spot_img

jharkhand-adivasi-sengel-आदिवासी सेंगल अभियान 2 मार्च को राजभवन पर देगा धरना, आदिवासी समुदायों की ये तीन मांगें होंगी प्रमुख, आंदोलन की रुपरेखा तैयार

राशिफल

जमशेदपुर : आदिवासी सेंगल अभियान की ओर से झारखंड के राज्यपाल के राजभवन में एकदिवसीय धरना आयोजित किया जारहा है. 2 मार्च को तीन मांगों को लेकर यह धरना दिया जायेगा. इसकी जानकारी पूर्व सांसद व आदिवासी सेंगल अभियान के प्रमुख सालखन मुर्मू ने दी. उन्होंने बताया कि तीन प्रमुख मुद्दों के लिए ज्ञापन दिया जायेगा. यह मांग है कि संताली भाषा को झारखंड की प्रथम राजभाषा का दर्जा दिया जाये, 9 झारखंडी भाषाओं को समृद्ध किया जाये, सरना धर्म कोड को भारत सरकार मान्यता दे और झारखंड में सभी सरकारी, गैर सरकारी नोकरियों का 90 फीसदी ग्रामीण क्षेत्रों को दिया जाये और प्रखंडवार कोटा बनाकर केवल उसी प्रखंड के आवेदकों से भरा जाये. उपरोक्त लक्ष्यों को सफल बनाने के लिए मार्च और अप्रैल 2022 में 5 प्रदेशों के सभी जिलों में सेंगेल जनसभाओं का आयोजन होगा. फिलहाल 5 मार्च सेंगेल शपथ सभा- भोगनाडी चलो. 30 अप्रैल संताली राजभाषा रैली-रांची चलो, 30 जून सरना धर्म कोड रैली-दिल्ली चलो, के आह्वान के साथ 3 मार्च-जामताड़ा, 4 मार्च-देवघर, 5 मार्च-भोगनाडीह, साहेबगंज, 6 मार्च- पाकुड़, 7 मार्च- दुमका, 8 मार्च- धनबाद, 9 मार्च- रामगढ़ और 10 मार्च – बोकारो, 13 मार्च- मयूरभंज,14 मार्च – क्योंझर ज़िलों में सेंगेल जनसभाओं का आयोजन किया जायेगा.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
[adsforwp id="129451"]

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!