Jamshedpur : शिक्षकों की समस्याओं को लेकर डीएसई से मिला झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ, वार्ता की, मिला आश्वासन

राशिफल

जमशेदपुर : झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ का प्रतिनिधिमंडल संघ के जिलाध्यक्ष अरुण कुमार सिंह की अध्यक्षता में जिला शिक्षा अधीक्षक (डीएसई) पूर्वी सिंहभूम से मिला। इस दौरान संघ नेताओं ने विभिन्न समस्याओं के समाधान के लिए डीएसई के साथ वार्ता की। शिक्षकों ने अपनी समस्याओं की चर्चा करते हुए डीएसई से कहा कि वर्ष 1994 में नियुक्त शिक्षकों के लिए एक ही संवर्ग के कनीय शिक्षक का वेतन वरीय से अधिक होने के आलोक में संपूर्ण वेतन का निर्धारण के लिए करीब 6 माह से सेवा पुस्तिका व सुसंगत प्रपत्र कार्यालय में जमा है । जिला शिक्षा अधीक्षक द्वारा बहुत जल्द इसके निष्पादन करने को कहा गया। पूरक पोषाहार अंतर्गत सप्ताह में 2 दिन प्रति छात्र 6 रुपये की दर से अंडा फल देने का प्रावधान है, परंतु वर्तमान में एक अंडे का बाजार मूल्य 7 रुपये है । निरीक्षण में पदाधिकारियों द्वारा अंडा ही खिलाने का दवाब दिया जा रहा है। इस संबंध में उचित मार्गदर्शन की मांग की गई। (नीचे भी पढ़ें)

कहा गया कि प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी जमशेदपुर टू द्वारा छात्रों के शत-प्रतिशत बैंक खाता का आवेदन न जमा होने के कारण करीब 18 विद्यालयों के प्रभारी प्रधानाध्यापक सहित शिक्षकों का वेतन अगले आदेश तक स्थगित किया गया है। इस संबंध में जिला शिक्षा अधीक्षक से आग्रह किया गया कि 18 विद्यालय में मात्र 158 ऐसे बच्चे हैं जिनकी उंगली के निशान या माता-पिता नहीं होने के कारण बैंक खाता नहीं खुल पा रहा है। 18 विद्यालयों में 96% छात्रों का बैंक खाता खुल चुका है या खोलने की प्रक्रिया में है। शेष के लिए भी शिक्षक प्रयासरत है। अतः वेतन का भुगतान करने का आदेश दिया जाए। जिला शिक्षा अधीक्षक द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी को वेतन निर्गत करने का आदेश दिया गया। (नीचे भी पढ़ें)

संघ के नेताओं ने डीएसई को बताया कि पीएफएमएस निकासी करने में शिक्षकों को परेशानी हो रही है। वित्तीय वर्ष समाप्त होने में अभी 4 महीने बाकी है फिर भी पूरा पैसा खर्च करने को कहा जा रहा है। यदि अभी पूरे की राशि खर्च कर दी जाती है तो अगले 4 महीने तक विद्यालय कैसे चलेगा? जिले के विद्यालयों में मध्यान्ह भोजन योजना अंतर्गत चावल विद्यालय पहुंचाने की व्यवस्था डोर स्टेप डिलीवरी के माध्यम से करवाने की व्यवस्था प्रारंभ करने के लिए मांग की गई। सरल एवं माध्यमिक, प्राथमिक एवं उत्क्रमित उच्च विद्यालयों में एक समान अवकाश तालिका लागू हो। सरल एवं स्पष्ट स्थानांतरण नीति प्रभावी होना चाहिए। स्थानांतरण से संबंधित जानकारी संघ को भी दिया जाए ताकि त्रुटि रहित स्थानांतरण समय पर और सही तरीके से हो सके। प्रतिनिधिमंडल में जमशेदपुर अंचल अध्यक्ष राजेंद्र कुमार कर्ण, कृष्ण चंद्र दास,बवन ओझा, रामाकांत शुक्ला, राजेश कुमार सिन्हा, संतोष कुमार शर्मा, ज्ञानरंजन समेत अन्य शिक्षक शामिल थे।

Must Read

Related Articles