Ranchi-Violence-रांची हिंसा का मास्टर माइंड नवाब चिश्ती हर दल के नेताओं का दुलारा, पुलिस हर बिन्दु पर गंभीरता से कर रही जांच

राशिफल


रांची: रांची में उपद्रव और हिंसा भड़काने का आरोपित नवाब चिश्ती का शौक राजनेताओं के साथ फोटो खिंचवाना रहा है. हालांकि वह कई बड़े नेताओं के काफी करीब रहा. फोटो में उसके बाडी लैंग्वेज से नेताओं से घनिष्ठता का आभास होता है. महाराष्ट्र के सांसद इमरान प्रतापगढ़ी, कांग्रेस के पूर्व विधायक बंधु तिर्की, कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी, झामुमो सांसद महुआ माजी, भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी, कांग्रेस के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, खेल मंत्री हफीजुल हसन जैसे कई नेताओं के साथ उसकी पुरानी तस्वीरें सार्वजनिक हुई हैं. वह बड़े-बड़े नेताओं के साथ फोटो खिंचवा कर उनसे करीबी दर्शाता रहा है. यह उसका शौक है या सचमुच में उन नेताओं से उसकी करीबी रही है, यह तो जांच के बाद ही पता चल पाएगा. नवाब चिश्ती की गिरफ्तारी के बाद कई फोटो वायरल हुए हैं. पुलिस हर बिंदु पर गंभीरता से जांच कर रही है.

पहले से ही हिंसा की हुई थी तैयारी
जुमे की नमाज के बाद रांची में प्रदर्शन के दौरान हिंसा भड़की थी. इसमें दो लोगों की मौत हो गई थी. दर्जनों लोग जख्मी हुए थे. उपद्रवियों के फेंके गए पत्थर से कई पुलिस अधिकारी भी गंभीर रूप से घायल हुए थे. यह हिंसा अचानक ही नहीं भड़की थी. बल्कि इसके लिए प्लान तैयार किए गए थे. लोगों को गुमराह करने, भड़काने तथा उत्तेजित करने के लिए साजिश रची गई थी. हिंसा का प्लान पहले ही तैयार कर लिया गया था. उपद्रवियों को बस उचित समय एवं स्थान तय करना था. जुमे के दिन काफी संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोग नमाज में एक साथ जुटते हैं. मेन रोड जगह भी महफूज थी.

पुलिस से लेकर नेता तक पहचानते हैं नवाब चिश्ती को
शहर की हर थाना की पुलिस एवं कई राजनीतिक दलों के नेता नवाब चिश्ती को पहचानते हैं. वह डोरंडा इलाके का रहने वाला है. शहर में बवाल होने के बाद पुलिस ने सबसे पहले उन लोगों का लिस्ट तैयार किया जो पहले से दंगा कराने के आरोप में जेल जा चुके हैं. उस लिस्ट भी सबसे पहला नाम नवाब चिश्ती का ही आया. पुलिस ने जांच शुरू की. कई लोगों से पूछताछ पर पता चला कि उपद्रवियों की भीड़ में घटना के दिन राजेंद्र चौक के पास नवाब चिश्ती भी था.

कई दिनों से शहर में सक्रिय था नवाब चिश्ती
पुलिस के अनुसार, नवाब चिश्ती का कहना है कि उसने भीड़ को भड़काने का काम नहीं किया है. पुलिस ने जिन लोगों को गिरफ्तार किया है उनसे पूछताछ की तो पता चला कि नवाब पिछले कई दिनों से इस उपद्रव के लिए शहर में सक्रिय था. उसे जानकारी थी कि शहर में बवाल होगा.

इंटरनेट मीडिया पर उन्माद फैलाने में रहा सक्रिय
पुलिस के मुताबिक, नवाब चिश्ती इंटरनेट मीडिया पर वीडियो और संदेश लिखकर धार्मिक उन्माद फैलाने में सक्रिय रहता है. पुलिस नवाब का फेसबुक अकाउंट समेत सभी सोशल मीडिया पर डाले गए पोस्ट को खंगाल रही है. पुलिस ने नवाब को वर्ष 2019 में दंगा के दौरान दो लोगों पर चाकू से वार कर हत्या करने के प्रयास में जेल भेजा था. इसके अलावा भी वह कई बार जेल जा चुका है. फिर भी नेता उसके साथ फोटो खिंचवाने से इन्कार नहीं करते.

Must Read

Related Articles