खबरJamshedpur-rural : चाकुलिया वन विभाग ने किया 40 वन प्रबंधन सुरक्षा समिति...
spot_img

Jamshedpur-rural : चाकुलिया वन विभाग ने किया 40 वन प्रबंधन सुरक्षा समिति के बीच ड्रैगन टॉर्च का वितरण, सांसद बोले-जंगल संरक्षण होगा तो हमारी संस्कृति बचेगी और वन्य जीवों के भय से मिलेगी निजात

राशिफल

चाकुलिया : चाकुलिया वन विभाग कार्यालय में रविवार को समारोह आयोजित कर वन विभाग क्षेत्र के हाथी प्रभावित 40 गांव के वन प्रबंधन सुरक्षा समिति सदस्यों के बीच ड्रैगन टॉर्च का वितरण किया गया. समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में सांसद विधुत वरण महतो, विशिष्ट अतिथि विधायक समीर महंती और डीएफओ ममता प्रियदर्शनी उपस्थित थीं. समारोह को संबोधित करते हुए सांसद विधुत वरण महतो ने कहा कि आज अगर जंगली पशु जंगल से शहर की ओर आ रहे हैं तो इसके लिए जिम्मेदार हम सब हैं. आज जंगल का विनाश इस तरह हो रहा है कि जंगल समाप्त होने के कगार पर है. ऐसे में जंगली पशु कहां जाएंगे. सांसद ने कहा कि झारखंड की संस्कृति अनमोल है और हम प्रकृति के पुजारी हैं. हमारा जीवन और संस्कृति जंगल से जुड़ी हुई है. जंगल की कटाई को हम सबको मिलकर रोकना है, तभी हम सब हाथी के आतंक से सुरक्षित हो पायेंगे. हम सभी प्रण लें कि अपने जन्मदिन पर सभी पांच पांच पौधा रोपें. तभी जंगल बचेगा और हमारा जीवन व संस्कृति सुरक्षित होगी. (नीचे भी पढ़ें)

समारोह को विधायक समीर महंती ने संबोधित करते हुए कहा कि बहरागोड़ा विस क्षेत्र में हाथी की समस्या दिन प्रतिदिन गंभीर होती जा रही है. इस समस्या के समाधान के प्रति विभागीय स्तर पर जल्द पहल की जाये. झारखंड, बंगाल और ओड़िशा तीनों राज्यों के विभागीय पदाधिकारी और जनप्रतिनिधि बैठकर विचार-विमर्श कर हाथियों की समस्या का निदान निकालें. विधायक ने कहा कि बंगाल की तर्ज पर यहां के युवाओं को हाथी भगाने के लिए बंगाल टीम को बुलाकर प्रशिक्षण दिया जाये. विभाग एक टॉल फ्री नंबर उपलब्ध कराये, ताकि हाथी के गांव में आने से ग्रामीण समय पर विभाग को सूचित कर सकें. जंगल संरक्षण कार्य में लगे वन प्रबंधन समिति की महिलाओं के बीच पत्तल बनाने की मशीन का वितरण किया जाए, ताकि महिलायें पत्तल बनाकर रोजगार कर सकें. (नीचे भी पढ़ें)

समारोह में डीएफओ ममता प्रियदर्शी ने कहा कि हाथी हमारी समस्या नहीं, बल्कि इसे समझने की जरूरत है. हाथी पहले की तर्ज पर उसी कॉरिडोर पर चल रहे हैं जो पहले था. हम अपना घर, उद्योग, सड़क और प्रतिष्ठान निर्माण के लिए जंगल को साफ कर रहे हैं, जिससे हाथी अपना मार्ग भटक कर क्षेत्र में ही रह गये हैं. हाथी हमारे मार्ग पर नहीं, बल्कि हम हाथी के मार्ग पर आ रहे हैं. झारखंड के ग्रामीणों ने हाथी को भी भगवान का दर्जा देकर सम्मान देने का काम किया है. हाथी के प्रति लोगों की जो भावना है इसे बरकरार रखें. वन विभाग के पदाधिकारी विभाग का प्रतिनिधित्व करते हुए हमारा कर्तव्य है कि मनुष्य की सुरक्षा करें और विभाग इस दिशा में पहल कर रहा है. कहा कि विस क्षेत्र में 76 गांव हाथी प्रभावित गांव है, विभाग उन गांवों में हाथी से ग्रामीणों की सुरक्षा के प्रति काम किया जा रहा है. समारोह को रेंजर अशोक सिंह ने भी संबोधित किया. संचालन विधायक प्रतिनिधि विशाल बारिक ने किया. इस अ‍वसर पर जिप सदस्य जगन्नाथ महतो, एलिस मांडी, सुशील शर्मा, शतदल महतो, मो गुलाब, गौतम दास, देवाशिस दास, समीर दास, ललित मांडी, चंदन महतो, त्रिलोचन राणा, राकेश महंती, राजा बारिक समेत अन्य लोग उपस्थित थे.

[metaslider id=15963 cssclass=””]

Must Read

Related Articles

Floating Button Get News On WhatsApp
Don`t copy text!