spot_img

Jharkhand-naxalite-surrender : 25 लाख के इनामी नक्सली राधेश्याम यादव ने रांची पुलिस के समक्ष किया आत्मसमर्पण, Lohardaga : लोहरदगा के हरकट्टा जंगल से भारी मात्रा में हथियार बरामद

राशिफल

रांची / लोहरदगा : कुख्यात नक्सली विमल उर्फ राधेश्याम यादव ने शुक्रवार को रांची पुलिस के समक्ष आत्म समर्पण कर दिया. वहीं लोहरदगा के हरकट्टा जंगल से सर्च अभियान के दौरान पुलिस ने भारी मात्रा में हथियार बरामद किया है. इसे झारखंड पुलिस की एक बड़ी सफलता माना जा रहा है. बीते कई दिनों से झारखंड पुलिस ने नक्सलियों के खिलाफ अभियान चलाया था. उससे नक्सली दस्ता टूट रहा है. इसी का नतीजा है कि आज राधेश्याम ने झारखंड पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया. राधेश्याम स्पेशल एरिया कमेटी सदस्य रहा है. उस पर झारखंड पुलिस ने 25 लाख का इनाम रखा था. जानकारी देते हुए आईजी अभियान एवी होमकर ने बताया कि झारखंड पुलिस ने राज्य के नक्सलवाद प्रभावित इलाकों में अन्य केंद्रीय बलों के साथ मिलकर पुलिस महानिदेशक के दिशा-निर्देश पर लगातार अभियान चलाया गया. इसी का फल है कि आज राधेश्याम ने आत्म समर्पण किया है. झारखंड के आत्मसमर्पण एवं पुर्णवास नीति के तहत राधेश्याम को सुविधाएं दी जाएंगी. इस नीति के तहत अब तक कई नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है और समाज की मुख्य धारा से जुड़कर आम जिंदगी जी रहे हैं. उन्होंने बताया कि राधेश्याम 90 के दशक में नक्सली संगठन से जुड़ा था और नक्सलियों के लिए काम करना शुरू किया. बाद में उसे जानकारी हुई कि पूर्व में नक्सली जिस मकसद से कार्य करते थे अब उस मकसद को भूल चुके हैं. अब नक्सलियों का मकसद बस रुपये कमाना है. कई बड़े नक्सलियों के बच्चे बड़े स्कूलों में पढ़ते हैं, जबकि उनके बच्चे पढ़ाई से वंचित रह जाते हैं. यही कारण है कि उसने संगठन छोड़ने का फैसला लिया है. विमल के सरेंडर से बूढ़ा पहाड़ इलाके में नक्सलियों के लिए बड़ी क्षति माना जा रहा है. मूल रूप से सलेमपुर थाना करौना जिला जहानाबाद बिहार का रहने वाला विमल यादव अरविंद की मौत के बाद से नेतृत्व संभाल रहा था. (नीचे भी पढ़ें)

लोहरदगा के हरकट्टा जंगल से भारी मात्रा में हथियार बरामद
झारखंड पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है. लोहरदगा जिले के हरकट्टा जंगल में पुलिस ने नक्सलियों के खिलाफ सर्च अभियान के दौरान भारी मात्रा में हथियारों का जखिरा बरामद किया है. सारे हथियार अत्याधुनिक है. पुलिस को कुल 20 हथियार मिले है जिसमें एलएमजी, इंसास, सेमी ऑटोमेटिक रायफलस थ्री नॉट थ्री और थ्री फिफ्टीन रायफल समेत कई अन्य हथियार शामिल है. संभावना जताई जा रही है कि नक्सलियों ने यह हथियार जंगल में छुपाकर रखा था ताकि पुलिस पर हमला कर सके. इस घटना के बाद से नक्सलियों की कमर टूट गई है. लोहरदगा एसपी प्रियंका मीणा के अनुसार सर्च अभियान लगातार जारी रहेगा. बता दे कि झारखंड पुलिस इन दिनों लगातार नक्सलियों के खिलाफ अभियान चला रही है. इसी अभियान के तहत शुक्रवार को ही 25 लाख के इनामी नक्सली राधेश्याम यादव ने रांची में पुलिस के समक्ष सरेंडर किया था.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
[adsforwp id="129451"]

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!