spot_img

jharkhand-school-reopening-झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मिले स्कूल प्रबंधन के लोग, नर्सरी से ऊपर की कक्षाओं को जल्द खोलने पर फैसला ले सकती है सरकार

राशिफल

जमशेदपुर : नर्सरी से ऊपर के बच्चों का स्कूल खोलने की मांग को लेकर झारखंड प्रदेश पासवा का प्रतिनिधिमंडल प्रदेश अध्यक्ष आलोक कुमार दूबे के नेतृत्व में मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से मिला.
प्रतिनिधिमंडल में उपाध्यक्ष लाल किशोर नाथ शामिल शाहदेव, महासचिव डा राजेश गुप्ता छोटू,अरविन्द कुमार एवं रांची महानगर पासवा प्रभारी डा सुषमा केरकेट्टा ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा. पासवा पदाधिकारियों ने संगठन की ओर से शिक्षक सम्मान समारोह का मोमेंटम भी मुख्यमंत्री को दिया. प्रदेश अध्यक्ष आलोक कुमार दूबे ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि दिसंबर महीने में ही नर्सरी से ऊपर के बच्चों के स्कूल संचालन की अनुमति दी जाए क्योंकि दिसंबर महीने में कम ही स्कूल खुलते हैं, ऐसे में 10 दिन दिसंबर में स्कूल खोलकर कोरोना संक्रमण के प्रभाव का मूल्यांकन भी कर सकते हैं और फिर स्थितियां अगर सामान्य रहे तो जनवरी से पूरी तरह से स्कूल खोल देना चाहिए. किशोर शाहदेव एवं डा राजेश गुप्ता मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट कराते हुए कहा कि 2019 में रघुवर दास सरकार द्वारा आरटीई के मूल कानून में किए गये संशोधन को निरस्त करने की मांग की, मान्यता के लिए 25000 रुपये का चालान एवं एक लाख रुपये एफडी की व्यवस्था समाप्त करने की मांग की. आठवीं क्लास के लिए पासवर्ड दिए जाने की भी मांग की है ताकि किसी भी बच्चों को परीक्षा से वंचित नहीं किया जा सके. मुख्यमंत्री ने पासवा के अनुरोध को गंभीरतापूर्वक सुना है और इस पर उचित निर्णय लेने का आश्वासन दिया है. (नीचे देखे पूरी खबर)

रमण झा.

दिसम्बर से खुलने की उम्मीद : रमन झा
पासवा जिलाध्यक्ष रमन झा ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष आलोक दुबे ने मुख्यमंत्री से वार्ता के दौरान मिले सकारात्मक आश्वासन से उम्मीद जतायी है कि दिसम्बर से नर्सरी से ऊपर की कक्षा संचालन की अनुमति मिल जाएगी. उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने भी प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया है कि वे भी इस सम्बंध में मुख्यमंत्री से सकारात्मक पहल करने का अनुरोध करेंगे.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!