spot_img
रविवार, अप्रैल 18, 2021
More
    spot_imgspot_img
    spot_img

    झारखंड : खूंटी में एक साथ मंच पर रहे मुख्यमंत्री रघुवर दास और केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, साथ में मनाया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन

    Advertisement
    Advertisement

    रांची : रांची से सटे खूंटी के कचहरी मैदान में राज्यस्तरीय योजनाओं का शिलान्यास व उदघाटन किया गया. इस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री रघुवर दास और केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा मौजूद थे. इस मौके पर मुख्यमंत्री रघुवर दास और केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने संयुक्त रुप से सारी योजनाओं का उदघाटन किया. इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन भी धूमधाम के साथ मनाया गया. इस मौके पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि खूंटी हमारे पुरखों की धरती है. भगवान बिरसा मुंडा की भूमि विकास के मामले में किसी से पीछे नहीं रहेगी. सरकार की दिशा, मंशा व नीयत का आकलन करें. सरकार विकास की पक्षधर है. राज्य के आदिवासियों सहित प्रत्येक घर-घर को, हर गांव-गांव को विकास से आच्छादित करना सरकार का लक्ष्य है. गरीब भी गरिमा से जीवन यापन करे. इसके लिए कार्य हो रहा है. आने वाले 20 वर्ष को ध्यान में रखकर खूंटी में योजनाएं लागू की जा रहीं हैं. राज्य की योजनाओं को बनाने व क्रियान्वयन में जनभागीदारी को साथ लेकर चल रहें हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत पांच वर्ष में वर्तमान सरकार ने 30 लाख घर तक बिजली पहुंचाई. खूंटी जो वर्षों से व्यवस्थित बिजली की बाट जोह रहा था वह अब 33 से 90 प्रतिशत बिजली में स्वावलंबी 132/32 केवी ग्रिड सब स्टेशन के प्रारंभ होने से हो गया. खूंटी में और चार सब स्टेशन का निर्माण हो जाने से 24 घंटे बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित हो जाएगी. पूरे राज्य में 59 ग्रिड सबस्टेशन और 200 सबस्टेशन का कार्य हो रहा है. 80 प्रतिशत का कार्य जल्द पूर्ण हो जाएगा.

    Advertisement
    Advertisement

    केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि देश के 115 आकांक्षी जिलों में खूंटी भी शामिल है. यहां विकास हो रहा है. खूंटी को विकसित जिला बनाने का लक्ष्य लेकर सरकार कार्य कर रही है. खूंटी में विकास के कार्य इतनी तेजी से हुआ है कि आज खूंटी आकांक्षी जिलों की लिस्ट में 7वें स्थान पर है. कृषि कार्य में खूंटी पूरे देश में(आकांक्षी जिलों में) दूसरा स्थान प्राप्त किया है. जल प्रबंधन योजना के जरिये शुद्ध पेयजल पहुंचाने का कार्य हो रहा है. जल प्रबंधन की योजना ग्रामीण क्षेत्र में बेहतर ढंग से लागू हो यह अधिकारी और जिम्मेवार सुनिश्चित करें. केंद्रीय मंत्री ने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया कि क्षेत्र में ट्रांसफार्मर की समस्या है इससे निजात दिलाएं. साथ ही छात्रों की मांग खूंटी में एक बीएड कॉलेज प्रारंभ करने की है. उन्होंने बताया कि केंद्रीय शिक्षा मंत्री से उन्होंने ट्राइबल यूनिवर्सिटी खोलने की मांग की है. अगर राज्य सरकार प्रस्ताव भेजती है तो खूंटी या कहीं और ट्राइबल यूनिवर्सिटी प्रारंभ करना आसान होगा. इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री जनजातीय मामले अर्जुन मुंडा, ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, पूर्व सांसद कड़िया मुंडा, तमाड़ विधायक विकास सिंह मुंडा, प्रधान सचिव ग्रामीण विकास विभाग अविनाश कुमार, विद्युत विभाग के प्रबंध निदेशक राहुल पुरवार, सचिव आराधना पटनायक, जेएसएलपीएस के सीइओ राजीव कुमार, मुंडा, बिरसा मुंडा का वंशज सुखराम मुंडा, सखी मंडल की महिलाएं, लाभुक व हजारों की संख्या में लोग उपस्थित थे.

    Advertisement
    Advertisement

    Leave a Reply

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    spot_imgspot_img

    Must Read

    Related Articles

    Don`t copy text!