Jamshedpur-Local-Trailer-Honor-Union : जमशेदपुर लोकल ट्रेलर ऑनर यूनियन ने उठायी झारखंड में वाहन टैक्स परमिट की राशि कम करने के लिए आवाज, कहा-टेम्पो, 407, बस, माल ढुलाई वाली तमाम छोटी-बड़ी गाडियां, दो पहिया वाहनों की रजिस्ट्रेशन फीस कम होनी चाहिए-Video

राशिफल

जमशेदपुर : जमशेदपुर लोकर ट्रेलर आनर यूनियन ने राज्य सरकार के समक्ष अपनी मांगें रखी है. यूनियन की ओर से कहा गया है कि झारखण्ड और बिहार राज्य का बंटवारा होने के बाद राज्य का क्षेत्रफल छोटा होने के बावजूद टैक्स परमिट की राशि में किसी प्रकार की कमी नहीं की गयी. अतः टैक्स की अदायगी में दण्ड शुल्क एवं समय निर्धारण सीमा समाप्त की जाय. कोविड-19 प्रभावी काल का टैक्स परमिट एवं इंश्योरेंस माफ किया जाय। कोविड-19 काल में 2 वर्ष जो सरकार के आदेश से गाड़ी खड़ रखी गयी उसका क्षतिपूर्ति सरकार वहन करे. कोविड काल में जो डीजल के वैट में वृद्धि की गयी उसे वापस लिया जाये. झारखण्ड सरकार समस्त गाड़ियों के नये निबंधन के समय एक मुश्त 15 वर्ष का निबंधन शुल्क लेती है. वार्षिक परमिट लेती है. रोड टैक्स और इंश्योरेंस लेती है. फिर उसी सड़क पर चलने के लिए टोल टैक्स वाणिज्यिक और निजी वाहनों के लिए क्यो वसूला जाता है. (नीचे भी पढ़ें और वीडियो देखें)

यूनियन की ओर से अपनी मांगों को रखते हुए यह भी कहा गया है कि झारखण्ड राज्य में दूसरे राज्य की निबंधित गाड़ी जो चल रही हैं उसका पीए झारखण्ड राज्य के अंतर्गत होना निश्चित किया जाय तथा पीए से पहले बिना निबंधन स्वीकृति वाले राज्य से अनापत्ति प्रमाण पत्र की प्राप्ति का पीए नहीं कराया जाय. दूसरे राज्य के निबंधन वाली गाड़ी का इस राज्य में परमिट फेल होने की स्थिति में निर्धारित औपबन्धिक शुल्क का प्रावधान रखें. हेलमेट और सीट बेल्ट के नाम पर ट्राफिक पुलिस की प्रताड़ना को रोका जाय. व्यवसायिक निजी गाड़ी का दस्तावेज नहीं उपलब्ध रहने या हेलमेट नहीं होने की स्थिति में दण्ड भुगतान रसीद काट कर न्यायालय में भेजने का प्रावधान करें न कि उनके नाम पर अवैध वसूली के विभाग द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा है. थर्ड पार्टी इंश्योरेंस जो गाड़ियों की होती है उसमें बड़ी गाड़ियां, छोटी गाड़ियों का मूल्य बहुत ज्यादा है. बड़ी गाड़ियों में जैसे 50 हजार लिया जाता है जिसमें मालिक को कुछ नहीं मिलता है. भारत एक देश है, कहीं भी कोई रोजगार कर सकता है. उसे जबरन कोई रोक नहीं सकता है. कोई भी अपनी गाड़ी कहीं से भी रेजिस्ट्रेशन करवा सकता है. टेम्पो, 407, बस, माल ढुलाई वाली तमाम छोटी-बड़ी गाडियां, दो पहिया वाहनों की रजिस्ट्रेशन फीस कम होनी चाहिए तथा इंश्योरेन्स परमिट का मूल्य कम होनी चाहिए.

Must Read

Related Articles