jamshedpur-visit-of-babulal-marandi-जमशेदपुर में सरकार के खिलाफ गुस्से में दिखे बाबूलाल मरांडी, कहा-हेमंत सोरेन और शिबू सोरेन का चले तो बसंत सोरेन और सीता सोरेन को मंत्री बना दे, रघुवर दास से अलग जुबिली पार्क का गेट खोलने के लिए टाटा स्टील से की बात, सरयू राय के भाजपा में वापसी पर कही यह बड़ी बात

राशिफल

जमशेदपुर : राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी जमशेदपुर में है. जहां सोमवार को उन्होंने जनजातीय सम्मेलन में हिस्सा लिया. वहीं मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राज्य सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने राज्य की हेमंत सोरेन सरकार को हर मोर्चे पर विफल बताते हुए कहा राज्य में लॉ एंड ऑर्डर पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है. महिलाएं भयभीत है. वर्तमान सरकार के कार्यकाल में हर दिन महिलाओं के साथ दुष्कर्म और हत्या जैसी घटनाएं हो रही है. जिस पर नकेल कसने में राज्य सरकार पूरी तरह विफल साबित हुई है. उन्होंने राज्य सरकार पर कोरोना के नाम पर विकास की योजनाओं को धरातल पर नहीं उतारने का आरोप लगाया. साथ ही केंद्र की योजना को भी सही तरीके से धरातल पर उतारने में राज्य सरकार को विफल बताया. एक बार फिर से पूर्व मुख्यमंत्री ने विधानसभा में नमाज के लिए विशेष कक्ष आवंटन किए जाने के मामले पर राज्य सरकार को घेरते हुए इसे असंवैधानिक करार दिया, और हर स्तर पर संवैधानिक तरीके से विरोध जारी रखने की बात कही. वही भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए उन्होंने एक बार फिर से नए सिरे से संगठित होकर करते हुए आगामी चुनावों के लिए तैयार किए जाने की बात उन्होंने कही. विपक्ष का नेता को मंजूरी नही देने के मामले पर बाबूलाल मरांडी ने कहा कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और उनके पिता शिबू सोरेन कोई नया आदिवासी नेता को बढ़ने देना नही चाहते हैं. इसलिए उनको विपक्ष का नेता बनने से रोक रहे है. उन्होंने कहा कि अगर शिबू सोरेन और हेमंत सोरेन की चले तो बसंत सोरेन और सीता सोरेन को मंत्री बना दे किसी और कुछ बनाये ही नही. (नीचे भी पढ़ें)

उनसे सवाल पूछा गया कि आप खुद दूसरे नेता को क्यो नही विपक्ष का नेता बना देते, इस पर बाबूलाल मरांडी ने कहा कि पार्टी का यह फैसला है, पार्टी फैसला लेगी. पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने जमशेदपुर के ऐतिहासिक जुबिली पार्क को बंद किए जाने के मुद्दे पर कहा कि जनहित के मुद्दे पर जन भावनाओं का कद्र करते हुए कोई भी निर्णय लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत तौर पर टाटा स्टील प्रबंधन से उन्होंने बात की है. जल्द ही इस पर निर्णय लिए जाने की संभावना है. टाटा स्टील प्रबंधन को बाबूलाल मरांडी ने कहा है कि खोलने के विकल्प पर बात करें ना कि बंद करने का. आपको बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने जुबिली पार्क का गेट बंद करने की वकालत की थी, जिससे अलग राय बाबूलाल मरांडी सोच रखते है. प्रेस कांफ्रेंस के दौरान सवाल पूछा गया कि कैसे पार्टी कहा नुकसान की क्या पाया, इस पर बाबूलाल मरांडी ने कहा कि पुरानी बातों को लेकर नही बल्कि नए सिरे से मेहनत करने की जरूरत है. बाबूलाल मरांडी से पूछा गया कि क्या सरयू राय जैसे नेताओं की वापसी की जा सकती है, जिस पर बाबूलाल मरांडी ने कहा कि कई मामले केंद्र के होते है और हम लोग केंद्र को बोल देते है और वो फैसला लेती है. ऐसा मामला भी केंद्र ही फैसला लेगी. संवाददाता सम्मेलन में बाबुलाल मरांडी के साथ जमशेदपुर के सांसद विद्युत वरण महतो, भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी, भाजपा नेता अभय सिंह, भाजपा जमशेदपुर महानगर अध्यक्ष गूँजन यादव, महासचिव अनिल मोदी, भाजपा जमशेदपुर प्रवक्ता प्रेम झा समेत अन्य लोग मौजूद थे.

Must Read

Related Articles