spot_imgspot_img

Global Statistics

All countries
370,498,274
Confirmed
Updated on January 29, 2022 11:40 AM
All countries
290,352,702
Recovered
Updated on January 29, 2022 11:40 AM
All countries
5,668,286
Deaths
Updated on January 29, 2022 11:40 AM
spot_img

Jharkhand INTUC : औद्योगिक क्षेत्र के श्रमिकों की स्थिति दयनीय, न्यूनतम मजदूरी बढ़ाकर 500 रू प्रतिदिन की जाये : शैलेश पांडे

Jamshedpur : झारखंड प्रदेश यूथ इंटक के प्रदेश अध्यक्ष शैलेश पांडे ने आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र के मजदूरों की स्थिति पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा है कि यह कोरोना महामारी मजदूर वर्ग पर कहर बनकर टूटी है, जहां उनके लिए रोजगार बचाना, महीने में मात्र 12-14 दिन रोटेशन में कम्पनी में काम पर बुलाएं जाने के साथ ही उन्हें मात्र काम वाले दिनों की तनख्वाह प्राप्त कर घर चलाना, नये रोजगार की तलाश करना के साथ ही यह सब करते हुए संक्रमण के खतरे से खुद को सुरक्षित रखने जैसी गम्भीर स्थिति उत्पन्न हो गई है। शैलेश पांडे से आदित्यपुर की विभिन्न कम्पनियों के कामगारों ने उनके गोलमुरी कार्यालय पर मुलाकात कर अपनी पीड़ा सुनायी एवं प्रतिदिन आने वाली परेशानियों से अवगत कराया। शैलेश ने कहा कि कुछ कम्पनियां मजदूरों के साथ अमानवीय व्यवहार कर रही हैं एवं मजदूरों को उनके हक से वंचित करने का प्रयास कर रही हैं। कम्पनी मालिकों को समझना होगा कि श्रमिक एवं मालिक एक ही सिक्के के दो पहलू हैं, कम्पनी के उत्थान के लिए दोनों की भूमिका महत्वपूर्ण होती है। उन्हें मजदूरों से व्यवहार कुशल रहते हुए काम लेना चाहिए।

शैलेश ने कम्पनी प्रबंधन से मजदूरों को सामाजिक सुरक्षा, स्वास्थ्य बीमा, न्यूनतम मजदूरी, ओवरटाइम अधिकतम 4 घंटे, कोविड के लिए आवश्यक सामग्री, पीएफ, ग्रेजुएटी, ईएसआई आदि सुविधाएं मुहैया करवाने को कहा है। उन्होंने कहा कि आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र में विगत 3-4 सालों में सैकड़ों की संख्या में कम्पनियां बंद हुई है एवं 10 हजार से अधिक मजदूर बेरोजगार हुए हैं। ऐसे में आदित्यपुर जो कि एशिया महाद्वीप का सबसे बड़ा इंडस्ट्रीयल एरिया कहा जाता है, उसकी यह दुर्दशा दुर्भाग्यपूर्ण है। शैलेश ने कहा कि वह जल्द मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखकर औधोगिक क्षेत्र के मजदूरों की दुर्दशा से अवगत करायेंगे। साथ ही सरकार से सार्थक प्रयास कर कम्पनियों के रिवाइवल के लिए कम्पनी विशेष आर्थिक पैकेज देने की मांग करेंगे एवं राज्य सरकार से बढ़ती मंहगाई को देखते हुए मजदूर वर्ग के हित में झारखंड सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम मजदूरी को संशोधित कर 500 रुपये प्रतिदिन करने की योजना बनाने के लिए उचित कदम उठाने का आग्रह करेंगे, ताकि श्रमिकों को लाभ हो सके। प्रदेश अध्यक्ष शैलेश पांडे से मुलाकात करने वालों में मुख्य रूप से सुधीर कुंभकर, गुनाधर पाल, विजय मंडल, शैलेश कुमार, आरके मिश्रा, दुर्गा राम बैठा, समीर नन्दी, सहस्त्रांशु पांडे, अजित कुमार, देवदत्त कुमार समेत अन्य कर्मचारी शामिल थे।

[metaslider id=15963 cssclass=””]

WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM
IMG-20200108-WA0007-808x566
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM (1)
WhatsApp_Image_2020-03-18_at_12.03.14_PM_1024x512
previous arrow
next arrow

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!