jharkhand-vidhansabha-झारखंड विधानसभा में भाजपा के हरे रामा हरे कृष्णा और ढोल मंजिरे के बीच सदन नहीं चल पाया सदन, हंगामा के बीच पारित हुआ 4684.93 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट, भाजपा विधायकों ने जमकर काटा बवाल, नाचने लगे भाजपा के विधायक, रामेश्वर उरांव ने भी पढ़ दिया हनुमान चालिसा, मंगलवार तक के लिए स्थगित हो गयी कार्यवाही, जानें कब कब क्या हुआ सोमवार को विधानसभा में

राशिफल

विधानसभा अध्यक्ष रवींद्र नाथ महतो विधायकों को शांत कराते हुए.

रांची : झारखंड विधानसभा में मानसून सत्र के दूसरे दिन जमकर हंगामा हुआ. भाजपाइयों ने सदन में नमाज के लिए अलग कमरा दिये जाने का जोरदार विरोध किया और इस दौरान हरे रामा हरे कृष्णा से लेकर ढोल मंजिरे तक बजाये और जमकर बवाल काटा. इस हंगामा के बीच ही राज्य के वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने 4684.93 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट पेश कयिा, जिसको पारित कर दिया गया. सदन की स्थिति का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि सिर्फ 17 मिनट तक ही सदन की कार्यवाही चल पायी और फिर 12.47 बजे तक कार्यवाही को स्थगित र दिया गया. 12 बजकर 51 मिनट पर फिर से सदन की कार्यवाही को शुरू की गयी तो फिर से हंगामा हो गया, जिसके बाद दोपहर दो बजे तक सदन की कार्यवाही को स्थगित कर दी गयी. भाजपा और विपक्ष नियोजन नीति को रद्द करने की मांग कर रहा था. वहीं फिर से हंगामा होता चला गया. हालात तो एक बार ऐसा आया कि वेल में विधायक आ गये जबकि रिपोर्टिंग टेबुल पर विधायक रणधीर सिंह चढ़ गये और हंगामा करने लगे, जिसके बाद सदन की कार्यवाही को मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दिया. विधानसभा अध्यक्ष रवींद्र नाथ महतो कई बार समझाने का प्रयास किये, लेकिन भाजपा विधायक नहीं माने और जयश्री राम, हरहर महादेव के नारे लगाते रहे, जिसके बाद सदन को मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया. (नीचे पूरी खबर पढ़े)

भाजपा के विधायक सदन के बाहर ढोल मंजिरा के बीच हंगामा करते हुए.

झारखंड विधानसभा के बाहर ढोल-मंजिरा लेकर विधायकों ने किया हरे कृष्णा का जाप, नीरा यादव ने सबको लगाये टीके
झारखंड विधानसभा में एक कमरा नमाज के लिए देने के मामले को लेकर भाजपा विधायकों ने विधानसभा के बाहर जमकर बवाल काटा. इस दौरान विधायकों ने ढोल मंजिरा लेकर और झाल लेकर नारे लगाते रहे. हरे रामा हरे कृष्णा का जाप करते रहे और बोल लम और हर हर महादेव के नारे गुंजते रहे. इस दौरान भाजपा विधायक भानु प्रताप शाही ने सबके बीच पीले कपड़े भी बांटे. वहीं, विधायक और पूर्व मंत्री नीरा यादव ने सबको तिलक लगाया. हालत तो देखने लायक तब हो गयी, जब भाजपा के देवघर विधायक नारायण दास हरे रामा हरे कृष्णा के धुन पर नाचने लगे. इस दौरान अनंत ओझा, मनीष मेहता, जयप्रकाश पटेल, समरी लाल, शशिभूषण मेहता, विरंची नारायण समेत कई लोग मौजूद थे. इसके अलावा नियोजन नीति में हिंदी, संस्कृत, मगही, अंगिका को शामिल करने की मांग भी की गयी. हालांकि, इसके जवाब में कांग्रेस के मंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा कि ये कोई नयी परंपरा नहीं है. जो पहले से था, उसको ही रखा गया है. इस दौरान रामेश्वर उरांव ने हनुमान चालीसा का पाठ भी किया तो राज्य के मंत्री बन्ना गुप्ता ने भाजपा को नौटंकी करार दिया. (नीचे पूरी खबर पढ़े)

सदन के वेल में पहुंचे भाजपा के विधायक.

कांग्रेस की अंबा प्रसाद ने बेरोजगारों के रोजगार का सवाल उठाया तो आलमगीर आलम ने केंद्र को महंगाई के लिए घेरा
हंगामा के दौरान ही अंबा प्रसाद ने कहा कि सरकार को बताना चाहिए कि कितने लोगों को रोजगार मिलेगी और सरकार का क्या पक्ष है. इसके अलावा आलमगीर आलम ने केंद्र सरकार को घळेरा और कहा कि महंगाई आम लोगों का जीना मुश्किल कर दी है. इस तरह के मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश हो रही है.
महिला कर्मचारी के बैठने की जगह पर भाजपा विधायकों के खड़ा होने पर स्पीकर आपे से बाहर हो गये और फिर मार्शल बुला लिया

सदन की कार्यवाही के दौरान भाजपा ने सदन में नियोजन नीति में किये गये बदलाव का विरोध किया. इसका विरोध करते हुए भाजपा विधायक रणधीर सिंह ने रिपोर्टिंग कुर्सी पर चढ़कर हंगामा किया. वहीं, झामुमो के लोबिन हेम्ब्रम इस दौरान केंद्र सरकार के खिलाफ आवाज उठा रहे थे. इस दौरान भाजपा के विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा ने कार्य मंत्रणा समिति में केवल महंगाई को जोड़ने और रोजगार को हटाने पर कड़ी नाराजगी जतायी. विधानसभा अध्यक्ष रवींद्र नाथ महतो तब गुस्से से लाल हो गये, जब भाजपा विधायक महिला कर्मचारी की रिपोर्टिंग टेबुल पर चढ़ गये. इस पर सदन की कुर्सी से खड़ा होकर विधानसभा अध्यक्ष ने फटकार लगायी और कहा कि वे लोग जाकर अपनी कुर्सी पर बैठे.
एक साल बाद आये मंत्री जगरनाथ महतो

हंगामा के बीच कोरोना के बाद अपने फेफड़े के इलाज कराने के बाद शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो विधानसभा पहुंचे. करीब एक साल बाद वे सदन में पहुंचे. वे बीमार चल रहे थे, जिस कारण वे सदन में मौजूद नहीं रह पा रहे थे.

Must Read

Related Articles