spot_img

sakchi- gurdwara- election-साकची गुरुद्वारा का चुनाव हुआ रोचक, रविवार को 1666 मतदाता चुनेंगे अपना नया प्रधान, मंटू व निशान में कड़ा मुकाबला, देर रात तक चलता रहा जोड़तोड़ का खेल, तैयारियां पूरी, मतदान केंद्र पर मोबाइल ले जाने पर रोक

राशिफल


जमशेदपुर: कोरोना को लेकर लंबित साकची गुरुद्वारा के प्रधान पद को लेकर होने वाले चुनाव के इंतजार की घड़ियां खत्म हो चुकी है. रविवार को पूरी सुरक्षा व्यवस्था के बीच प्रधान पद के लिए साकची गुरु नानक स्कूल में सुबह 8 से शाम 4 बजे तक मतदान होगा. जिला प्रशासन की ओर से विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए दंडाधिकारी व सशस्त्र बलों की प्रतिनियुक्ति कर दी गई है. चुनाव मैदान में पक्ष की ओर से मौजूदा कार्यवाहक प्रधान हरविंदर सिंह मंटू (शेर छाप) और विपक्ष की ओर से ठेकेदार निशान सिंह (उगता हुआ सूरज छाप) से संगत किसी एक को प्रधान का ताज पहनाएगी..(नीचे भी पढ़े)

अनुमंडल पदाधिकारी के निर्दश पर भाजपा नेता सतबीर सिंह सोमू का नाम जोड़ने से 1666 लोगों की मतदाता सूची पर मोहर लगा दी गई है. ये मतदाता बैलेट पेपर के जरिए अपना नया प्रधान चुनेंगे. विपक्ष के रोमी भी 16-17 लोगों के नाम सूची में शामिल करने को लेकर चुनाव कमेटी के चक्कर लगाते रहे, लेकिन उन्हें निराशा हाथ लगी है. उधर, चुनाव की बढ़ी हलचल के बीच देर रात तक दोनों उम्मीदवारों के समर्थक वोटरों के जोड़तोड़ के खेल में व्यस्त रहे.(नीचे भी पढ़े)

चुनाव कमेटी ने पूरी की तैयारी, साकची थाना प्रभारी ने लिया जायजा


चुनाव कमेटी के संयोजक गुरदीप सिंह पप्पू व सह-संयोजक सुखविंदर सिंह राजू ने मतदान की सारी तैयारी पूरी कर ली है. शनिवार को साकची थाना प्रभारी राजेश कुमार ने चुनावी व्यवस्था का जायजा लिया. गुरु नानक स्कूल में बने मतदान केंद्र से लेकर दोनों उम्मीदवार के समर्थकों के मैदान में बैठने, मतदाताओं के मतदान स्थल में प्रवेश करने की व्यवस्था आदि का बारीकी से जायजा लिया. उन्होंने चुनाव कमेटी को ताकीद किया कि अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा स्वीकृत वोटर लिस्ट से मतदान होगा. मतदान स्थल पर वोटरों के मोबाइल ले जाने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा. फोटो युक्त पहचान पत्र लाना अनिवार्य होगा.
शाम को तख्त श्री हरिमंदिर जी पटना साहिब के महासचिव सरदार इंदरजीत सिंह पहुंचे और उन्होंने चुनाव समिति से भी तैयारियों की जानकारी प्राप्त की और आवश्यक सुझाव भी दिए.(नीचे भी पढ़े)

चुनाव अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति
चुनाव कमेटी के संयोजक सरदार गुरदीप सिंह पप्पू एवं सहसंयोजक सुखविंदर सिंह राजू ने बताया कि चुनाव कमेटी ने मतदान अधिकारियों को प्रतिनियुक्त कर दिया है. सिख समाज के सम्मानित इंदरजीत सिंह, सरदार शैलेंद्र सिंह, भगवान सिंह, परविंदर सिंह सोहल, संतोख सिंह तोकी, गुरदयाल सिंह, सतबीर सिंह सोमू, जसबीर सिंह सोनी चुनाव कार्य में सहयोग देंगे तथा मतों की गिनती शिक्षक शिक्षिकाएं करेंगे. थाना प्रभारी एवं अनुमंडल प्रशासन की ओर से उम्मीदवार, उम्मीदवार के अभिकर्ताओं का फोटोयुक्त संपूर्ण विवरण मांगा गया है.(नीचे भी पढ़े)

