jamshedpur-rural-wastage-of-public-money-चाकुलिया के एसएफसी गोदाम में सड़ रही है साईकिल, कई गरीब बच्चें पैदल स्कूल जाने पर है मजबूर, चाकुलिया के एसएफसी गोदाम में गरीबों को बंटने आयी दाल सड़ गई

Advertisement
Advertisement

चाकुलिया :जमशेदपुर के ग्रामीण इलाके में कल्याण विभाग की योजनाओं का क्या है, इसकी दो खबरें पोल खोलती है. कल्याण विभाग द्वारा गरीब छात्र छात्राओं के बीच वितरण करने के लिए विभाग द्वारा भेजे गये साइकिल वर्षो से चाकुलिया के एसएफसी गोदाम में पड़े पड़े नष्ट हो रही है. गोदाम में 200 साइकिल वर्षों से यही पड़ी हुई है. इस संबंध में बीडीओ लेखराज नाग ने बताया कि उक्त साइकिल कल्याण विभाग द्वारा गरीब छात्र छात्राओं के बीच वितरण किया जाना था.कहा कि सप्लायर द्वारा अतिरिक्त साइकिल भेजे जाने के कारण साइकिल यही पर है.उन्होंने कहा कि वर्षो से पड़ी साइकिल नष्ट हो गई है,बगैर मरम्मत कराये यह अनुपयोगी है.कहा कि उनके पूर्व के बीडीओ द्वारा भी साइकिल की वितरण कराने से संबंधित जिला कल्याण पदाधिकारी से अनुमोदन के लिए पत्राचार किया गया था परंतु अबतक विभाग से किसी प्रकार का जबाब नही मिला है. मालुम हो की विभाग द्वारा ऐसे गरीब छात्र छात्राओं के बीच साइकिल का वितरण किया जाता था जो दूरदराज से स्कूल पैदल आते थे.आज भी ऐसे कई विधार्थी है जिनके पास कोई साधन नही है वह पैदल ही 2-3 किमी दूर पैदल चलकर स्कूल आते है.विभाग द्वारा वैसे बिधार्थीयों का चयन कर इन साइकिलों का वितरण करे तो साइकिल का उपयोग विद्यार्थी कर पाऐंगे.

Advertisement
Advertisement

चाकुलिया के एसएफसी गोदाम में रखी दाल पड़े पड़े सड़ गई
चाकुलिया प्रखंड के विधालयों में मीड डे मील के लिए पहुंची दाल का उठाव विधालय के शिक्षकों ने दाल की क्वालिटी खराब होने के कारण उठाव नही किया.तब से दाल चाकुलिया के एसएफसी गोदाम में पड़ी हुई है.विगत एक वर्ष पूर्व दाल एसएफसी गोदाम भेजा गया था,दाल का उठाव नही होने से दाल को रिजेक्ट कर दिया गया था.विभागीय पदाधिकारी द्वारा दाल को वापस भेजने या वितरण करने की दिशा में पहल नही करने के कारण कई क्विंटल दाल आज चाकुलिया के एसएफसी गोदाम में सड़ रही है.दाल की हालत ऐसी हो गई है कि इसे अब मवेशी भी नही खा पायेंगे.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement

Leave a Reply