spot_img

jharkhand-mla-in-crisis-भाजपा विधायक भानु प्रताप शाही के खिलाफ हाईकोर्ट का आदेश, डिस्चार्ज पीटिशन खारिज, इडी कर सकती है कार्रवाई, बंधु के बाद भानु की मुश्किलें बढ़ी, समरी लाल, भानु, कमलेश सिंह के बाद राजनीतिक संकट बढ़ने की उम्मीद

राशिफल

पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास के साथ विधायक भानु प्रताप शाही.

रांची : भाजपा विधायक सह पूर्व मंत्री भानु प्रताप शाही की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है. भाजपा के कांके से विधायक समरी लाल के बाद भानु प्रताप शाही की मुश्किलें बढ़ चुकी है. सोमवार को झारखंड हाईकोर्ट ने सभी पक्षों को सुनने के बाद डिस्चार्ज पीटिशन भानु प्रताप शाही का खारिज कर दिया. आय से अधिक संपत्ति के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (इडी) ने एफआइआर दर्ज किया है. इस मामले में इडी की ओर से भानु प्रताप शाही और उनके सारे संबंधियों की संपत्तियों और उनकी कंपनियों की आय को भी जोड़ा है. याचिकाकर्ता के अधिवक्ता अजीत कुमार ने अदालत में रख पक्ष और बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने पारित किये गये कई ऐसे फैसले है. वहीं इडी की ओर से अधिवक्ता मदन कुमार ने पक्ष रखते हुए कहा कि डिस्चार्ज पीटिशन मामले में पूरे साक्ष्य के आकलन और प्रथम दृष्टया के आधार पर फैसला नहीं सुनाया जा सकता है. आपको बता दे कि ईडी ने विधायक भानु प्रताप शाही पर चाल साल चार माह में ज्ञात आय से लगभग 7 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति कमायी है, ऐसा आरोप है. इसमें इडी ने उनकी उनके सगे संबंधियों समेत कंपनियों की संपत्ति को संलग्न किया है. इसके खिलाफ भाजपा विधायक भानु प्रताप शाही ने झारखंड हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. भानु पर आय से 3217 फीसदी अधिक संपत्ति अर्जित की है.
समरी लाल, भानु प्रताप और कमलेश सिंह पर भी संकट, बंधु तिर्की हटाये जा चुके है पद से
भाजपा के कांके विधायक समरी लाल की जाति प्रमाण पत्र में गड़बड़ी को लेकर फंस चुके है. भाजपा विधायक भानु प्रताप शाही भी मामले में फंसते नजर आ रहे है. इसके अलावा एनसीपी के विधायक कमलेश सिंह पर भी आय से अधिक संपत्ति का मामला चल रहा है. कमलेश सिंह के ऊपर भी 5.83 करोड़ रुपये से अधिक मनी लाउंड्रिंग करने का आरोप है.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!