jharkhand-unlock-झारखंड में खुलेंगे कक्षा 5 से लेकर 10 तक के स्कूल, मंदिर, मसजिद समेत तमाम धार्मिक स्थल खुलेंगे, वीकेंड लॉकडाउन हटेगा, बुधवार को होगा अहम फैसला, कांग्रेस के विधायक भी मुख्यमंत्री से मिले

राशिफल

रांची : झारखंड में लॉकडाउन में राहत को बढ़ाने के लिए बुधवार 8 सितंबर को दोपहर एक बजे मीटिंग बुलायी गयी है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक बुलायी गयी है. इसमें तीन अहम फैसला लिया जा सकता है, जिसको लेकर विभागीय तैयारीर की जा रही है. बताया जाता है कि स्कूलों में कक्षा 5 से लेकर 10 तक पढ़ाई शुरू करा दी जायेगी. अभी कक्षा 9, 10 और 11 और 12वीं कक्षा तक चलता है. 11वीं और 12वीं के साथ अब पांचवीं तक के स्कूलों के क्लास संचालित करने पर फैसला लिया जा सकता है. इसके अलावा मंदिर, मसजिद समेत तमाम धार्मिक स्थलों को भी खुला जायेगा. सोमवार को मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से झारखंड विधानसभा स्थित मुख्यमंत्री कक्ष में राज्य के कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग के मंत्री बादल पत्रलेख ने मुलाकात की. मंत्री श्री बादल ने मुख्यमंत्री को निवेदन पत्र देकर बाबा बैद्यनाथ मंदिर देवघर, बासुकीनाथ मंदिर, रजरप्पा, ईटखोरी, पहाड़ी मंदिर सहित राज्यभर में स्थित दर्जनों बंद मंदिर को पूजा-अर्चना के लिए खुलवाने का अनुरोध किया. निवेदन पत्र में मंत्री श्री बादल ने कहा है कि कोरोना महामारी की वजह से पूरा विश्व सहित हमारा राज्य भी प्रभावित रहा है, संक्रमण के इस दौर में मंदिरों को सुरक्षात्मक दृष्टिकोण से बंद रखा गया है. अब श्रद्धालुओं द्वारा पूजा-अर्चना हेतु बंद मंदिरों को खोलने का अनुरोध किया जा रहा है. मंदिरों से बहुत सारे लोगों के रोजी-रोजगार भी जुड़े हुए हैं. उन्होंने लिखा है कि वर्तमान में कोरोना संक्रमण का प्रकोप घटा हुआ है. इस कारण भक्तों की श्रद्धा को देखते हुए एवं मंदिरों पर आश्रित लोगों के परिवारजनों की आर्थिक समस्या के मद्देनजर बाबा बैद्यनाथ मंदिर देवघर, बासुकीनाथ मंदिर, रजरप्पा मंदिर, ईटखोरी, पहाड़ी मंदिर सहित राज्यभर स्थित दर्जनों बंद मंदिरों को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पूजा-अर्चना के लिए खुलवाने पर सहानुभूति पूर्वक विचार किया जाए. मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने इस संबंध में यथोचित निर्णय लेने का आश्वासन मंत्री श्री बादल को दिया. मौके पर ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री श्री आलमगीर आलम, विधायक श्री उमाशंकर अकेला, श्री इरफान अंसारी, श्री राजेश कच्छप, एवं श्रीमती ममता देवी उपस्थित थे. इस दौरान मुख्यमंत्री ने गंभीरता से मामले में कार्रवाई करने का आश्वासन दिया. बताया जाता है कि वीकेंड लॉकडाउन को भी समाप्त करने पर फैसला बुधवार को हो जायेगा. वीकेंड लॉकडाउन को समाप्त करने का भी डिमांड हो रहा है. झारखंड में भी कोरोना में कमी आई है इस कारण छूट का डिमांड भी हो रही है. इन सारी बातों को देखते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने 8 सितंबर को दोपहर 1 बजे मीटिंग बुला दी है. मुख्यमंत्री -सह-अध्यक्ष, झारखण्ड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकार हेमन्त सोरेन की अध्यक्षता में कोविड 19 हेतु प्रतिबंध और छूट के परिपेक्ष्य में निर्णय लिए जाने हेतु झारखण्ड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक विधानसभा स्थित मुख्यमंत्री कक्ष में होगी. बैठक में आपदा सह स्वास्थ मंत्री बन्ना गुप्ता, मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य, चिकित्सा, शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग, प्रधान सचिव, वित्त विभाग, सचिव, आपदा प्रबंधन प्रभाग, सचिव, कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग भाग लेंगे.

Must Read

Related Articles