spot_imgspot_img

Global Statistics

All countries
263,733,739
Confirmed
Updated on December 2, 2021 8:41 AM
All countries
236,274,097
Recovered
Updated on December 2, 2021 8:41 AM
All countries
5,241,859
Deaths
Updated on December 2, 2021 8:41 AM
spot_img

jamshedpur-saryu-roy-जमशेदपुर की बिजली समस्या को लेकर विधायक सरयू राय ने की बैठक, अधिकारियों ने जब रिपोर्ट दी तो सिर पकड़ लिया, कहा-जमशेदपुर पूर्वी में ऐसी खराब बिजली को देखकर सोचना पड़ रहा है-video

Advertisement

जमशेदपुर : जमशेदपुर की बिजली की समस्या को लेकर जमशेदपुर पूर्वी के विधायक और पूर्व मंत्री सरयू राय ने बिजली विभाग के अधिकारियों के साथ अपने आवासीय कार्यालय में बैठक की. इस आवासीय कार्यालय में श्री राय ने जमशेदपुर पूर्वी के साथ-साथ पूरे जमशेदपुर में बिजली की जिस तरह की समस्या उत्पन्न हुई है, उसके बारे में विस्तार से चर्चा की. इस दौरान सरयू राय ने कई सारी जानकारी ली तो उनके मुंह से बरबस ही निकल गया कि ऐसी खराब व्यवस्था जमशेदपुर पूर्वी में कैसे थी. इसको कोई ठीक क्यों नहीं कराया. गैर कम्पनी इलाकों में बिजली आपूर्ति में सुधार लाने को लेकर बुलायी गयी में बिजली विभाग के जीएम की ओर से कार्यपालक अभियंता, कनीय अभियंता एवं कई पदाधिकारी उपस्थित थे. बिजली विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जमशेदपुर पूर्वी क्षेत्र में बिजली का लोड कल बढ़कर 300 एम्पियर हो गया था, जिसके कारण कई इलाकों में बिजली आपूर्ति बंद करनी पड़ी, पिछले वर्ष इसी माह 260 एम्पियर था. उन्होंने बताया कि गोलमुरी ग्रिड से बिरसानगर से आस्था पैलेस तक जाने वाली बिजली लाइन पर भार काफी बढ़ गया है. यह भार तभी कम होगा जब गोलमुरी लाइन से सीधे आस्था सब स्टेशन तक बिजली आपूर्ति की जाये. यह काम बहुत दिनों से लंबित पड़ा हुआ है.

Advertisement
Advertisement
पूर्व मंत्री सरयू राय.

बिजली की इस खपत को देखते हुए सुंदरनगर में पावर ग्रिड बनाने की योजना प्रस्तावित है, जिसका काम शुरू नहीं हुआ. श्री राय ने अधिकारियों से पूछा कि अचानक दिन और रात के समय कई बार बिजली कटने का क्या कारण है, जबकि 300 एम्यिर का लोड संध्या 7 से रात 11 बजे के बीच होता है. इसका जो जवाब बिजली विभाग के अधिकारियों ने दिया आश्चर्यचकित करने वाला था. उनका कहना है कि मोहल्लों में एक रिमोट मिटरिंग यूनिट (आरएमवी) लगाया गया है. इसकी उपयोगिता के लिए एबी स्वीच की आवश्यकता है, जो उनके पास नहीं है. एबी स्वीच लग जाने पर जिस मोहल्ले में बिजली से संबंधित तकनीकि खराबी होगी उसे मोहल्ले की बिजली कटेगी. एबी स्वीच नहीं होने के कारण किसी मोहल्ले में कोई खराबी आती है तो ठीक करने के लिए पूरे इलाके की बिजली आपूर्ति बंद करनी पड़ती है, जिसके कारण बिजली रहते हुए भी लोड शेडिंग होती है. जमशेदपुर पूर्वी के लिए 72 एबी स्वीच की आवश्यकता है और रिजर्व में करीब 25 एबी स्वीच रखना होगा. इस प्रकार कुल मिलाकार करीब 100 एबी स्वीच की आवश्यकता है. गोलमुरी ग्रिड से आस्था पावर सब स्टेशन तक बिजली की आपूर्ति लाईन ले जाने के बारे में श्री राय ने विद्युत संचरण निगम के एमडी से बात की. वे शीघ्र ही यह कार्य प्रारंभ कराने की बात कहीं. इसके अतिरिक्त एबी स्वीच की आपूर्ति नहीं होने के कारणों की पड़ताल भी की जाएगी. बिजली नहीं रहने के कारण मोहरदा जलापूर्ति योजना से पेयजल आपूर्ति प्रभावित हो रही है. कई इलाकों में 5 घंटे बिजली कटी रही जिसके कारण पेयजल आपूर्ति नहीं हो पायी. जुस्को की बिजली से मोहरदा जलापूर्ति को चलाने को सरकार और जुस्को के बीच 2 वर्ष पहले समझौता हुई थी. समझौता के अनुरूप सरकार द्वारा जुस्को को एक बार भी भुगतान नहीं किया गया. सरकार द्वारा बिजली विभाग को बिल का भुगतान नहीं होने के कारण बिजली विभाग इसका एनओसी नहीं दे रहा है. विधायक सरयू राय ने जुस्को प्रबंधन से कहा है कि वे पिछले 2 साल में समझौता के अनुरूप सरकार से क्या-क्या नहीं किया गया है इसकी सूची दें, वे इस पर रांची में बैठक बुलाकर बात करेंगे. गैर कम्पनी इलाकों में बिजली की आपूर्ति सुधरे, इसके लिए लाईन को ऊपर से नीचे तक ठीक करने और रोज कितना बिजली मिल रहा है इसकी जानकारी देने का निर्देश बिजली विभाग के अधिकारियों को दिया है.

Advertisement
[metaslider id=15963 cssclass=””]

Advertisement
Advertisement
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM
IMG-20200108-WA0007-808x566
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM (1)
WhatsApp_Image_2020-03-18_at_12.03.14_PM_1024x512
previous arrow
next arrow

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!