spot_img

Jharkhand-Income-Tax-Red- कोयला व्यवसायी के घर दूसरे दिन भी IT का छापा, 2.25 नगद सहित जेवर बरामद

राशिफल

हजारीबाग: आयकर विभाग द्वारा हजारीबाग के कोयला व्यवसायी के सदर थाना क्षेत्र अंतर्गत खजांची तालाब के सामने स्थित घर पर मंगलवार से चल रही कार्रवाई दूसरे दिन बुधवार को भी जारी रही लगभग 40 घंटो से लगातार चल रहे इस आपरेशन में लगभग 2.25 करोड़ की अकूत संपित्त एवं लगभग 70 लाख के जेवरों के मिलने की बातें छनकर बाहर आ रही है, ज्ञात हो कि शहर के कोयला व्यवसायी राजेंद्र प्रसाद गुप्ता उर्फ इंदर गुप्ता के यहां पिछले दो दिनों से इनकम टैक्स के अधिकारियों द्वारा छापे के बाद पूरे घर की तलाशी जा रही है. (नीचे भी पढ़े)
मिली जानकारी के अनुसार इस पूरे ऑपरेशन में करोड़ों रुपए के चल-अचल संपत्ति के बारे में जानकारी मिली है. लगभग दो दर्जन से अधिक पदाधिकारी छापेमारी में लगे हैं. बता दें कि पिछले दिनों तंत्र साधक सुरेश भंडारा के शादी घर भंडारा पार्क में भी इनकम टैक्स के पदाधिकारियों ने छापेमारी की थी. छापेमारी समाप्त होने के बाद वहां के पदाधिकार खजांची तालाब राजेंद्र प्रसाद गुप्ता के घर ऑपरेशन में जुट गए. ऑपरेशन में क्या-क्या बरामद हुआ है इसके बारे पदाधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं. फिर भी अंदर से जो बातें छनकर बाहर आ रही है उसके अनुसार सवा दो करोड़ रुपए कैश बरामद की सूचना है. इन रुपयों को गिनने के लिए मंगलवार को पंजाब नेशनल बैंक से मशीन मंगाई गई थी. पदाधिकारियों ने जब्त कैश को बैंक में जमा करवा दिया है. अधिकारी घर तलाशी का अभियान लगातार जारी रखे हुए हैं. साथ ही अहले सुबह एक महिला अधिकारी को भी इस अभियान में शामिल किया गया है, जो घर की महिलाओं से जानकारी इकठ्ठा कर रही हैं. जमीन के पुराने कागजात को पढ़ने के लिए एक कैथी लिपि के जानकार को रांची से मंगलवार को ही बुलाया गया था. पुराने कागजों से सम्पत्ति का आकलन किया जा रहा है.
देखे जा रहे है सीसीटीवी फुटेज
मंगलवार को भंडारा पार्क में जो छापेमारी हुई थी, उसमे अधिकारियों ने सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाला थी. सूत्र की मानें तो बंगाल के एक नेता के इस होटल में ठहरने को लेकर सीसीटीवी खंगाला जा रहा था. उस नेता और महेंद्र गुप्ता के कारोबारी रिश्तेदारी को खंगाला जा रहा है. पूरा मामला कोयले के लिंकेज से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है. मंगलवार की सुबह 5 बजे से शुरू हुई छापेमारी बुधवार को भी जारी है. शाम लगभग 4:30 बजे के आसपास छापेमारी में लगे पदाधिकारी तीन बैग लेकर घर से बाहर निकले. इस दौरान किसी भी तरह का बयान उन्होंने नहीं दिया. 4:45 में दो कर्मी फिर निकले, जिनके हाथों में कुछ दस्तावेज और एक हाथ में सील करने के सामान थे. छापेमारी के दौरान पदाधिकारी बाहर के रेस्टोरेंट से खाना भी खाये. इस दौरान जेनरेटर का भी उपयोग किया गया. बिजली गुल होने के कारण थोड़ी समस्या भी हुई. छापेमारी के दौरान कई दस्तावेज खंगाले गए.
राजेंद्र कुमार गुप्ता हजारीबाग के बड़े व्यवसायियों में से एक हैं. उनका कोयला व्यवसाय के अलावा हजारीबाग में एक बड़ा मॉल भी है. इसके अलावा भी कई दूसरे राज्यों में भी इनका व्यवसाय चलता है. मुख्य रूप से वह कोयला का व्यवसाय करते हैं. राजेंद्र प्रसाद गुप्ता उर्फ इंदर गुप्ता के बारे में कहा जाता है कि वह कोयले के बड़े व्यवसायी हैं. डेहरी-औरंगाबाद के बीच उनका हार्ड कोक प्लांट भी है. इसके अलावा हजारीबाग के डेमोटांड़ में भी डार्ड कोक प्लांट है, जो इन दिनों बंद पड़ा है. ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि पूरा मामला कोल लिंकेज से जुड़ा हुआ है. बताया जाता है कि राजेंद्र गुप्ता का एक रेस्टोरेंट भी उनके मार्केटिंग कॉम्प्लेक्स में चलता है. दो दिनों से परिवार के सदस्यों और अधिकारियों का भोजन उसी रेस्तरां से जा रहा है. रेस्तरां के एक कर्मी ने बताया कि कुल 40 लोगों का खाना दो दिनों से जा रहा है.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!