spot_imgspot_img
spot_img

kolhan-big-news-पूर्व विधायक साधुचरण महतो का निधन, सोमवार को उनके राजनीतिक गुरु केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा मिलकर लौटे थे, कोल्हान में शोक की लहर

आदित्यपुर/ जमशेदपुरः कोल्हान के राजनीतिक जगत के लिए बड़ी खबर कोलकाता से आ रही है जहां किडनी ट्रांसप्लांट के बाद स्वास्थ्यलाभ कर रहे ईचागढ़ के पूर्व विधायक सह भाजपा नेता साधु चरण महतो की देर रात तबियत बिगड़ने के बाद मंगलवार सुबह उनका निधन हो गया. विदित रहे कि पूर्व विधायक का पिछले दिनों कोलकाता के रविंद्र नाथ टैगोर अस्पताल में किडनी ट्रांसप्लांट किया गया था जिसके बाद वह कोलकाता में ही रहकर स्वास्थ्य लाभ ले रहे थे सोमवार को अचानक उनकी तबीयत बिगड़ने पर उन्हें देखने केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, भाजपा नेता कुणाल षाड़ंगी, रांची सांसद संजय सेठ, जमशेदपुर सांसद विद्युत वरण महतो ने कोलकाता पहुंचकर डॉक्टरों से साधु चरण महतो के स्वास्थ्य से संबंधित जानकारी हासिल की थी.(नीचे भी पढे)

मगर देर रात अचानक तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें सीसीयू में भर्ती कराया गया. जहां मंगलवार की सुबह लगभग 11:30 बजे के आसपास उनके निधन की सूचना मिली. सूचना के बाद कोल्हान की राजनीतिक जगत में शोक की लहर दौड़ पड़ी. पूर्व विधायक के मौत की सूचना मिलते ही आदित्यपुर नगर निगम के डिप्टी मेयर अमित सिंह सहित उनके पारिवारिक सदस्य सड़क मार्ग से कोलकाता के लिए रवाना हो गए हैं. स्वर्गीय महतो अपने पीछे पत्नी सहित तीन पुत्री और एक पुत्र छोड़ गए हैं. इधर भाजपा नेता की मौत की सूचना मिलते ही शोक जताने वालों की प्रतिक्रिया आने लगी है. आदित्यपुर नगर निगम के पूर्व उपाध्यक्ष पुरेंद्र नारायण सिंह ने साधु चरण महतो के असामयिक मौत पर संवेदना जताते हुए कहा कि कोल्हान की राजनीति से एक शेर की दु:खद विदाई हुई है. उनकी भरपाई निकट भविष्य में संभव नहीं. (नीचे भी पढे)

वहीं जन कल्याण मोर्चा के अध्यक्ष और सरायकेला- खरसावां जिला बार एसोसिएशन के उपाध्यक्ष ओमप्रकाश ने कहा झारखंड की राजनीति से एक तेजतर्रार नेता का इस तरह चले जाना दु:खद घटना है. ईश्वर दिवंगत आत्मा को सद्गति प्रदान करें. उन्होंने ईश्वर से परिवार को दुख की इस घड़ी में शक्ति प्रदान करने की कामना की. वहीं कांग्रेस के कोल्हान प्रवक्ता सुरेश धारी ने संवेदना प्रकट करते हुए कहा, कि राजनीतिक प्रतिद्वंदिता से अलग हटकर उनके साथ निजी संबंध था. हमने एक हम उम्र राजनीतिज्ञ को खो दिया. राजनीतिक जगत के लिए यह एक बड़ी क्षति है. भाजपा नेता सतीश शर्मा ने स्वर्गीय महतो की मौत पर कहा मैं नि:शब्द हूं हमने एक बड़ा भाई के साथ एक मार्गदर्शक को खो दिया है. पार्टी को बड़ी क्षति हुई है. (नीचे भी पढे)

आक्रामक तेवर से साधु हुए थे लोकप्रियः सरायकेला-खरसावां जिला स्थित आदित्यपुर निवासी साधुचरण महतो इसी जिले के ईचागढ़ विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के पूर्व विधायक थे. वे आक्रामक तेवर की वजह से जनता के बीच लोकप्रिय थे. इन्होंने 2014 के विधानसभा चुनाव में पूर्व उपमुख्यमंत्री स्वर्गीय सुधीर महतो की पत्नी सविता महतो को 42,250 वोट से हराया था. साधुचरण महतो 2019 के चुनाव में भी ईचागढ़ से भाजपा के उम्मीदवार थे, लेकिन झारखंड मुक्ति मोर्चा की उम्मीदवार सविता महतो से हार गए थे. (नीचे भी पढे)

त्रिकोणीय मुकाबले में इन्हें पूर्व विधायक अरविंद सिंह उर्फ मलखान सिंह से भी कड़ी टक्कर मिली थी. बहरहाल, साधु महतो पर सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने के कई मामले दर्ज हुए थे. विधायक रहते हुए भी केस-मुकदमे झेलने पड़े थे. जनता की हर छोटी-बड़ी समस्या को सुलझाने के लिए पूरी ताकत झोंक देते थे. स्वर्णरेखा परियोजना के विस्थापितों के लिए उन्होंने काफी संघर्ष किया था.

WhatsApp Image 2022-05-24 at 7.01.03 PM
WhatsApp Image 2022-05-24 at 7.01.03 PM (1)
previous arrow
next arrow
WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!