spot_img

Jamshedpur-rural : चाकुलिया नगर पंचायत कार्यालय में फर्जी संवेदक का भंडाफोड़, सिटी मैनेजर के बयान पर संवेदक मुकेश सिंह के खिलाफ थाना में मामला दर्ज

राशिफल

  • आरटीआई कार्यकर्ता विक्रम सिंह चौहान का आंदोलन रंग लाया

Jamshedpur : पूर्वी सिंहभूम जिला के चाकुलिया नगर पंचायत क्षेत्र में विगत कई वर्षों से जाली दस्तावेज के आधार पर संवेदक द्वारा ठेका का काम करने का मामला उजागर हुआ है. विगत कई वर्षों से चाकुलिया निवासी संवेदक मुकेश कुमार सिंह फर्जी आचरण प्रमाण पत्र बनाकर नपं में ठेका का काम कर रहा था, परंतु विभाग के पदाधिकारी इससे अंजान थे. मामला उजागर तब हुआ जब आरटीआई कार्यकर्ता ने मामले को लेकर आरटीआई किया. चाकुलिया के आरटीआई कार्यकर्ता विक्रम सिंह चौहान को जब मुकेश कुमार सिंह के आचरण प्रमाण पत्र पर संदेह हुआ, तो उन्होंने विगत दिनों नपं कार्यालय में आरटीआई कर संवेदक के दस्तावेज देखने, उनके द्वारा किये जा रहे योजना कार्य और वर्तमान में योजना की स्थिति आदि की रिपोर्ट देने की मांग की. इस पर कार्यपालक पदाधिकारी ने विक्रम सिंह चौहान को कार्यालय में आकर संवेदक की फाइल देखने की अनुमति दी. जांच के क्रम में पाया गया कि संवेदक के खिलाफ चाकुलिया थाना और श्यामसुंदपुर थाना में आपराधिक मामला दर्ज होने के पश्चात थाना द्वारा उन्हें आचरण प्रमाम पत्र निर्गत किया गया है.

आरटीआई कार्यकर्ता ने आचरण प्रमाण पत्र की जांच करने की मांग की, ताकि किस आधार पर थाना द्वारा मुकेश कुमार सिंह को आचरण प्रमाण पत्र निर्गत किया गया. जांच में पता चला कि थाना द्वारा संवेदक मुकेश सिंह के नाम पर कभी आचरण प्रमाण पत्र दिया ही नहीं गया है. इस मामले पर आरटीआई कार्यकर्ता ने फर्जी रूप से नपं कार्यालय में गलत दस्तावेज देकर काम लेने और फर्जी दस्तावेज बनाने की जांच कर कानूनी कार्रवाई करने की मांग डीआईजी को ट्विट कर मांग की. डीआईजी ने जमशेदपुर एसएसपी को मामले की जांच करने का आदेश, दिया जिस पर पुलिस ने जांच में पाया कि जिस तारीख को उसने आचरण प्रमाण पत्र थाना द्वारा निर्गत दिखाया है, उस तिथि में संवेदक की पत्नी के नाम पर थाना द्वारा आचरण प्रमाण पत्र निर्गत किया गया है.

आरटीआई कार्यकर्ता द्वारा बार-बार डीआइजी को ट्विटर पर ट्विट कर कार्रवाई करने की मांग की गयी और उसने नपं प्रशासन द्वारा कार्रवाई करने में गोलमटोल रवैया को देखते हुए दोबारा नपं कार्यपालक पदाधिकारी के नाम मांग पत्र सौंपा. ज्ञापन में कहा कि विभाग अगले 15 दिनों के अंदर फर्जी रूप से कागजात पेश कर नपं में ठेका का काम कर रहे संवेदक पर कानूनी कार्रवाई करे, नहीं तो वे भूख हड़ताल करेंगे. आरटीआई कार्यकर्ता की इस मांग से विभाग के पदाधिकारी हरकत में आये और तीन दिनों के अंदर जांच कर नपं के कार्यपालक पदाधिकारी के आदेश पर सिटी मनेजर मुनीश सलाम ने चाकुलिया थाना में संवेदक के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. थाना में सिटी मैनेजर के बयान पर संवेदक मुकेश सिंह के खिलाफ कांड संख्या 50/20 धारा 420, 467, 468, 474 के तहत मामला दर्ज किया गया है. सिटी मैनेजर ने कहा कि चाकुलिया थाना और श्यामसुंदपुर थाना में मुकेश सिंह पर केस होने के बावजूद वह अपनी पत्नी का बना हुआ आचरण प्रमाण पत्र बनाकर तथा कोर्ट से फर्जी एफिडेविट देकर 2014 से अबतक चाकुलिया नगर पंचायत एवं अन्यत्र ठेका लेकर गलत तरीके से काम करवा रहा था. मुकेश सिंह द्वारा करोड़ों रुपये का काम फर्जी लाइसेंस पर किया जा चुका है. जिसके विरुद्ध में थाना में मामला दर्ज कराया गया है.

[metaslider id=15963 cssclass=””]
WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
[adsforwp id="129451"]

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!