spot_img

jamshedpur-rural-राधाकृष्ण जी महाराज और योगी अश्विनी ने चाकुलिया में संचालित गौशाला का लिया जायजा,गौ सेवकों को किया सम्मानित, कहा- गौसेवा के बगैर संस्कृति की रक्षा अधूरी

राशिफल

चाकुलिया: चाकुलिया के हवाई पट्टी पर कलकत्ता पिंजरापोल सोसाइटी के भूमि पर संचालित ध्यान फाउंडेशन गौशाला का शनिवार को राधाकृष्ण जी महाराज और ध्यान फाउंडेशन के हेड योगी अश्विनी ने गौशाला पहुंचकर अवलोकन किया. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए योगी अश्विनी ने कहा कि गौवंश की रक्षा करे, तभी हमारी संस्कृति की रक्षा होगी. गौवंश के बगैर जीवन अधुरा है. कहा कि गौत्र का मतलब है गौ की रक्षा करना. कहा कि गौसेवा कार्य में सभी अपने बच्चों को साथ ले कर करे ताकि बच्चें भी गौ सेवा से प्रभावित हो सके. बच्चें आगे का भविष्य है ,भविष्य में गौ सेवा होती रहे इस कारण बच्चों को भी गौ सेवा कार्य से जोड़े. उन्होंने बताया कि भारत वर्ष में ध्यान फाउंडेशन की 47 गौशाला की शाखा है और 70 हजार गौवंश की सेवा की जा रही है.(नीचे भी पढ़े)

कहा कि चाकुलिया के गौशाला में डा शालिनी मिश्रा के नेतृत्व में गौशाला संचालित है और यहां वर्तमान में 13,500 गौ वंश है जिसकी देखभाल की जा रही है. गौसेवा निश्वार्थ भाव से करें, इसका फल आने वाले समय में अवश्य मिलेगा. उन्होंने कहा कि जीवन मैं गुरू का महत्व है,गुरू ही हमें अंधकार से प्रकाश की और ले जाते हैं. गौवंश की सुरक्षा करे. यज्ञ करे यज्ञ से घर ही नही हमारी विचार भी शुद्ध होता है. कहा कि जिसे भी यज्ञ करानी हो तो शालिनी मिश्रा से संपर्क करे, निशुल्क और गौ सामग्रियों के प्रयोग से ही यज्ञ किया जाएगा. (नीचे भी पढ़े)

कार्यक्रम के अंत में जमशेदपुर के अशोक बलोटिया, राजेश पसारी, राकेश शर्मा,कौशल रूंगटा,आकाश अग्रवाल,संजय लोधा, विशाल लोधा,भरत रूंगटा, डॉ नेहा, सुमित कुमार,कुंज बिहारी समेत अन्य लोगों को योगी अश्विनी जी और राधाकृष्ण जी महाराज ने अंग वस्त्र ओढ़ाकर और मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया. इस अवसर पर शंकर रूंगटा, विनित रूंगटा, शालिनी मिश्रा,सुदर्शन कौशिक,आर के अग्रवाल, सुमित अग्रवाल,बृजमोहन गडरिया, सत्यनारायण राठी, सुधा अग्रवाल, श्रेया अग्रवाल, कंचन,राणा गोप, बिट्ठल शर्मा समेत अन्य उपस्थित थे.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!