spot_imgspot_img

Global Statistics

All countries
344,549,784
Confirmed
Updated on January 22, 2022 1:23 AM
All countries
273,477,471
Recovered
Updated on January 22, 2022 1:23 AM
All countries
5,597,627
Deaths
Updated on January 22, 2022 1:23 AM
spot_img

jamshedpur-rural-मंगलवार को वीर शहीद गणेश हांसदा की 22वीं जयंती, गांव में उत्साह का माहौल

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर / बहरागोड़ा : मंगलवार को झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले के सुदूरतम प्रखण्ड बहरागोडा स्थित चिंगड़ा पंचायत के कोषाफलिया गांव में वीर शहीद गणेश हांसदा की 22वीं जयंती मनाई जाएगी. गांव के सपूत ने छोटी उम्र में ही देश के लिए शहादत देकर गांव का नाम देश के मानचित्र पर ला दिया था. वीर शहीद गणेश हांसदा 16 जून 2020 को गलवान घाटी में पड़ोसी देश चीन के साथ लड़ते हुए सीमा पर वीरगति को प्राप्त हुए थे. शहीद गणेश की शहादत ने इलाके में ना सिर्फ देशभक्ति की भावना से ओतप्रोत किया है, वही पंचायत के बच्चों व युवाओं के लिए वह लगातार प्रेरणा का विषय बन रहे है. वीर शहीद गणेश हांसदा फ़ेलोशिप एवं वीर शहीद गणेश हांसदा पुस्तकालय से पंचायत के बच्चों को शिक्षा को लेकर नई दिशा मिल रही है. रविवार को वीर शहीद गणेश हांसदा फ़ेलोशिप 2021 के स्क्रीनिंग परीक्षा में चयनित 12 बच्चों ने ऑनलाइन साक्षात्कार में भाग लिया. यहां के सुदूर गांव में नेटवर्क की समस्या एवं स्मार्टफोन की कमी भी अब पढ़ाई के लिए बच्चों का हौसला नहीं तोड़ पाती। सुदूर गांवों में भी शिक्षा के तकनीकी माध्यमों के उपयोग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से फ़ेलोशिप की समूची प्रकिया ऑनलाइन ही आयोजित की जा रही है. इसके लिए बच्चों के उचित प्रशिक्षण के साथ-साथ बेहतर संवाद स्थापित किया गया है. (नीचे भी पढ़ें)

Advertisement

वीर शहीद गणेश हांसदा फ़ेलोशिप के दूसरे वर्ष आयोजित साक्षात्कार में अधिवक्ता राजीव कुमार, प्रोफेसर इंदल पासवान, डॉ शिवेंद्र शास्त्री, प्रोफेसर धनंजय कुमार सिंह, शिक्षक साजिद अहमद, शिक्षक विश्वनाथ बेरा, शिक्षिका पूजा कुमारी, शिक्षिका प्रियंका झा, प्रोफेसर प्रीति सोनकर, वरिष्ठ पत्रकार जयप्रकाश राय, वरिष्ठ पत्रकार अंतरा बोस, स्वतंत्र सलाहकार रवि शंकर , निश्चय के तरुण कुमार एवं शहीद गणेश हांसदा के बड़े भाई दिनेश हांसदा के पैनल ने छात्र-छात्राओं का विस्तार से इंटरव्यू किया। लगभग चार घण्टों से ज्यादा समय तक चले ऑनलाइन इंटरव्यू में बच्चों से उनके विषयों को लेकर समझ, उनका सपना, भविष्य को लेकर उनकी योजनाये, उनके और उनके परिवार की चुनौतियों और सोच से सम्बन्धित सामान्य प्रश्न पूछे गए। इस दौरान बच्चों के आत्मविश्वास, संवाद कौशल, चुनौतियों से जूझने की क्षमता, मोटिवेशन एवं सामाजिक सोच को आंकने की कोशिश की गई। (नीचे भी पढ़ें)

Advertisement

सभी बच्चों के लिए इंटरव्यू का अनुभव बहुत की ज्ञानवर्धक रहा। आईएएस बनने का सपना रखने वाली कोशाफलिया गांव की प्रमिला सिंह बताती है कि “मुझे पहले बहुत डर लग रहा था, क्योंकि यह मेरा पहला इंटरव्यू था, लेकिन इंटरव्यू में शामिल होने पर मुझे मालूम हुआ कि इंटरव्यू कैसे होता है, इसमें कैसे सवाल पूछे जाते है, इसका जबाब कैसे देना है। इंटरव्यू देना बहुत अच्छा लगा, इसका अनुभव भविष्य की परीक्षाओं की तैयारियों में बहुत काम आएगा। वही कृषि विकास पदाधिकारी बनने का सपना देखने वाली अर्जुनबेड़ा गांव की शिवानी घोष बताती है कि इंटरव्यू देकर बहुत अच्छा लगा, इंटरव्यू देकर मुझे बहुत सारा साहस और प्रेरणा मिला। इस दौरान इतने सारे सर लोगों से जो मार्गदर्शन मिला, वह मेरे बहुत काम आएगा।” इसी तरह सभी बच्चों के इंटरव्यू देने के अनुभव बेहद उत्साहवर्धक रहे। (नीचे भी पढ़ें)

Advertisement

बच्चों का इंटरव्यू लेने वाले पैनलिस्टस के लिए भी समूचा कार्यक्रम बेहद उत्साहवर्धक रहा। उन्होंने बताया कि “ग्रामीण क्षेत्र जहां बच्चों को शिक्षा प्राप्त करने के लिए असंख्य परेशानियों का सामना करना पड़ता है, उनके पास पढ़ाई के सीमित संसाधन भी मुश्किल से उपलब्ध हो पाते है। उस कठिन माहौल में फ़ेलोशिप के माध्यम से ग्रामीण बच्चों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा एवं स्वस्थ प्रतियोगिता का जो पूर्वाभ्यास करवाया जा रहा है, वह उनमें बेहतर पढ़ाई एवं प्रतियोगी सोच के निर्माण को प्रेरित करेगा। (नीचे भी पढ़ें)

Advertisement

निश्चय के संस्थापक सचिव तरुण कुमार ने बताया कि “वीर शहीद गणेश हांसदा की अमर विरासत से बच्चों व युवाओं को प्रेरित करने का अभियान जो पिछले साल से शुरू हुआ था, अब उसके बेहद उत्साहवर्धक परिणाम देखने को मिल रहे है। अभियान के माध्यम से पंचायत के लगभग प्रत्येक घर मे वीर शहीद गणेश हांसदा का संदेश पहुंच गया है, और उसे बच्चे व बड़े आत्मसात भी कर रहे है।”इंटरव्यू देने वाले बच्चों के परिवार का आर्थिक-सामाजिक विश्लेषण कर जल्द ही वीर शहीद गणेश हांसदा 2021 के लिए चयनित बच्चों के परिणाम जारी किए जाएंगे। चयनित बच्चों को इंटर से लेकर स्नातक तक की पढ़ाई में सहयोग व मार्गदर्शन जनभागीदारी से किया जाएगा। 2020 में भी पंचायत के पांच बच्चों का चयन किया गया था, जो वीर शहीद गणेश हांसदा फ़ेलोशिप व पुस्तकालय के माध्यम से पढ़ाई कर वीर शहीद गणेश हांसदा की सोच को लगातार आगे लेकर जा रहे है।

Advertisement
Advertisement
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM
IMG-20200108-WA0007-808x566
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM (1)
WhatsApp_Image_2020-03-18_at_12.03.14_PM_1024x512
previous arrow
next arrow

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!