jamshedpur-सरना धर्म कोड को लेकर आदिवासी संगठनों का 6 दिसंबर को सड़क व रेल मार्ग जाम: सालखन मुर्मू

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर: एनडीए की प्रमुख सहयोगी दल जदयू की झारखंड इकाई ने भारत सरकार को दो टूक चेतावनी दे दिया है. जहां झारखंड जदयू के प्रदेश अध्यक्ष सलखान मुर्मू ने केंद्र सरकार के साथ देश के सभी पांच बड़े राजनीतिक दलों एवं पांच राज्यों के मुख्यमंत्रियों को चिट्ठी लिखने की बात कहते हुए आंदोलन की चेतावनी दे डाली है. वैसे इन्होंने सरना धर्म कोड लागू किए जाने की मांग को लेकर चेतावनी दी है. जदयू के प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने इसको लेकर आगामी 2 महीनों तक यानी नवंबर के अंत तक इंतजार करने का वक्त दिया है. उसके बाद राज्यभर के आदिवासी संगठनों को साथ लेकर 6 दिसंबर को सड़क और रेल मार्ग जाम करने की चेतावनी दी है. आपको बता दें 2021 में जनगणना होना है. जहां आदिवासी संगठन सरना धर्म कोड को भी इस जनगणना में शामिल किए जाने की मांग उठाते रहे हैं. इसको लेकर आदिवासी संगठन आंदोलित भी है, लेकिन केंद्र सरकार में प्रमुख सहयोगी दल जदयू का झारखंड नेतृत्व इसको लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोलने की तैयारी में जुट गई है. वैसे झारखंड विधानसभा चुनाव में भी जदयू ने भाजपा से अलग ही चुनाव लड़ने का फैसला लिया था. इससे साफ जाहिर होता है, कि भाजपा -जदयू गठबंधन केवल बिहार तक ही सीमित है. फिलहाल झारखंड जदयू इकाई ने सरना धर्म कोड को लेकर आर-पार की लड़ाई का ऐलान कर दिया है.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply