jamshedpur-mla-saryu-roy-vs-administration-जमशेदपुर पूर्वी के विधायक के एमएलए फंड से काम को लटकाया गया, जमशेदपुर अक्षेस पर नकेल कसा, जमशेदपुर डीसी की शिकायत विधानसभा समिति से की, मामला गर्माने की संभावना

राशिफल

जमशेदपुर : जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय ने निविदा हो जाने के काफ़ी दिन बाद भी अपने क्षेत्र की विकास योजनाओं पर काम शुरू नहीं होने पर चिंता व्यक्त की है और जमशेदपुर अक्षेस के विशेष पदाधिकारी को काम शीघ्र आरम्भ कराने के लिए कहा है़. उन्होंने जमशेदपुर अक्षेस के विशेष पदाधिकारी को पत्र लिखकर कहा है कि उनके विधानसभा क्षेत्र की दो दर्जन से अधिक परियोजनाएं ऐसी हैं जिनका शिलान्यास हुए महीना भर से अधिक हो गया. परंतु इन पर काम शुरू नहीं हुआ. कतिपय परियोजनाएं तो ऐसी हैं जिनका निविदा निष्पादन एवं शिलान्यास अक्षेस के पूर्ववर्ती विशेष पदाधिकारी के कार्यकाल में ही हो गया था. परंतु इन पर भी काम अभी तक शुरू नहीं हुआ. सूचना मिल रही है कि बहुतेरी परियोजनाओं पर काम शुरू नहीं होने का कारण अक्षेस और निविदा से चयनित संवेदक के बीच कार्य आरम्भ संबंधी समझौता नहीं हो पाना है. कई संवेदक समझौता करने के लिए प्रयास कर रहे हैं परंतु सफल नहीं हो पा रहे हैं. समझौता प्रक्रिया अत्यंत धीमी होने, कतिपय संवेदकों के साथ अक्षेस का समझौता हो जाने और बहुतों के साथ समझौता नहीं होने का कारण समझ से परे है. (नीचे भी पढ़ें)

यदि कोई संवेदक निविदा में सफल होने के काफ़ी दिन बाद तक और अक्षेस के साथ कार्यारम्भ संबंधी समझौता कर लेने के बावजूद काम शुरू नहीं कर पा रहा है अथवा किसी की रुचि कार्यारम्भ समझौता नहीं करने में है तो उनके विरूद्ध कारवाई करें और यदि अक्षेस के किसी पदाधिकारी या पदाधिकारियों के कारण इसमें विलंब हो रहा है तो उसपर / उनपर भी कारवाई करें. आग्रह है कि उपर्युक्त श्रेणी की लंबित परियोजनाओं के बारे में मुझे यथाशीघ्र जानकारी दें. यह आग्रह भी है कि किसी परियोजना का निविदा निष्पादन हो जाने के बाद कार्य समझौता होने की अवधि निर्धारित करें और कार्य समझौता होने के बाद कार्य पूरा होने की भी एक निश्चित अवधि निर्धारित करें. साथ ही समय सीमा के भीतर कार्य पूरा हो इसकी ज़िम्मेदारी भी सुनिश्चित कर सकें तो बेहतर होगा. अनुरोध है कि इस संबंध में एक सप्ताह के भीतर यथेष्ट कारवाई सुनिश्चित करेंगे ताकि विकास परियोजनाओं पर कार्य शीघ्र शुरू हो और निर्धारित गुणवता के साथ और निर्धारित अवधि के भीतर काम पूरा हो. (नीचे भी पढ़ें)

डीसी की मनमर्जी को लेकर विधानसभा के समिति को लिखा पत्र
विधायक सरयू राय ने विधायक निधि का क्रियांवयन नहीं होने और जमशेदपुर डीसी द्वारा एजेंसी बदले जाने को लेकर एक शिकायत पत्र विधानसभा के विधायक निधि अनुश्रवण समिति को लिखी है. उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि उनका विधानसभा क्षेत्र पूर्णतः शहरी क्षेत्र है, जो जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र समिति के अंतर्गत है. उनके विधायक निधि से होने वाले कार्यों का क्रियान्वयन करने के लिये उन्होंने जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र समिति को कार्यकारी एजेंसी के लिये अनुशंसित किया है. तदनुसार यह कार्य होते आ रहा है. परंतु पूर्वी सिंहभूम ज़िला की वर्तमान उपायुक्त, जो उप विकास आयुक्त का पदभार भी संभाल रही हैं, अपने अनुसार विधायक की अनुशंसा पर सरकार के विभिन्न कार्य विभागों को इस हेतु आदेश दे दे रही हैं. चूंकि ज़िला योजना से होने वाले कार्य भी जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र समिति की देखरेख में होते हैं इसलिये विधायक निधि से होने वाले कार्यों के लिये अधिसूचित क्षेत्र समिति को एजेंसी तय करने से योजनाओं के चयन, देखरेख, मरम्मत, अनुरक्षण एवं क्रियान्वयन में सुविधा एवं सुगमता होती है. इसे ध्यान में रखकर विधायक ने जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र समिति को विधायक निधि से होने वाले कार्यों को करने के लिए एजेंसी चयन की अनुशंसा की है. पूर्व में कभी कोई बाधा नहीं आई. परंतु वर्तमान उपायुक्त इसे नहीं मान रही हैं और अपने मन से कार्यकारी एजेंसी तय कर दे रही हैं.

Must Read

Related Articles