सीजीपीसी चुनाव में साकची गुरुद्वारा का रहा है अहम रोल, इस बार रोचक हुआ मुकाबला
लंबित गुरुद्वारों में चुनावी बिगुल का डंका बज चुका है. इन चुनावों के बाद सीजीपीसी का चुनाव होगा. गुरुद्वारों के सदस्य ही सीजीपीसी में वोट करते हैं. हर बार साकची गुरुदावारा का रोल सीजीपीसी चुनाव में अहम माना जाता है. ऐसे में सीजीपीसी प्रधान मुखे और दूसरे गुट से सरदार शैलेंद्र सिंह भी अपना सिक्का चलाने में अंदर ही अंदर गोटी सजाने में पीछे नहीं हट रहे हैं. मुखे से अलग होने के बाद इंदरजीत सिंह से हाथ मिलाकर शैलेंद्र मंटू के साथ खुलकर देखे गए हैं, लेकिन इंदरजीत व मुखे का प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रुप से निशान सिंह को समर्थन हैं. ऐसे में यह चुनाव खासा रोचक हो गया है. बहरहाल, रविवार शाम तक रिजल्ट सबके सामने आ जाएगा.(नीचे भी पढ़े)

जानें दोनों उम्मीदवारों के बोल
मेरी नहीं संगत की जीत होगी: निशान


चुनाव मैदान में किनका पलड़ा भारी है यह कहना तो अभी ठीक नहीं होगा, लेकिन दोनों उम्मीदवार चुनाव में जीत के प्रति आश्वस्त हैं. जीत से लवरेज प्रत्याशी निशान सिंह ने अपनी टीम के साथ चुनाव की पूर्व संध्या बैठक कर चुनावी रणनीति बनाई. साकची के विभिन्न क्षेत्रों में जन संपर्क अभियान को देर रात तक जारी रखते हुए वोटरों से गुरुद्वारा विकास के नाम पर उन्हें जिताने के लिए अपील की. निशान सिंह ने कहा कि उन्होंने सच्चे पातशाह और संगत का आदेश लेकर अपना चुनाव अभियान शुरू किया था और वे आश्वस्त हैं की संगत की ही जीत होगी.(नीचे भी पढ़े)

मिल रहा संगत का प्यार और आशीर्वाद : मंटू


निवर्तमान प्रधान एवं उम्मीदवार हरविंदर सिंह मंटू उत्साह से लबरेज हैं और आत्मविश्वास बढ़ा हुआ है. चुनाव प्रचार के आखिरी दिन उन्होंने जमकर जनसंपर्क अभियान चलाया और वही मतदाताओं ने उन्हें भरोसा दिया कि उनके द्वारा किए गए बेहतर कामों का प्रतिफल वाहे गुरु महाराज एवं संगत के द्वारा दिया जाएगा और निश्चय ही दोबारा प्रधान बनेंगे. मंटू ने यह भी कहा कि वे जिंदगी भर संगत के ऋणी रहेंगे और गुरु घर और संगत का दास बनकर काम करते रहेंगे.कई मतदाताओं की ओर से कहा गया कि कोरोना जैसे पीरियड में भी गुरु घर का विकास हुआ है और संगत को जोड़ने में वे सफल रहे हैं. भ्रष्टाचार का दाग नहीं लगना यह टीम मंटू की सबसे बड़ी सफलता रही है.(नीचे भी पढ़े)

वोटर लिस्ट में नाम के आगे से भाटिया हटाने की मांग


इधर, चुनाव की हलचल के बीच जमशेदपुर के प्रचारक हरविंदर सिंह जमशेदपुरी ने साकची गुरुद्वारा की वोटर लिस्ट से अपने नाम के आगे भाटिया हटाने के लिए दोनो पक्षों से अपील की है. उन्होंने कहा की उनके साथ साथ उनके पिता व भाई के नाम के साथ भी वोटर लिस्ट में भाटिया लिखा हुआ है जिसे हटा देना चाहिए. हरविंदर ने कहा जी हम गुरु गोबिंद सिंह जी के सिख हैं. जब गुरु साहिब ने खंडे बाटे की पाहुल दे दी तो जात पात का कोई सवाल ही पैदा ही नहीं होता. क्योंकि श्री गुरुग्रंथ साहिब भी हमें यही सीख देते हैं. हमारी जात पात पात गुर सतगुर.. फिर इस तरीके को सुधार करने की जरूरत है. उन्होंने कहा की जबकि उनके आधार कार्ड में भी हरविंदर सिंह लिखा हुआ है फिर किसके कहने पर भाटिया लिखा गया. हरविंदर ने बिनती की है की हर एक सिख को अपने नाम के आगे केवल ओर केवल सिंह ही लगाना चाहिए. चूंकी श्री गुरुग्रंथ साहिब हमारे गुरु हैं ओर जो गुरु साहिब हमें आज्ञा देंगे. हम उसी हिसाब से जीवन का निर्वाह करेंगे. हविंदर ने कहा की इसमें सुधार कर लिया जाए अन्यथा अगली बार से वो ओर उनके पिता एवं भाई वोट नहीं डालेंगे.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!