spot_img

Jamshedpur-murder-of-relationships : जमशेदपुर में रिश्तों का हो रहा कत्ल, कहीं पिता अपने बच्चे की, तो कहीं पत्नी पति की और कहीं बेटा बाप की कर दे रहा हत्या, देखिये, कैसे परिवार में ही हो रही है हत्या, कितने अमानवीय हो रहे हैं हम

राशिफल

  • रोहित कुमार

Jamshedpur : शहर में आए दिन हत्या (murder) की वारदातें होती रही है. कहीं वर्चस्व को लेकर, तो कहीं अन्य कारणों से. हैरानी की बात ये है कि अब लोग अपने रिश्तेदारों (Relatives) का भी कत्ल करने से पीछे नहीं हट रहे. रिश्तों में आई थोड़ी सी खटास के बाद बात इतनी बढ़ जाती है कि लोग अपनों की हत्या करने पर उतारू हो जाते हैं. बीते दिनों बुधवार को सोनारी निवासी सुप्रियो घोष ने अपनी 5 वर्षीय सौतेली बेटी की हत्या कर दी, तो वहीं शुक्रवार को एमजीएम थाना क्षेत्र में शुक्रवार की रात एक पत्नी ने कुल्हाड़ी से अपने ही पति की हत्या कर दी. शहर में आए दिन ऐसी घटनाएं हो रही हैं. पारिवारिक ताना-बाना टूटने से रिश्तों में दूरियां बढ़ रही हैं. नतीजतन अपनों का खून बह रहा है. अगर बात जनवरी से लेकर अब तक की की जाए तो इसी साल कई ऐसे मामले सामने आये हैं, जहां कहीं पिता ने अपने सौतेले बच्चे की, तो कहीं पत्नी ने ही अपने पति कर कत्ल कर दिया.

केस-1
24 मार्च को बागबेड़ा कॉलोनी निवासी सिक्युरिटी गार्ड का काम करने वाले जितेंद्र ने पत्नी से झगड़े के बाद पत्नी और दो बच्चों को चाकू से गोदकर हत्या कर दी थी. बाद में वह रात भर शव के साथ ही सोया रहा.

केस-2
5 मई को उलीडीह के कुंवर बस्ती निवासी मो शमशेर ने अपने आठ साल की सौतेले बच्चे को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया था. बच्चे का कसूर बस इतना था की वह उसकी पत्नी के पहले पति से था. इस बात को लेकर आए दिन पति-पत्नी के बीच झगड़ा होता रहता था. मौका पाकर शमशेर ने हाइवे किनारे ले जाकर पत्थर से कूचकर उसकी हत्या कर दी.

केस-3
उक्त घटना के मात्र 10 दिन बाद ही एक और दर्दनाक घटना सामने आई. उलीडीह थाना क्षेत्र के राजीव पथ निवासी सागर सिन्हा ने अपनी पांच वर्षीय सौतेली बेटी को पटक कर मार दिया. बच्ची ने बिस्तर पर लघुशंका कर दिया था. इसी बात से गुस्सा होकर सागर ने उसे जमीन पर पटक दिया, जिससे बच्ची की मौत हो गई.

केस-4
सोनारी थाना अंतर्गत स्वर्णरेखा नदी के किनारे पुलिस ने पांच वर्षीय बच्ची का शव बरामद किया. शव नग्न अवस्था में था और उसके बाएं हाथ की कलाई भी गायब थी. पुलिस ने जब इस मामले की तफ्तीश की तो परिणाम चौंकाने वाला था. बच्ची की हत्या उसी के सौतेले पिता सुप्रियो घोष ने की थी. सुप्रियो अपनी पत्नी रजनी से अपना बच्चा जनने का दबाव बनाता था, पर रजनी इस बात से इंकार करती थी, जिसके बाद उसने बच्ची को मारने का प्लान बनाया और मौका मिलते ही उसे मारकर नदी किनारे फेंक दिया.

केस-5
एमजीएम थाना अंतर्गत शुकलाड़ा गांव निवासी बुधनी सबर ने पति उपेंद्र सबर से झगड़ा होने के बाद कुल्हाड़ी से मारकर उसकी हत्या कर दी. घटना के समय दोनों नशे की हालत में थे. दौनों के बीच अक्सर झगड़ा होता था. गुस्से में आकर उसने पति की हत्या कर दी.

क्या कहते हैं मनोचिकित्सक और समाज शास्त्री
आज कल लोग अपने बारे में ही सोचने लगे हैं. समाज में नैतिक मूल्यों का पतन हो रहा है. यही कारण है कि लोग अपनों से दूर होते जा रहे हैं. बच्चों को सही शिक्षा नहीं मिल पा रही है. इसे रोकने के लिए नैतिक मूल्यों में वृद्धि करने की जरूरत है.
डॉ संजय अग्रवाल, मनोचिकित्सक, टाटा मेन अस्पताल

नैतिक मूल्यों के ह्रास की वजह से लोग अपने परिवार वालों को नहीं समझ पा रहे हैं, कोविड -19 की वजह से जो परिस्थितियां उत्पन्न हुई हैं, उससे यह और ज्यादा बढ़ चुका है. इसे रोकने के लिए सरकार द्वारा नई शिक्षा नीति लागू की गई है, जिससे इसमें काफी हद तक मदद मिल सकती है.
डॉ सरोज कुमार मिश्र, सहायक क्षेत्रीय निदेशक, इग्नू, देवघर

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
[adsforwp id="129451"]

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!