jamshedpur-mla-saryu-roy-जमशेदपुर पूर्वी के विधायक ने जनसंघ के संस्थापक पंडित दीनदयाल उपाध्याय को किया याद, दी श्रद्धांजलि, सरायकेला में भी सरयू ने अपनी उपस्थिति दर्ज करायी, पंडित दीनदयाल के नाम पर भाजपा पर साधा निशाना

Advertisement
Advertisement
सरायकेला में आयोजित कार्यक्रम.

जमशेदपुर : पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 104 वी जयंती के मौके पर झारखंड सरकार के पूर्व मंत्री रहे वर्तमान में जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय सरायकेला पहुंचे. जहां उन्होंने भारतीय जन मोर्चा द्वारा गम्हरिया में आयोजित जयंती समारोह में शिरकत की. सरयू राय ने बताया कि देश की आजादी के बाद सबसे पहली राजनीतिक पार्टी अगर कोई थी तो वह जनसंघ थी. जो आज भारतीय जनता पार्टी बन गई है. उन्होंने बताया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय जनसंघ के संस्थापक सदस्यों में से एक थे. उनके आदर्शों को भारत ने मान लिया है और यही कारण है कि आज भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता ही देश के प्रधानमंत्री हैं और कई राज्यों में भाजपा की सरकारें भी है, लेकिन पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजनीति में जैसे चाल-चरित्र और चेहरे के लोगों को लाना चाहते थे. वैसे चाल- चरित्र और चेहरे वाले लोग राजनीति में नहीं है. उन्होंने बताया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय का सपना अभी भी अधूरा ही है. वैसे भारतीय जनमोर्चा को उन्होंने पंडित दीनदयाल उपाध्याय के आदर्शों को मानकर चलने वाला पार्टी बताया, और कहा कि भारतीय जनमोर्चा पंडित दीनदयाल उपाध्याय के सपनों को साकार करेगी. गौरतलब है कि झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 में भाजपा से टिकट काटे जाने के बाद सरयू राय ने जमशेदपुर पूर्वी से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा और 25 सालों से भारतीय जनता पार्टी के अभेद्य किला रहे जमशेदपुर पूर्वी को ध्वस्त करते हुए उन्होंने जीत हासिल की थी. जहां पिछली सरकार में मुख्यमंत्री रहे रघुवर दास को हार का सामना करना पड़ा था. उसके बाद सरयू राय ने अपना अलग पार्टी भारतीय जन मोर्चा का गठन किया. वैसे पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के बहाने सरयू राय ने एक साथ कई निशाने साधे है. जनसंघ के आदर्शों को मानने वाली पार्टी भाजपा है, या भारतीय जन मोर्चा ये भी एक बड़ा सवाल है.

Advertisement
Advertisement
बिष्टुपुर मिलानी हॉल में आयोजित कार्यक्रम.

जमशेदपुर में सरयू राय व उनकी पार्टी ने स्वर्गीय पंडित दीनदयाल को दी श्रद्धांजलि
भारतीय जनता मोर्चा, जमशेदपुर महानगर द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के उपलक्ष्य में एक कार्यक्रम का आयोजन बिष्टुपुर स्थित मिलानी हॉल में किया गया. इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय उपस्थित थे. उन्होंने पंडित दीनदयाल के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कई बातें कही. उन्हीने बताया कि देश की आजादी के पहले कांग्रेस जैसे राजनीतिक दल के साथ ही कई सामाजिक संगठनों ने एक विचार के साथ किस देश को आजाद करना है आजादी की लड़ाई लड़ी. सबके तरीके अलग है, मगर सबका मकसद एक था देश की आजादी. परंतु आजादी के पश्चात कई बुद्धिजीवियों को लगने लगा कि अब क्योंकि देश आजाद हो चुका है विचारधारा यह बदलनी होगी और भारतीय जनसंघ का स्थापना हुआ. भारतीय जनसंघ के पहले महामंत्री पंडित दीनदयाल उपाध्याय हुए और इसके अध्यक्ष डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी थे. अब तक मौजूद सभी राजनीतिक दलों में सामाजिक संगठन में सीमित विचारधाराएं देखने को मिलती थी मगर जनसंघ में अखिल भारतीय स्तर की विचारधाराएं मौजूद थे. पंडित दीनदयाल उपाध्याय की विचारधारा में देश एवं समाज के अंदर मौजूद सामाजिक बुराइयों एवं कुरीतियों को दूर करना था। उन्होंने लोगों में मौजूद आर्थिक विसंगीतियों को दूर करने का प्रयास किया. भारतीय जन संघ के अध्यक्ष डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने तो दीनदयाल उपाध्याय के बारे में यहां तक कहा था कि यदि देश में और 5 दीनदयाल उपाध्याय हो जाएं तो देश की तस्वीर बदल जाएगी.

Advertisement
साकची दीनदयाल भवन में श्रद्धांजलि अर्पित करते सरयू राय व अन्य.

श्री राय ने बताया कि प्रत्येक व्यक्ति को एक लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए कि वह क्या करना चाहते हैं और क्यों करना चाहते हैं. और इसी के साथ अपने आचरण के अनुसार समाज को बेहतर बनाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति अपना योगदान दें. मंच पर भारतीय जन मोर्चा के केंद्रीय महामंत्री संदीप आचार्य एवं जमशेदपुर महानगर के अध्यक्ष रामनारायण शर्मा उपस्थित थे. उन्होंने भी पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर अपने विचार रखे. कार्यक्रम में मंच का संचालन भाजमो जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा के संयोजक मुकुल मिश्रा ने और स्वागत भाषण जमशेदपुर पूर्वी के संयोजक अजय सिन्हा ने तथा धन्यवाद ज्ञापन रूपेश झा ने किया. कार्यक्रम में मुख्य रूप से केन्द्रीय महामंत्री संजीव आचार्य, जिला संयोजक रामनारायण शर्मा, जुगसलाई विधानसभा के संयोजक भास्कर मुखी, पोटका विधानसभा के संयोजक प्रभुराम मुंडा, जिला सह संयोजक कुलविंदर सिंह पन्नु, महिला मोर्चा के संयोजक ब्यूटी तिवारी, सुधीर सिंह, हरेराम सिंह, सुबोध श्रीवास्तव, राकेश पांडेय, मुन्ना सिंह, राकेश सिंह, प्रवीण सिंह, वंदना नामता, विभिन्न मंडल के संयोजक जिसमें धनजी पाण्डेय, मनोज सिंह उज्जैन, विजय नारायण सिह, एम चन्द्रशेखर राव, राम कृष्ण दूबे, बिनोद राय, नागेन्द्र सिंह, प्रमोद मिश्रा, बीरेन्द्र सिंह, अरविंद महतो, धनजी पाण्डेय, संतोष भगत, धर्मेन्द्र प्रसाद, राजीव चैहान, आकाश साह, राघवेन्द्र प्रताप सिंह, पप्पू सिंह सूर्यवंशी, राजू सिंह, जीतू पांडेय, विकास सिंह, रीना सिंह, अशोक कुमार, सतीश गुप्ता, साधना मिश्रा, सुनीता सिंह, किरण सिंह, काशीनाथ प्रधान, संजय सिंह, नंदिता गागराई, सोनी सिंह, पुतुल सिंह, चंदा सिंह, रेणु शर्मा, काकुली मुखर्जी, मनोरमा सिंह सहित कई भाजमो कार्यकर्ता उपस्थित थे.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply