spot_img

jharkhand-lockdown-झारखंड में लॉकडाउन में मिल सकती है रियायत, सिंहभूम चेंबर ऑफ कॉमर्स के प्रतिनिधि स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता से मिले, रात 10 बजे तक बाजार खोलने की मांगी इजाजत, मंत्री मंगलवार को सीएम के साथ करेंगे बैठक, चेंबर के उपाध्यक्ष मुकेश मित्तल ने अलग राह पकड़ी, मित्तल की मांग क्या है जानिये

राशिफल

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता से मिलते सिंहभूम चेंबर के अध्यक्ष विजय आनंद मूनका,पूर्व अध्यक्ष सुरेश सोंथालिया, महासचिव मानव केडिया, ज्वेलर्स एसोसिएशन के बिपिन भाई अडेसरा समेत अन्य.

जमशेदपुर : कोल्हान की बड़ी औद्योगिक और व्यापारिक संस्था सिंहभूम चेंबर ऑफ कॉमर्स के प्रतिनिधियों की एक बैठक सिंहभूम चेंबर के बिष्टुपुर स्थित भवन में हुई. इस मीटिंग के दौरान रविवार को लॉकडाउन को समाप्त करने और कारोबार के समय को रात दस बजे तक बढ़ाने को लेकर चर्चा की गयी. इस दौरान सारे लोगों ने एक राय से यह कहा कि त्योहारी सीजन में रविवार को लॉकडाउन समाप्त किया जाना चाहिए और रात दस बजे तक दुकानों को संचालित करने की इजाजत दी जानी चाहिए. इस दौरान तय किया गया कि राज्य के स्वास्थ्य एवं आपदा मंत्री बन्ना गुप्ता से वे लोग मुलाकात करेंगे, जिसके बाद इसकी मांग करेंगे. इसके बाद इन लोगों ने तत्काल स्वास्थ्य मंत्री से समय लिया. मीटिंग स्थल से ही सारे लोग स्वास्थ्य मंत्री से मिलने के लिए जमशेदपुर के कदमा स्थित आवास में पहुंच गये. इस दौरान इन लोगों ने कहा कि कोरोना में कमी आ चुकी है. तीसरी लहर को लेकर वे लोग भी सचेत है, लेकिन शनिवार को काफी भीड़ बाजार में जो रहा है. ठंड के मौसम में देखते देखते समय बीत जा रहा है. ऐसे में रात दस बजे तक कारोबार करने और रविवार के लॉकडाउन को समाप्त करने का फैसला लिया जाना चाहिए. इस दौरान मंत्री ने कार्रवाई करने का भरोसा दिया और कहा कि मंगलवार को वे खुद जाकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मुलाकात करेंगे, जिसके बाद इस पर फैसला लिया जायेगा. (नीचे पढ़े क्या है चेंबर के एक उपाध्यक्ष का डिमांड)

मुकेश मित्तल की फाइल फोटो.

चेंबर के ही उपाध्यक्ष मुकेश मित्तल ने डिमांड अलग तरीके से किया
कोरोना काल में रात्रि 8 बजे दुकानों को बंद करने एवं रविवार को लॉकडाउन का सरकार का जो निर्णय है, उसके विरुद्ध चर्चा करने हेतु सिंहभूम चेंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज द्वारा एक आवश्यक बैठक आहूत की गई. चूंकि उपाध्यक्ष जनसंपर्क मुकेश मित्तल जमशेदपुर से बाहर हैं, अतएव पत्र के माध्यम से उन्होंने अपने विचार प्रेषित किए और कहा कि हमलोगों को कारणों का गहन मंथन करना चाहिए. झारखंड की कुल जनसंख्या लगभग 3.30 करोड है, जिसमें वयस्क आबादी लगभग 2.40 करोड़ है. तदनुसार प्रथम एवं द्वितीय डोज मिलाकर कुल 4.80 करोड़ वैक्सीनेशन होना है, जिसमें अभी तक लगभग मात्र दो करोड़ वैक्सीनेशन हो पाया है. चूंकि झारखंड में डबल इंजन की सरकार नहीं है, अतः वैक्सीन प्राप्त करने में राज्य सरकार को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है. अभी यह स्पष्ट पता नहीं कि शत प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य कब तक पूर्ण हो पायेगा. तब तक झारखंड को बहुत संभल कर चलना होगा. उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की आशंका कायम है़, अखबारों में प्रकाशित खबर के मुताबिक अभी भी एक्टिव केस मिल ही रहे हैं, बल्कि पिछले दो तीन दिनों में बढ़ोत्तरी भी हुई है़. मुकेश का कहना है कि झारखंड शॉप एंड इस्टैबलिशमेंट एक्ट के आलोक में साप्ताहिक बंदी व कर्मचारियों को साप्ताहिक छुट्टी का प्रावधान है़. इसके लिए द वीकली होलिडेज एक्ट, 1942 भी लागू है़. कोरोना पूर्व भी दुकानदार मंगलवार या रविवार को अपने प्रतिष्ठान बंद रखते ही थे. अतः कोरोना काल में सरकार यदि सप्ताह में एक दिन रविवार को बंद करने का अनुरोध कर रही है़, तो हमें इस विषय पर कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए. चैंबर को चाहिए कि व्यापारी हित में केवल यह मांग करें कि रविवार को यदि किसी दुकान में साफ सफाई या रंग रोगन हो रहा हो तो प्रशासन उन्हें अनुमति दें. धनतेरस एवं दीपावली के दिन रात्रि 8 बजे बाद दुकान में यदि पूजा हो रही हो, केवल पूजन व दीपमाला हेतु प्रशासन इजाजत प्रदान करे. उपाध्यक्ष मुकेश स्मरण दिलाते हैं कि कोरोना की दूसरी लहर में हमने अपने कई व्यापारी बंधुओं को खोया है़. चेंबर के एक पदाधिकारी व कुछ कार्यसमिति सदस्य (पूर्व/तत्कालीन) भी कोरोना लहर का शिकार हो चुके हैं. ऐसा ना हो कि पर्व त्यौहार में थोड़े से व्यवसाय के लिए हमें पुनः कोई नुकसान ना हो. विशेषकर किसी भी समुदाय से अपने बुद्धिजीवी व्यापारी समुदाय की तुलना नहीं की जानी चाहिए.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!