jharkhand-shahid-funeral-साहेबगंज में शहीद एएसआइ का सरायकेला पहुंचा शव, रोते-बिलखते रहे परिवार, जिले में दिया गया राजकीय सम्मान-video

Advertisement
Advertisement

सरायकेला : झारखंड के साहेबगंज जिले के बहरेट थाने में पदस्थापित एएसआई चंद्राय सोरेन का पार्थिव शरीर पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनके पैतृक गांव (सरायकेला-खरसावां जिला) लाया गया. जहां सामाजिक रस्म अदायगी के बाद शहीद का पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन हो गया. इस दौरान स्थानीय विधायक सह मंत्री चंपई सोरेन के साथ सरायकेला-खरसावां के एसपी मोहम्मद अर्शी सहित तमाम पुलिस पदाधिकारी मौजूद थे. सबों की आंखें नम थीं. सभी को अपने सपूत के शहदत पर गर्व महसूस हो रहा था. इससे पूर्व शहीद के पार्थिव शरीर को जिला पुलिस केंद्र से पूरे सम्मान के साथ विशाल जुलूस से साथ सरायकेला प्रखंड स्थित शहीद के पैतृक गांव छोटा दानवा लाया गया. जहां पारिवारिक रस्म अदायगी के बाद उनके पार्थिव शरीर को सलामी दी गयी.

Advertisement
Advertisement

तिरंगे में लिपटे जवान के पार्थिव शरीर से वीरता की प्रेरणा ले रहे युवा-बच्चे और बुजुर्ग भारत माता की जय का उदघोष करते रहे. आपको बता दें कि एएसआई चंद्राय सोरेन पिछले दिनों अपराधियों के साथ लोहा लेते हुए उनकी गोली से घायल हो गए थे. जिनका बीते शुक्रवार को रांची स्थित मेडिका अस्पताल में निधन हो गया था, जिसके बाद राज्य के मुख्यमंत्री ने श्रद्धांजलि देते हुए हर संभव सहयोग देने का बरोसा दिलाया था. वहीं कल शहीद का पार्थिव शरीर जिला पुलिस केंद्र पहुंचा था, जहां जिले के तमाम पुलिस पदाधिकारियों ने श्रद्धांजलि अर्पित की थी.

Advertisement

वहीं मंत्री चंपई सोरन ने शहीद के शहादत पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए राज्य के मुख्यमंत्री की प्रतिबद्धता दोहरायी, और कहा जल्द ही राज्य से अपराध और अपराधियों का खात्मा होगा. एसपी मोहम्मद अर्शी ने शहीद के परिवार को हर संभव सहयोग दिलाने का बरोसा दिलाते हुए कहा कि जब कोई जवान ड्यूटी के दौरान शहीद होता है, तो फक्र होता है. इस तरह की शहादत से जवानों को सीख लेनी चाहिए.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement

Leave a Reply