spot_img

jharkhand-teachers-protest-झारखंड सरकार के नये फरमान से शिक्षकों में गुस्सा, सरकार पर मांगों की फेहरिश्त भेजी गयी, तैयार होगी आंदोलन की रणनीति

राशिफल

जमशेदपुरः प्रखंड अध्यक्ष राजेंद्र कुमार कर्ण झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ की अध्यक्षता में एक प्रतिनिधि मंडल प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी जमशेदपुर से विभिन्न मांगों को लेकर प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी को ज्ञापन सौंपा. शिक्षकों का कहना है कि विभिन्न क्षेत्रों जहां कोविड टेस्ट, कोविड वैक्सीनेशन, कोविड डाटाइंट्री, कोविड कंट्रोल रूम, विभिन्न निर्वाचन कोषांग, बीएलओ एवं अन्य गैर शैक्षणिक कार्य में प्रति नियुक्त शिक्षक शिक्षिकाओं को विद्यालय जाकर बायोमैट्रिक अटेंडेंस बनाने के लिए एवम पुनः गैर शैक्षणिक आवंटित कार्य स्थल पर कार्य करने को कहा गया है, फिर विद्यालय में जाकर वापसी बायोमैट्रिक बनाने को कहा गया है, जो कि पूर्ण रूप से और व्यवहारिक एवं मानसिक प्रताड़ना जैसा है. क्योंकि आवंटित गैर शैक्षणिक कार्य स्थल विद्यालय के समीप नहीं है. विद्यालय 8:00 से 2:00 बजे तक एवं आवंटित गैर शैक्षणिक कार्य 10:00 से 5:00 बजे तक अथवा शिफ्ट अनुसार हो रहा है. प्रति नियुक्त शिक्षक- शिक्षिका रेलवेस्टेशन, सड़क पर, कंट्रोल रूम एवं विभिन्न कार्यस्थल पर कार्य कर रहे हैं. जहां एटेंडेंस बेस उपलब्धन हीं है. साथ ही एक कर्मी द्वारा दो कार्य स्थल दो बार जाकर उपस्थिति दर्ज करना असंभव है. उन शिक्षकों की मांग है कि प्रतिनियुक्त स्थल पर ही अटेंडेंस बेस उपलब्ध कराया जाए. (नीचे भी पढ़ें)

मांगों पर विरोध-अनुपस्थिति विवरणी के साथ ऑनलाइन उपस्थिति की प्रतिलिपि मांग की गई है. इस संबंध में कहना है कि ऑनलाइन उपस्थिति की जांच भवदीय द्वारा स्वयं प्रखंड संसाधन केंद्र में किया जा सकता है. जिससे पेपर हित कार्य पद्धति को बढ़ावा दिया जा सकता है. साथ ही प्रखंडाधीन कुछ विद्यालय के शिक्षकों की सेवा सत्यापन आंशिक अवधि का किया गया है. इसे किन परिस्थितियों में किया गया? आंशिक सेवा सत्यापन को पूर्ण अवधि का सत्यापन किया जाए.
चावल उठाव के लिए शिक्षक- शिक्षिकाओं को विद्यालय से काफी दूर प्रखंड मुख्यालय करनडीह जाना पड़ता है. जहां से चावल उठाव हेतु अधिक भाड़ा का वहन करना पड़ता है. विभाग द्वारा चावल उठाव का भाड़ा नहीं दिया जाता है. शिक्षक स्वयं के पैसे से चावल उठाव करते हैं. प्रखंड अपने स्तर से चावल विद्यालय- विद्यालय पहुंचाए इसकी व्यवस्था किया जाए या भाड़ा का भुगतान चावल उठाव केंद्र पर तत्काल भुगतान किया जाए.
-प्रखंड द्वारा हमेशा एक ही रिपोर्ट बार-बार मांगा जाता है जिससे शिक्षक -शिक्षिकाओं को बार-बारबी आरसी, सीआर सीजाना पड़ता है. जिसका किसी भी प्रकार का भुगतान शिक्षकों को नहीं किया जाता है. विद्यालय वार प्रखंड में फाइल बनाने की व्यवस्था की जाए ताकि संचिका सुरक्षित रहस के तथा सभी विद्यालय की विभिन्न रिपोर्ट संरक्षित रहे.
प्रखंड में बहुत से विद्यालय एक शिक्षा की य हैं जहां कार्य संचालन में असुविधा होती है. अतः एक शिक्षकीय विद्यालय में शिक्षक का पदस्थापित होने तक एक शिक्षक प्रतिनियोजित किया जाए. मुख्य रुप से प्रतिनिधि मंडल में सचिव पीथो सोरेन,अरुण कुमार सिंह, रामाकांत शुक्ला, श्यामलाल होनहागा,अनिल कुमार चौधरी, राजेश कुमार सिंहा, शिवाजी सिंह, बागुन पातर, अंजनी कुमार, दीपक कुमार सिंह, श्यामसुंदर शर्मा, प्रसाद सिंह सरदार, कृष्णमोहन ठाकुर, सुनाराम सिंह, राजेश कुमार सिंह, डॉ स्वर्णप्रभा, राजेश कुमार झा, रीता रानी मंडल, शत्रुघ्न सिन्ह, प्रवीण कुमार सिंह, उत्तम कुमार, संतोष कुमार शर्मा आदि संघ सदस्य उपस्थित रहे.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!