spot_imgspot_img
spot_img

Jamshedpur : टाटा स्टील के रिटायर्ड कर्मचारियों ने निबंधितों के नियोजन में हो रही देरी को लेकर जताया विरोध, टाटा वर्कर्स यूनियन कार्यालय में करेंगे एकदिवसीय अनशन

जमशेदपुर : टाटा स्टील के रिटायर्ड कर्मचारियों ने निबंधितों के नियोजन में हो रही देरी के विरोध में अगले हफ्ते अपने पूरे परिवार और निबंधितों के साथ टाटा वर्कस यूनियन के कार्यालय के सामने अनशन करने के निर्णय लिया है। इस संबंध में गुरुवार को उन्होंने टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष के नाम एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गयाय है कि हम सभी टाटा स्टील के सेवानिवृत्त कर्मचारियों को लगा कि अगर हम अपने निबंधित पुत्रों और पुत्रियों के नियोजन की गुहार लगाएगें, तो शायद हमारी बातों को टाटा स्टील और टाटा वर्कस यूनियन जरूर सुनेगी। लेकिन इतना समय बीत जाने के बाद भी हमारी बातो को नहीं सुना जाना और कल निबंधितों की NEET कंपनी में नियोजन की घोषणा नहीं करके, केवल बोनस की ही घोषणा करना, यह दर्शता है कि अब नैतिकता का स्थान निजी स्वार्थ और लालच ने ले लिया है। जब आर रवि प्रसाद और सुरेश दत्त त्रिपाठी ने कई महीने पहले ही NEET कंपनी बनाकर लगभग सभी निबंधितों के लिए टाटा स्टील में रोजगार का रास्ता खोल दिया है, तो वर्तमान टाटा वर्कस यूनियन की ऐसी क्या मजबूरी है कि अबतक वो NEET कंपनी में नियोजन को लेकर एक नोटिफिकेशन तक नही निकाल पाई? टाटा वर्कस यूनियन की आंखों के नीचे टाटा ऑटोन बनाकर बाहरी (ठेका कर्मचारी) लोगों का नियोजन बडे-बड़े पैकेजों पर हो गया और ये कुम्भकरणी नींद सोते रहे। (नीचे भी पढ़ें)

सेवानिवृत्त कर्मचारियों ने जानना चाहा है कि टिस्को अप्रेंटिस की सारी प्रक्रिया फॉर्म भरने से लेकर लिखित परीक्षा महज 28-30 दिनों के अंदर हो सकती है, तो निबंधितों की मार्च महीने में निकाली गई बहाली, इतने महीने बीत जाने के बाद भी क्यों नही हुई? अगर सच में टाटा वर्कस यूनियन को इस कोरोना काल मे मरे अपने कर्मचारियों के आश्रितों की चिंता होती तो आप इन आश्रितों को इस दुःख की घड़ी में फॉर्म और लिखित परीक्षा की आग में नहीं झोंकते। आप इन मृत आश्रितों की मनोस्थिति को देखते हुए इनका सीधे नियोजन बिना किसी भी लिखित परीक्षा के टाटा स्टील में ठीक उसी तरह करवाते जैसे टाटा स्टील परिसर में किसी दुर्घटना के कारण मृत कर्मचारियों के आश्रितों का होता आया है। सेवानिवृत्त कर्मचारियों ने यूनियन के अध्यक्ष से निवेदन किया है कि यूनियन इन मृत आश्रितों का नियोजन बिना किसी मानसिक तनाव के NEET कंपनी में करवाए। निबंधितों की बहाली के नाम पर नए-नए परपंच रचना बंद करे। अगर टाटा वर्कस यूनियन विगत कुछ दिनों के अंदर NEET कंपनी में निबंधितों की बहाली प्रक्रिया प्रारम्भ नही करती है या NEET कंपनी में नियोजन संबंधित कोई नोटिफिकेशन जारी नही करती है, तो हम सभी सेवानिवृत्त कर्मचारी अपने पूरे परिवार जनों के साथ अगले हफ्ते, यूनियन कार्यालय के समक्ष स्वर्गीय बीजी गोपाल की प्रतिमा के सामने एक दिन का अनशन करेंगें। ज्ञापन सौंपने वालों में बीएन रॉय, एम महतो, आरसी सिंह, झगरु गोप, एमडी आरिफ़ खान, राकेश कुमार सिंह, चंद्रशेखर, सुदामा, बबिता रानी महतो, आफताब खान, योगेंद्र मुखी, सोनी समेत टाटा स्टील के सेवानिवृत्त कर्मचारी एवं ट्यूब-टिस्को निबंधित पुत्र-पुत्री संघ सदस्य शामिल थे।

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!