहीद सिदो-कान्हु की मूर्ति पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की. मौके पर झामुमो प्रखंड अध्यक्ष साहेब राम मांडी, डोमन माझी, मुखिया श्याम मांडी ,धनंजय करुणामाय, घनश्याम महतो, तरुण महतो,कारु मुर्मू,बलराम महतो ,डॉ पंकज महतो, विशाल बारिक,मंजु टुडु, मौसमी मल्लिक, निर्मल महतो, पप्पु सिंह, बुलबुल मंडल, सरोज जेना, झंटू भोल, निपेन महतो समेत अन्य उपस्थित थे.

Advertisement

वीर सिद्धू-कान्हू को जुगसलाई के झामुमो विधायक मंगल कालिंदी ने दी श्रद्धांजलि
हुल दिवस के अवसर पर जुगसलाई विधानसभा क्षेत्र के विधायक मंगल कालिंदी ने खुकराडीह टोपोडुंगरी में वीर सिधु कान्हू के वंसज रामेश्वर मुर्मू और शहीद गणेश हांसदा को श्रद्धांजलि अर्पित की. इस मौके पर झामुमो के केंद्रीय सदस्य महावीर मुर्मू, झामुमो किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष लव सरदार, पलटन मुर्मू, हितकु पंचायत अध्यक्ष राजेन हांसदा, जेडी सिंह, संजय दस आदि लोग उपस्थित थे. परसुडीह के हलुदबनी के सिद्धू-कान्हू चौक में सत्तारूढ़ दल के सचेतक सह जुगसलाई विधायक मंगल कालिंदी ने संथाल विद्रोह के महानायक सिद्धू-कान्हू को श्रद्धांजलि अर्पित की. इस मौके पर विधायक मंगल कालिंदी ने श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि अत्याचार और गुलामी से निजात पाने के लिए पहली लड़ाई लड़ी गयी थी जिसे हूल दिवस के रूप में आज हम मना रहे हैं. सिद्धू-कान्हू के विचारों पर आज हम सभी को चलना चाहिए. संथाल विद्रोह के इन नायकों ने जल, जंगल जमीन की रक्षा के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया था. इस मौके पर झामुमो जमशेदपुर प्रखंड कोषाध्यक्ष मनोज नाहा, अभिषेक सिंह, निमाई हेम्ब्रम, जीतराई मुर्मू, राकेश चक्रवर्ती आदि लोग उपस्थित थे. इसी तरह परसुडीह के सरजामदा के घंटीटोला पंचायत सचिवालय में वीर सिद्धू-कान्हू को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए जुगसलाई के विधायक मंगल कालिन्दी ने सभी को शहीदों का सपना साकार करने की गुजारिश की. इस मौके पर झामुमो जिला उपाध्यक्ष सागेन पूर्ति, मनोज नाहा, पंचायत की मुख्या, आदि ग्रामीण उपस्थित थे.

Advertisement

भाजपा ने विरोध दिवस मनाया, जमशेदपुर डीसी ऑफिस में सौंपा ज्ञापन, भाजपा ने आयोजित की रक्तदान शिविर
भाजपा द्वारा विरोध दिवस के रुप में हूल दिवस को मनाया गया. इस मौके पर भाजपा के घाटशिला के पूर्व विधायक लक्ष्मण टुडू के नेतृत्व में जमशेदपुर के डीसी को एक ज्ञापन सौंपा गया. इन लोगों ने यहां वीर शहीद के परिवार की हत्या का विरोध किया. गौरतलब है कि भोगनाडीह निवासी शहीद सिदो मुर्मू के वंशज की हत्या हो चुकी है. इस मामले को लेकर जब मामला उठाया गया तो भाजपा की ओर से एक ज्ञापन डीसी को सौंपा गया. इन लोगों ने सिदो मुर्मू के वंशज रामेश्वर मुर्मू की हत्या की मांग मुख्यमंत्री और राज्यपाल से की. इस दौरान भाजपा नेता बिनोद सिंह समेत कई अन्य लोग मौजूद थे.

Advertisement

भाजपा ने किया रक्तदान का आयोजन
भाजपा ने रक्तदान का आयोजन किया है. इस रक्तदान शिविर में काफी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया. भाजपा नेता बारी मुर्मू के नेतृत्व में इसका आयोजन किया गया, जिसमें सांसद विद्युत वरण महतो ने हिस्सा लिया. इन लोगों ने रक्तदान किया. रक्तदान में काफी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया. इस दौरान लोगों ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया.

Advertisement

भारतीय जनमोरचा ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

Advertisement

सन 30 जून 1855 को वीर सिद्धू कान्हू जी का बलिदान दिवस पर, आज भारतीय जन मोर्चा पश्चिम मानगो एवं उलीडीह मंडल के तत्वावधान में क्रांतिकरी सिद्धू कानू जी की प्रतिमा पर माला अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई. सभी शहीद वीरों को नमन किया गया. इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से पश्चिम संयोजक- मुकुल मिश्रा, जिला सह संयोजक कुलविंदर सिंह पन्नु, पश्चिम सह संयोजक प्रवीण सिंह, मानगो संयोजक संतोष भगत, उलीडीह संयोजक धर्मेन्द्र प्रसाद, आकाश शाह, राजेश कुमार, रीना सिंह, सुशीला सिंह, जीतू पांडेय, राजदीप दत्ता, राजेश जी, धनंजय ठाकुर, संतोष सिन्हा के साथ ही भाजमो के कई कार्यकर्ता उपस्थित थे.

Advertisement


Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement

Leave a Reply